आजादी के 60 बरस

60 वर्षों की प्रमुख घटनाओं पर एक नजर

1948
नाथूराम गोडसे को फाँसी :
NDND
राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की गोली मारकर हत्या करने वाले हत्यारे नाथूराम गोडसे को 15 नवंबर, 1948 में फाँसी की सजा दी गई थी।

1950
असम का भूकंप:
15 अगस्त, 1950, जब पूरा देश स्वतंत्रता दिवस की खुशियाँ मना रहा था, उसी समय असम के लोगों पर प्रकृति का कहर टूटा। इस दिन आए भूकंप में करीब दो हजार लोगों की मौत हो गई और हजारों लोग घायल और बेघर हो गए

प्रथम न्‍यायाधीश:
सन् 1950 में भारत हीरालाल जे. कानिया ने भारत के प्रथम मुख्‍य न्‍यायाधीश का पदभार ग्रहण किया। इस तरह भारत की न्‍यायपालिका के अस्तित्‍व को पूर्णता मिली।

ईसाई मिशनरियों का आगमन:
इसी वर्ष में मदर टेरेसा 12 अन्‍य ननों के साथ भारत आईं और भारत सरकार ने उन्‍हें यहाँ पर रहकर सेवा कार्य करने की अनुमति प्रदाकी।

लौहयुग का अंत:
NDND
सन् 1950 में लौहपुरुष सरदार वल्‍लभ भाई पटेल इस दुनिया से विदा हो गए। स्‍वतंत्रता के पश्‍चात् लौह पुरूष सरदार वल्‍लभ भाई पटेल ने भारत निर्माण में महत्‍वपूर्ण भूमिका निर्वाह की


1951
लोकतंत्र का महायज्
1951 में भारतीय लोकतंत्र ने अपना पहला कदम आगे बढ़ाया। इसी वर्ष भारत में प्रथम लोकसभा चुनाव हुए। हिमाचल प्रदेश के चीनी नामक गाँव के नागरिक ने लोकतंत्र के इस महायज्ञ में प्रथम आहुति दी। इस गाँव के लोगों को आजाद भारत में सबसे पहले अपनी सरकार बनाने का श्रेय मिला।

विकास की इबार
स्विट्जरलैंड के वास्‍तुकार ली कॉबर्सियर ने हिंदुस्‍तान के शहर चंडीगढ़ की परिकल्‍पना तैयार की और इस तरह ऐसा एक शहर बसाने का नेहरू का सपना साकार हुआ

तकनीकी विकास की नीं
भारत को तकनीकी रूप से सक्षम और समर्थ बनाने के उद्देश्‍य से 1951 में पश्चिम बंगाल के खडगपुर में इंडियन इं‍स्‍टीट्यूट ऑफ टेक्‍नोलॉज
NDND
की नींव रखी गई। इसी पर भारत के तकनीकी विकास की इमारत खड़ी हुई

1952
1952 में सुकुमार सेन भारत के प्रथम चुनाव आयुक्‍त बने। पहले चुनाव और फिर चुनाव आयुक्‍त की नियुक्ति। आजाद भारत का सफर कुछ इस तरह आगे बढ़ रहा था।

पहला आम-बजट
आजादी के बाद भारत ने 1952 में लोकसभा में पहला आम बजट पेश किया

भारत को पहला स्वर्ण पदक
NDND
1952 में अयोजित ओलंपिक में भारत ने पहली बार हॉकी का स्वर्ण-पदक जीता था।

1953
यूएनओ की पहली महिला अध्यक्ष:
विजयलक्ष्मी पंडित को 1953 में संयुक्त राष्‍ट्र महासभा का अध्यक्ष चुना गया। यह पहली बार था कि किसी भारतीय को यह सम्मान मिला हो
NDND


1955
गोवा की आजादी:
1510 में गोवा के रास्‍ते भारत आने वाले पुर्तगाली लोग पहले विदेशी थे। लंबे समय तक पुर्तगालियों का शासन झेलने के बाद अंतत: 1 सितंबर, 1955 को गोवा को आजादी मिली।

विवाह की आयु-सीमा:
बाल विवाह की बढ़ती घटनाओं को देखते हुए 1955 में महिलाओं के विवाह की न्यूनतम आयु सीमा 15 वर्ष निर्धारित की गई।

