Healthy Food Recipes karva chauth : इन 9 खास डिशेज से मनाएं करवा चौथ का पर्व

करवा चौथ व्रत में दिन भर भूखे-प्यासे रहना सभी व्रतधारी महिलाओं के लिए बहुत मुश्किल होता है। ऐसे समय में अपनी और अपने प्रियतम की सेहत का ध्यान रखना हैं तो आपको अपनी डाइट में इन व्यंजनों को अवश्य शामिल करना चाहिए, आइए जानें करवा चौथ के लिए हेल्दी व्यंजन...  
 
* गुड़ के गुलगुले
 
सामग्री : 250 ग्राम गेहूं का आटा, 100 ग्राम गुड़, चुटकी भर सोडा, एक चम्मच सौंफ, तलने के लिए तेल अथवा घी।
 
विधि : सर्वप्रथम गुड़ को पानी में गला लें। तत्पश्चात इस पानी में गेहूं का आटा और सौंफ मिलाकर गाढ़ा घोल तैयार कर लें। इस घोल में चुटकी भर सोडा डाल दें। 
 
अब थोड़ी देर के लिए तैयार घोल को गलने दें। अब एक कड़ाही में तेल गरम करके गोल-गोल पुए बनाएं और धीमी आंच पर इन गुलगुले पुए को तलें। करवा चौथ के इस परंपरागत व्यंजन गुड़ के गुलगुले से त्योहार का आनंद लें। 
 
 
 
* मैथी के मुठिए
 
सामग्री : 250 ग्राम बारीक कटी हुई मैथी, 200 ग्राम गेहूं का मोटा आटा, 100 ग्राम मक्का आटा, 100 ग्राम बेसन, 2-3 हरी मिर्च, एक अदरक का टुकड़ा,1 छोटा चम्मच लाल मिर्च पावडर, हींग चुटकी भर, आधा चम्मच राई-जीरा, तेल, नमक स्वादानुसार। 
 
विधि : सबसे पहले गेहूं और मक्का के आटे को मिलाकर नमक, हींग व मोयन डालकर हाथों से अच्छीतरह मिला कर एकसार कर लें। अब मैथी को धो लें। मैथी और लाल मिर्च आटे में मिला दें। अदरक-हरी मिर्च को दरदरा पीस कर आटे में मिला दें। अब आटे को गूंथकर छोटे-छोटे मुठिए बना लें। 
 
तत्पश्चात एक तपेले को आधा पानी से भरकर उबालने रख दें, उबलने लगने पर ऊपर से छलनी रखें और मुठिए जमा कर ढंक दें। मुठिए भाप में पक (बफ) जाने के बाद उसे दो टुकड़ों में काटें। अब एक कड़ाही में तेल गरम करके राई-जीरा डालें और 1 कटी हरी मिर्च कड़कड़ा कर मुठियों पर डालें। खाने में पौष्टिक और कम फैट वाले मुठिए हरी चटनी या कढ़ी के साथ परोसें। 


 
* चटपटी मैथी पूरी
 
सामग्री : दो कटोरी गेहूं का आटा, पाव कटोरी भुना रवा, पाव कटोरी बेसन, आधी कटोरी गरम तेल, एक कटोरी कटी बारीक मैथी, 2 चम्मच सिके हुए तिल, एक चम्मच सौंफ, 2 हरी मिर्च, आधा चम्मच हल्दी, एक चम्मच अजवाइन, नमक, लाल मिर्च स्वादानुसार। 
 
विधि : सबसे पहले आटा, बेसन और रवा मिलाएं। उसमें सभी मसाले मिलाएं। तेल मिलाकर हाथ से मसल लें। अंत में मैथी मिलाएं व गुनगुने पानी से कड़ा गूंथें। अब छोटी-छोटी लोई बनाते जाएं व धीमी आंच पर तलें। तैयार हैं कुरकुरी लाजवाब पूरियां। अब इन्हें सर्व करें। 
 

 
* आलू मटर विद पनीर 
 
सामग्री : 500 ग्राम आलू (मीडियम साइज के), 250 ग्राम पालक, 250 ग्राम मटर के दाने, 250 ग्राम पनीर (छोटे टुकड़ों में कटा एवं तला हुआ), 2 टमाटर, एक टुकड़ा अदरक, 2 हरी मिर्च (बारीक कटी), 2 बड़ी इलायची, 3-4 तेजपत्ता, 1/2 पिसा कच्चा नारियल, एक छोटा चम्मच जीरा, लाल मिर्च स्वादानुसार, आधा चम्मच हल्दी, 1/2 चम्मच गर्म मसाला, 2 बड़े चम्मच धनिया पावडर, नमक, 250 ग्राम घी तलने के लिए। 
 
