Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

बॉडी की inner dryness कैसे दूर करें, butter सहित इन 10 चीजों का करें सेवन

हमें फॉलो करें webdunia
त्वचा की देखभाल के लिए हम क्या कुछ नहीं करते? खासकर जब हम बात करें ड्राई स्कीन की तो इसके लिए त्वचा की ऊपरी देखभाल के साथ-साथ हमें हमारी डाइट में बदलाव कर इसे अंदर से भी हाइड्रेट रखने की जरूरत होती है। अगर आप भी बॉडी की inner dryness को दूर करना चाहते हैं, तो इन चीजों का सेवन करना शुरू कर दीजिए।
 
ड्राई स्किन के साथ-साथ अन्य समस्याओं से भी एलोवेरा जूस निजात दिलाता है। एलोवेरा में एंटी ऑक्सीडेंट व एंटी बैक्टीरयल गुण होते हैं, साथ ही इसमें विटामिन सी, विटामिन ई और विटामिन बी पाया जाता है, जो त्वचा को अंदर से सॉफ्टनेस देने में मदद करता है।
 
एवोकाडो खाएं
 
एक कप शुद्ध एवोकाडो में विटामिन सी, विटामिन ई व विटामिन ए पाया जाता है, जो त्वचा की कोशिकाओं को हाइड्रेट रखने में मदद करते हैं।
 
अंडा
 
विटामिन ए, विटामिन डी, विटामिन ई, कैल्शियम व प्रोटीन अंडे में पाया जाता है। इसके सेवन से आपको रूखी और पपड़ी जैसी त्वचा से आराम मिलेगा।
 
दही 
 
दही में कई प्रकार के पौष्टिक तत्व मौजूद होते हैं जिनको खाने से शरीर को फायदा होता है। दही में कैल्शियम, प्रोटीन व विटामिन पाया जाता है। इसका नियमित सेवन त्वचा को कोमल बनाए रखने में मदद करता है।
 
दिनभर में 8 से 10 गिलास पानी पीने से भी रूखेपन को कम करने में बहुत मदद मिलती है। यदि आप नियमित रूप से 8 से 10 गिलास पानी पीते हैं, तो रूखापन गायब हो जाएगा, साथ ही त्वचा ग्लो भी करेगी।
 
यह शरीर में ठंडक बनाए रखकर गर्मी के दुष्प्रभाव से तो बचाता ही है, साथ ही पाचन के लिए भी फायदेमंद होता है। इसके नियमित सेवन से शरीर से ड्राईनेस खत्म हो जाती है।
 
हरी सब्जियों का सेवन भी आपको रूखेपन से निजात दिला सकता है। ब्रोकोली, पत्तागोभी और फूलगोभी में विटामिन ए, विटामिन बी व विटामिन सी पाया जाता है। साथ ही फाइबर भी अच्छी मात्रा में मौजूद होता है, जो त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद है।
 
नट्स को अपनी डाइट में शामिल करें, जैसे बादाम, अखरोट, पिस्ता और काजू, जो आपकी स्कीन के लिए बेहद फायदेमंद है और शरीर को हाइड्रेट रखने में मदद करते हैं।
 
खीरे का सेवन करने से भी शरीर की ड्राईनेस कम होती है। खीरे में पानी की अतिरिक्त मात्रा होती है, जो शरीर को हाइड्रेट रखती है।


Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

5 ट्रिलियन भारतीय अर्थव्यवस्था में परमाणु ऊर्जा कैसे होगी मददगार?