भाँखडा नाँगल
सन् 1955 में भाँखडा नाँगल बाँध परियोजना की नींव रखी गई। इस नींव पर भारत का सबसे बड़ा और विश्‍व का दूसरा सबसे बड़ा बाँध बनने जा रहा था। 680 फीट ऊँचे इस बाँध के जरिए 70.4 लाख एकड़ जमीन की सिंचाई करना संभव हुआ

1956
स्‍कूटर का आगमन
इस वर्ष में भारत की सड़कों ने पहली बार बैलगाड़ी और साइकिल के अतिरिक्‍त किसी नए वाहन का बोझ महसूस‍किया। दरअसल सन् 1956 में पहली बार भारत में लैम्‍ब्रेटा स्‍कूटर का आगमन हुआ और भारतीय महानगरों की सड़कों ने इस नए दु‍पहिया वाहन का स्‍वागत किया।

क्षेत्रीय भाषाओं को अनुमति
1956 में भारत की क्षेत्रीय भाषाओं को बढ़ावा देने के लिए संविधान में संशोधन करते हुए क्षेत्रीय भाषाओं में भी शिक्षा प्राप्त करने का प्रावधान किया गया। 1961 में अनुच्छेद 343 में संशोधन करते हुए सिंधी, कोंकणी, मणिपुरी और नेपाली भाषा को शामिल किया गया

1957
पहला जेट बॉबर:
1957 में भारतीय वायुसेना में पहला जेट बॉबर शामिल किया गया। केनबरा भारतीय वायुसेना का पहला और एकमात्र जेट बॉबर था

1959
प्रथम प्रेस-क्लब:
भरतीय लोकतंत्र का चौथा स्तंभ - प्रेस। प्रेस को विशेष महत्‍व देते हुए 1959 में दिल्ली में प्रथम प्रेस क्लब की स्थापना की गई।

ऑटोमोबाइल की शुरुआत:
इस वर्ष बजाज कंपनी को भारत में दोपहिया और तीनपहिया वाहनों का निर्माण करने का लाइसेंस प्रदान किया गया। इस तरह भारत में ऑटोमोबाइल उद्योग की शुरुआत हुई।

1960
हिन्दी में 'इनसाइक्लोपीडिया'
पहले जहाँ हर ओर अँग्रेजी का वर्चस्व था और सारी महत्वपूर्ण जानकारियाँ भी अँग्रेजी में थीं, भारत में हिन्दी के प्रचार-प्रसार के उद्देश्य से 16 अक्टूबर 1960 में नागरी प्रचारिणी सभा द्वारा पहली बार हिन्दी का 'इनसाइक्लोपीडिया' जारी किया गया

आकाश हमारा है
NDND
इस वर्ष एयर इंडिया के विमान ने पहली बार अंतरराष्ट्रीय उड़ान भरी। यह उड़ान दिल्ली से न्यूयार्क की थी

सिंधु जल समझौता
19 सितंबर, 1960 को पंडित जवाहरलाल नेहरू और पाकिस्तानी प्रधानमंत्री अय्यूब खान ने सिंधु जल समझौते पर हस्ताक्षर किये। भारत और पाकिस्तान के बीच हुए इस समझौते की मध्यस्ता विश्व बैंक ने की थी।

1961
गोवा भारत में सम्मिलित:
पुर्तगालियों के आधिपत्य से मुक्त होने के बाद गोवा 19 दिसंबर, 1961 को भारत में सम्मिलित हो गया।

इनकम-टैक्स एक्ट पारित :
इनकम टैक्स एक्ट 1 अप्रैल, 1961 से प्रभाव में आया। इसके प्रभाव में आते ही कार्यालयों में पहली बार टैक्स की जाँच का प्रावधान किया गया।

1962
अंतरिक्ष अनुसंधान के क्षेत्र में विकास कार्यों को बढ़ावा देने के लिए विक्रम साराभाई ने एक राष्ट्रीय समिति का निर्माण किया, जिसे इंडियन नेशनल कमेटी ऑन स्पेस रिसर्च का नाम दिया गया।

भारत-चीन युद्ध :
पंचशील समझौते के कुछ ही वर्षों बाद चीन ने भारत पर हमला कर दिया। इसी दौरान राष्ट्रपति राधाकृष्णन ने देश में आपातकाल की घोषणा कर दी। भारतीय सेना सीमा पर तैनात हो गई। चीनी सेना ने लद्दाख और पूर्वोत्तर के इलाकों पर कब्जा कर लिया

1963
अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में भारत की पहल। त्रिवेन्द्रम में विक्रम साराभाई अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र की स्थापना हुई

नई तकनीक
NDND
इसी वर्ष नार्मन बोरलॉग नामक वनस्पति वैज्ञानिक ने भारत में गेहूँ की संकरित किस्में बनाने का प्रयोग किया। यह प्रयोग हरित क्रांति के दौरान भारत की कृषि व्यवस्था के लिए बहुत लाभप्रद सिद्ध हुआ।

भयानक तूफान
इसी वर्ष बंगाल की खाड़ी में आए चक्रवाती तूफान ने 22,000 लोगों की जान ले ली लाखों लोग घायल और बेघर हो गए।

1964
एक युग का पटाक्षेप
यह देश के लिए एक अपूरणीय क्षति थी, जब 1964 में भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की मौत हुई। आधुनिक समाजवादी विचारो
NDND
से प्रभावित नेहरू ने देश की बागडोर सँभालने के बाद देश को आधुनिक विचारों और तकनीकी से लैस करने का प्रयास किया।

जय जवान जय किसा
NDND
पंडित जवाहरलाल नेहरू की मृत्‍यु के पश्‍चात लाल बहादुर शास्‍त्री ने प्रधानमंत्री का पद सँभाला। उन्‍होंने देश को जय जवान, जय किसान का नया नारा दिया

रामेश्‍वरम का चक्रवात
1964 में रामेश्वरम में ऐसा भयानक समूद्री चक्रवात आया, जो गाँव-के-गाँव निगल गया

1965
हिंदुस्‍तान में हुआ हिंदी का विरोध
सन् 1965 में मद्रास में हिंदी विरोधी सभा आयोजित की गई। वहाँ के कई छात्रों ने अँग्रेजी का समर्थन करते हुए हिंदी विरोधी नारे लगाए। 26 जनवरी, 1965 को शोक-दिवस घोषित किया गया क्‍योंकि इसी दिन से सरकारी कामकाजों में अँग्रेजी का प्रयोग समाप्‍त करने की घोषणा की गई थी।

भारत-पाक युद्ध
1965 में पाकिस्‍तान और भारत के बीच कश्‍मीर विवाद को लेकर एक और सैन्‍य संघर्ष हुआ। पाँच सप्‍ताह तक चले संघर्ष के बाद संयुक्‍त राष्‍ट्र ने हस्‍तक्षेप कर युद्ध विराम करवाया

1966
भारी पड़ा 1966
वर्ष 1966 में देश में सूखे और अकाल की स्थिति पैदा हुई और घोर आर्थिक संकटों के दौरान रुपए का मूल्‍य नीचे गिरा

पहली विश्व सुंदरी
1966 में आयोजित मिस वर्ल्ड प्रतियोगिता में भारत की रीता फारिया पहली मिस वर्ल्‍ड बनीं
NDND


इंदिरा गाँधी प्रधानमंत्री बनीं
लाल बहादुर शास्त्री के निधन के उपरांत 19 जनवरी, 1966 को इंदिरा गाँधी देश की पहली महिला प्रधानमंत्री बनीं

1967
तमिलनाडु का गठ
तमिलनाडु को एक अलग राज्‍य घोषित किया गया। 1967 के विधानसभा चुनावों में डीएमके ने काँग्रेस पार्टी को हराकर तमिलनाडु की सत्‍ता अपने हाथों में ली और सी.एन. अन्‍नादुराई पहले मुख्‍यमंत्री बने।

1968
भारतीय वैज्ञानिक को नोबल सम्‍मा
भारतीय वैज्ञानिक डॉ हरगोविंद खुराना को जेनेटिक कोड पर किये गए उनके शोध कार्य के लिए नोबल पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया गया। यह सम्‍मान पाने वाले वे तीसरे भारतीय थे

1968
चिकित्‍सा विज्ञान में भारत ने एक कदम और आगे बढ़ाया, जब एशिया की पहली हृदय प्रत्‍यारोपण शल्‍य क्रिया मुंबई में सफलतापूर्वक संपन्‍न हुई। मुंबई के डॉक्‍टर प्रफुल्‍ल कुमार सेन यह शल्‍यक्रिया करने वाले विश्‍व के तीसरे चिकित्‍सक थे

1969 राजधानी एक्‍सप्रे
वर्ष 1969 में नई दिल्‍ली से हावड़ा के बीच 130 किमी. प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ने वाली राजधानी एक्‍सप्रेस की शुरुआत हुई


बैंकों का राष्ट्रीयकरण
1969 में 14 बैंकों के राष्ट्रीयकरण का प्रस्ताव लाया गया, जिसे आरम्भ में उच्चतम न्यायालय द्वारा खारिज कर दिया गया था, लेकिन 1970 में पुन: 14 बैंकों के राष्‍ट्रीयकरण को स्वीकृ‍ति मिल गई

गिर अभयारण्‍य की शुरुआत:
इसी वर्ष गुजरात में गिर अभयारण्‍य की शुरुआत हुई। शेरों की घटती संख्‍या से चिंतित होकर सरकार ने डेढ़ हजार वर्ग किमी. क्षेत्रफल में फैले गिर अभ्‍यारण्‍य की स्‍थापना की।

प्रथम परमाणु ऊर्जा केंद्
तारापुर स्थित भारत के प्रथम परमाणु ऊर्जा केंद्र की शुरुआत हुई। ऊर्जा उत्‍पादन में आत्‍मनिर्भर होने की दिशा में यह पहला कदम था।

1971
पूर्वी बांग्‍लादेश में ‘आमार सोनार बांग्‍ल’ की गूँज। 1971 की लड़ाई में पूर्वी पाकिस्‍तान पाकिस्‍तान से अलग होकर एक स्‍वतंत्र देश बांग्‍लादेश बना

1972
मूक पशुओं की रक्ष
मूक प्राणियों के हित में भारत सरकार ने एक कदम उठाया। वन्‍य-जीव अधिनियम कानून पारित हुआ। शिकार पर रोक लगी

किरण बेद
NDND
किरण बेदी देश की पहली महिला आईपीएस अधिकारी नियुक्‍त हुईं। बाद में दिल्‍ली के तिहाड़ जेल में चलाए गए पुनर्वास कार्यक्रमों की वजह से उन्‍हें देश भर में पहचान मिली

1973
महिला क्रिकेट
सन् 1973 पहली बार महिला क्रिकेट की राष्‍ट्रीय स्‍तर की प्रतिस्‍पर्धा का आयोजन किया गया, जिसमें जीत का खिताब मुंबई की टीम को मिला

खाद्यान्‍न संकट का कठिन दौ
1972 का युद्ध तो भारत ने जीत लिया लेकिन युद्ध के बाद उत्‍पन्‍न हुई चुनौतियों से निपटना अभी बाकी था। 1973 में खाद्यान्‍न उत्‍पादन में भारी गिरावट आई। युद्ध के चलते उद्योग-धंधे ठप्‍प और अर्थव्‍यवस्‍था पर भारी दबाव। भारत को जापान, ब्रिटेन, कनाडा और विश्‍व बैंक से कर्ज लेना पड़ा

1974
सफल परमाणु प्रक्षेपण:
एक साल के कठिन दौर से गुजरने के बावजूद 18 मई सन् 1974 को भारत ने सफल परमाणु प्रक्षेपण किया

1975
पहला उपग्रह:
19 अप्रैल को भारत द्वारा अंतरिक्ष में ‘आर्यभट्‍’ नाम का पहला उपग्रह छोड़ा गया। तकनीक के क्षेत्र में यह एक सरहानीय उपलिब्ध मान
NDND
जाती है।

आपातका
भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में एक काले धब्‍बा। 26 जून, 1975 को भारत में आपातकाल की घोषणा कर दी गई

पहली महिला पायलेट
सन 1975 में दुर्बा बैनर्जी भारत की प्रथम कमर्शियल महिला पायलेट बनीं। सफलता के आकाश में महिलाओं की ऊँची उड़ान की यह एक छोटी-सी शुरुआत थी

1976
समझौता एक्‍सप्रेस
22 सितंबर, 1976 को भारत और पाकिस्‍तान के बीच समझौता एक्‍सप्रेस की शुरुआत हुई

1977
तूफान के आगोश मे
आंध्रप्रदेश में चक्रवाती तूफान ने 35,000 लोगों की जान ले ली। यह मौत और तबाही का भयावह मंजर था

1978
भात का पहला परखनली शिश
इस वर्ष विज्ञान के क्षेत्र में भारत ने एक नया मुकाम हासिल किया। 3 अक्‍टूबर, 1978 को भारत में पहले परखनली शिशु ने जन्‍म लिया।

1979
सेवा का पुरस्‍का
विश्‍व को शांति का पाठ पढ़ाने वाली मदर टेरेसा को नोबल पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया गया
NDND


1980
खेल जगत में सफलता का परच
सन् 1980 में प्रकाश पादुकोण ने ऑल इंग्‍लैंड बैडमिंटन चैंपियनशिप का अवॉर्ड जीतकर देश का नाम रोशन किया

1983:
भारत ने क्रिकेट का विश्वकप वेस्ट-इंडीज को हराकर जीता था।

1984
भोपाल गैस कांड :
NDND
3 दिसंबर, 1984. वह एक त्रासदीपूर्ण रात थी। भोपाल शहर के बीचोंबीच स्थित यूनियन कार्बाइड प्लांट, जहाँ उर्वरक तैयार किया जाता था, से अचानक मिथाइल आसोसाइड गैस रिसने लगी। इस त्रासदी में तीन लाख से भी ज्यादा लोग मारे गए और आज भी वहाँ इस जहरीली गैस के दुष्‍परिणाम देखे जा सकते हैं

1988
ग्रैंडमास्टर विश्वनाथन आनं
18 साल की उम्र में विश्वनाथन आनंद ने 1988 में पहली बार इंटरनेशनल मास्टर का खिताब जीता था
NDND


घर-घर पहुँचा रामायण:
भारतीय टेलीविजन के इतिहास में इतने बड़े पैमाने पर भारतीय दर्शकों ने किसी धारावाहिक को पसंद किया हो, यह 1988 में रामानंद सागर निर्मित धारावाहिक 'रामायण' के पहले नहीं हुआ था। इस धारावाहिक ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए।

1989
पूर्ण साक्षरता:
1989 में केरल के कोट्टयम ने पूर्ण साक्षरता का मुकाम हासिल ‍किया। आजादी के इतने कम समय के भीतर किसी क्षेत्र का पूर्ण साक्षर होना देश के लिए गौरव की बात थी

पाकिस्तान की पहली यात्रा:
राजीव गाँधी देश के पहले ऐसे प्रधानमंत्री बने, जिन्होंने पाकिस्तान की यात्रा की। उन्होंने यह यात्रा 1989 में की थी।

1990
मंडल-कमीशन:
NDND
1990 में वी.पी सिंह के प्रधानमंत्री काल में मंडल कमीशन लागू किया गया। इस कमीशन के तहत स्कूलों, कॉलेजों में पिछड़ों को 27 प्रतिशत आरक्षण देने की बात कही गई। देश भर में हुए इसके कड़े विरोध में कई छात्रों ने आत्‍मदाह करने की कोशिश की।

1991
राजीव गाँधी की मौत:
21 मई, 1991 को देश के लोकप्रिय नेता और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी की बम-विस्‍फोट में हत्या कर दी गई। इस हत्या के पीछे श्रीलंका
NDND
उग्रवादी संगठन लिट्टे का हाथ था, जिसने राजीव गाँधी को मारने के लिए मानव बम का प्रयोग किया था।

आर्थिक उदारीकरण:
1991 में जब मनमोहन सिंह वित्तमंत्री थे, उन्होंने आर्थिक क्षेत्र में महत्पूर्ण बदलाव करते हुए इसे और लचीला बनाने का प्रयास किया।

केबल टीवी का आगमन:
1991 में भारत में केबल टीवी का पर्दापण हुआ और बहुत तेजी से लोगों के बीच फैला।

1992
हर्षद मेहता घोटाला:
भारतीय इतिहास में पहली बार शेयर बाजार को ऊँचाइयों तक ले जाने वाले हर्षद मेहता ने 1992 में करीब 5, 000 करोड़ का घपला किया।

1993
मुंबई का वह काला शुक्रवार:
12 मार्च, 1993 मुंबई में भीषण बम-कांड हुआ, जिसमें करीब 300 लोगों की मौत हुई और 15,00 से भी ज्यादा लोग घायल हुए। मुंबई आज भी इस हादसे से उबर नहीं पाया है

1993
भूकंप:
NDND
30 सितंबर 1993 में महाराष्ट्र के लातूर और ओसामाबाद क्षेत्र में जबर्दस्त भूकंप के झटके आए, जिसमें करीब 15,000 हजार लोगों की जानें गईं।

1994
किरण बेदी को मैग्सेसे:
1994 में प्रथम महिला आईपीएस अधिकारी किरण बेदी को उनकी कर्त्तव्‍य-निष्ठा और ईमानदारी के लिए मैग्सेसे पुरस्कार से सम्‍मानित किया गया

पीएसएलवी:
15 अक्टूबर, 1994 में प्रथम पीएसएलवी का सफल परीक्षण किया गया। यह एक ऐतिहासिक उपलब्धि मानी जाती है।

सुष्मिता सेन बनीं मिस यूनीवर्स:
21 मई, 1994 को पहली बार किसी भारतीय सुंदरी ने मिस यूनीवर्स का खिताब जीता। सुष्मिता सेन यह खिताब जीतने वाली पहली भारती
NDND
महिला थीं

1995
मोबाइल क्रांति:
1995 के पहले लोग मोबाइल के बारे में जानते भी नहीं थेलेकिन इस वर्ष भारतीय बाजार में हचिंगसन मैक्स टेलीकॉम के प्रवेश से देश में मोबाइल क्रांति की शुरुआत हुई

1996
लिएंडर का जादू
NDND
सन् 1996 के अटलांटा ओलम्पिक में लिएंडर पेस ने भारत के लिए कांस्‍य पदक जीता। सन् 1948 के बाद ओलम्पिक में जीता गया यह पहला व्‍यक्तिगत खिताब था। पेस ने ब्राजील के खिलाडी फर्नाडो मेलिगेनी को हराकर, यह खिताब अपने नाम किया

चिकित्‍सा विज्ञान में बढ़ते कदम:
इसी वर्ष चिकित्‍सा विज्ञान के क्षेत्र में एक और उपलब्धि भारत को मिली। भारत में पहली बार चेन्‍नई के चिकित्‍सकों द्वारा मानव फेफड़ों का सफल प्रत्‍यारोपण किया गया

1997
आजादी की स्‍वर्ण जयंत
भारत ने स्‍वतंत्रता की स्‍वर्ण जयंती मनाई। साथ ही एक विकसित राष्‍ट्र के रूप में उभरने के संकेत भी विश्‍व को दिए।

अंतरिक्ष में पहली भारती महिला:
कल्‍पना चावला अंतरिक्ष में जाने वाली भारतीय मूल की पहली महिला बनीं

अरूंधति रॉय को बुकर
भारतीय लेखिका अरूंधति रॉय को उनके पहले उपन्‍यास ‘द गॉड ऑफ स्‍माल थिंक्‍’ के लिए बुकर पुरस्‍कार मिला
NDND


1998

आणविक हथियारों से लैस भारत 11 और 13 मई, 1998 को भारत ने पोखरण में सफल परमाणु परीक्षण किये। इन धमाकों की गूँज अमेरिका तक सुनाई दी


1999

कारगिल युद्ध
NDND
1999 की सर्दियों में पाकिस्तान समर्थित घुसपैठियों ने चोरी-छिपे वास्तविक नियंत्रण रेखा को पार कर कई महत्वपूर्ण पहाडि़यों पर कब्जा करते हुए लेह-लद्दाख को भारत से जोड़ने वाली सड़क को अपने नियंत्रण में ले लिया। पाकिस्तान के इस षड्यंत्र का भारतीय सेनाओं ने मुँहतोड़ जवाब दिया और घुसपैठियों को देश से बाहर खदेड दिया। गुजरी सदी की यह महानतम उपलब्धि थी

कुंबले का कमाल
इसी वर्ष दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान में भारतीय स्पिन गेंदबाज अनिल कुंबले ने अपनी फिरकी गेंदबाजी का जौहर दिखाया और पाकिस्तान के दस विकेट झटक लिए

इंफोसिस के बढ़ते कदम:
1999 में भारतीय कंपनी इंफोसिस का नाम नेस्डेक की शीर्ष सौ कंपनियों की सूची में शामिल हो गया।


2000

क्लिंटन की भारत यात्र
19 मार्च, 2000 को अमेरिकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन भारत की यात्रा पर आए। इस यात्रा ने भारत और अमेरिका के संबंधों को प्रगाढ़ करने में महती भूमिका निभाई।


2001

लोकतंत्र पर हमला:
लोकतंत्र की अस्मिता पर प्रहार की कोशिश। 13 दिसंबर को आतंकवादियों ने योजनाबद्ध ढंग से संसद पर हमला कर दिया। भारतीय लोकतंत्र पर यह जबर्दस्त आघात था

भूकंप की तबाही :
26 जनवरी, 2001 की सुबह जब देश अपना 51वाँ गणतंत्र दिवस मना रहा था, तभी गुजरात के भुज में भूकंप आया। इस भूकंप में लगभग 30,000 लोग मारे गए और हजारों घायल हुए

2002

अक्षरधाम पर हमला:
NDND
इसी वर्ष आतंकवादियों ने गुजरात के अक्षरधाम मंदिर पर हमला कर भारतीयों की आस्था पर हमला किया।

झुलस गया गुजरात:
इसी वर्ष 27 फरवरी को गुजरात के गोधरा स्टेशन पर साबरमती एक्सप्रेस में हुए भीषण हत्याकांड के बाद पूरा गुजरात सांप्रदायिक दंगों की लपटों में जल उठा

कलाम को सलाम
वर्ष 2002 में डॉ एपीजे अब्दुल कलाम भारत के राष्ट्रपति चुने गए। एक वैज्ञानिक के राष्ट्रपति पद पर आसीन होने के बाद देश के युवाओं को नई दिशा मिली

2003

अंजू ने रचा इतिहास:
पेरिस वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप में अंजू बॉबी जार्ज ने कांस्य पदक जीतकर खेल-जगत के इतिहास में एक सुनहरा अध्याय जोड़ा


2004

2004 के लोकसभा चुनावों में काँग्रेस समर्थित संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन को बहुमत मिला। सोनिया के प्रधानमंत्री पद ठुकराने से देश के राजनीतिक गलियारों में एक नई सनसनी पैदा हुई।

ओलिंपिक में भारत की उपलब्धि:
वर्ष 2004 में राज्यवर्धन सिंह राठौर ने ओलिंपिक में रजत पदक जीतकर देशवासियों को खुशियाँ मनाने का एक और अवसर दिया
NDND


लहरों ने मचाया आतंक :
वर्ष के अंत में 26 दिसंबर की सुबह देश में सूनामी ने भयानक विनाश मचाया। समुद्र की लहरों में उठी सूनामी में सरकारी आँकड़ों के अनुसार 11,000 लोगों की मृत्यु हो गई और 5000 लापता हो गए।

2005

त्योहार में मातम का रंग:
सन् 2005 की सबसे भयानक घटना थी दीवाली के से पहले दिल्ली में हुए बम विस्फोट। सैकड़ों के खून से रंगे इस विस्फोट ने देशवासियों की आँखें नम कर दीं

टेनिस सनसनी सानिया:
WDWD
इसी वर्ष सानिया मिर्जा ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट के चौथे दौर तक पहुँचने वाली पहली भारतीय महिला बन गईं। सानिया की उपलब्धि ने देश भर के खेलप्रेमियों को खुशी से सराबोर कर दिया

2006

मुंबई का एक और काला दिन:
11 जुलाई, 2006 को केवल 11 मिनट के अंतराल पर मुंबई की लोकल ट्रेनों में सात बम विस्फोट हुए, जिसमें सैकड़ों लोग मारे गए और घायल हुए।

सफलता के नए कीर्तिमान:
भारतीय मूल के लक्ष्मी मित्तल और किरण देसाई ने सफलता के नए कीर्तिमान रचे। एक ओर मित्तल ने विश्व की दूसरी सबसे बड़ी स्टील कंपनी का अधिग्रहण किया तो दूसरी ओर किरण देसाई सर्वोच्च साहित्यिक सम्मान बुकर पुरस्कार से नवाजी गईं

2007

प्रथम महिला राष्ट्रपति
25 जुलाई, 2007 को प्रतिभा पाटिल ने देश की प्रथम महिला राष्ट्रपति के रूप में शपथ ग्रहण की। एक महिला का देश के सर्वोच्च पर आसी
NDND
होना, देश के लिए इस वर्ष की सबसे सुखद घटना है।

- प्रस्तुति : नीहारिका झा/ नूपूर दीक्षि