विधि : पालक साफ करके उबाल कर पीस लें। मटर के दाने को हलके से उबाल लें। अब आलू को उबालें और घी में सुनहरे तल लें। अब टमाटर, हरी मिर्च, अदरक व सारे मसाले पीसकर घी में सुनहरा भून लें, इसी में पालक भी डालकर भून लें। अब तले आलू, मटर, पनीर मिलाकर नमक व इतना पानी डालें कि गाढ़ा रस तैयार हो जाए। बाद में आंच से उतार कर बारीक कटा हरा धनिया डालकर पूरी के साथ परोसें।
 

 
* मैदा पपड़ी
 
सामग्री : मैदा 250 ग्राम, 10 ग्राम कलौंजी, 5 ग्राम कालीमिर्च, नमक स्वादानुसार, तलने व मोयन के लिए देसी घी। 
 
विधि : सबसे मैदा व नमक को मिलाकर छान लें। उसमें दो बड़े चम्मच घी का मोयन देकर दरदरी पिसी कालीमिर्च, कलौंजी मिलाकर कड़ा आटा गूंथ लें। फिर थोड़ी देर गीले कपड़े से ढंककर रखें। 

अब मैदे की छोटी-छोटी पूरियां बनाएं और उन्हें तिकोनी मोड़ दें। ऊपर 1-1 कालीमिर्च लगाएं। सभी मठरियां तैयार होने के बाद गरम घी में धीमी आंच पर सुनहरी होने तक तल लें। ठंडी होने पर एयर टाइट डिब्बे में भरकर रखें। ये पपड़ी 10-15 दिनों तक खराब नहीं होती है। 

* मोहन भोग
 
सामग्री : 1 कटोरी मोटा बेसन, आधा कटोरी घी, 4 बड़े चम्मच दूध, पिसी इलायची, सजाने के लिए कसा हुआ नारियल, शकर आवश्यकतानुसार, कतरी पिस्ता व बादाम एवं चांदी का वर्क।
 
विधि : बेसन में पिघला गर्म घी मिलाकर, दूध से बेसन मसलें। भुरभुरा-सा हो जाएगा। इस बेसन को मोटी छलनी से छान लें। कड़ाही में घी डालकर बादामी होने तक सेंकें। जब सौंधी-सौंधी खुशबू आने लगे तब आंच पर से उतार लें। शकर डूब जाए इतना पानी डालकर चाशनी तैयार करें। 2 तार की चाशनी बन जाने पर इसमें सिका हुआ मिश्रण मिलाकर अच्छी तरह घोटें।
 
चिकनाई लगी किनारेदार थाली में जमने के लिए डाल दें। ऊपर से पिसी इलायची, कटे हुए मेवे, नारियल, बुरक दें। बिलकुल ठंडी होने पर तेज चाकू से मनचाहे आकार में बर्फी काट लें। इस स्वादिष्ट मोहन भोग से पर्व का आनंद उठाएं।
 
* मलाई मटर मखाना विद पनीर
 
सामग्री : 250 ग्राम मटर के दाने, 300 ग्राम पनीर, डेढ़ कटोरी मखाने, 1/2 कटोरी मलाई, टमाटर प्यूरी 1/2 प्याला, 2 प्याज (बड़े), 1/4 बड़ा चम्मच मैदा, 1 छोटा चम्मच अदरक-लहसुन व हरी मिर्च पिसी, 1 छोटा चम्मच नमक, 1/4 छोटा चम्मच हल्दी, डेढ़ छोटा चम्मच पिसा धनिया, एक छोटा चम्मच पिसी लाल मिर्च, ढाई बड़े चम्मच तेल।
 
विधि : सबसे पहले मटर को भाप में पका लें। अब तेल गर्म करके मखाने तल लें। ठंडे होने पर आधे तले मखानों को पीस लें। टमाटर प्यूरी में नमक व मसाले मिलाकर रखें। प्याज को छोटा व चौकोर काट लें। पनीर के टुकड़े भी काट लें। तेल गरम करके प्याज डालकर नरम करें। अदरक मिश्रण व मैदा डालकर भूनें। अब मलाई डालकर कस कर रगड़ें। जब मलाई घी छोड़ दें तो पिसे मखाने डालकर भूनें। 
 
सौंधी महक उठने लगे तो टमाटर प्यूरी डालकर अच्छी तरह भूनें। अब एक कटोरी पानी डालकर उबाल आने दें। पनीर के टुकड़े डालें व एक-दो उबाल देकर बाकी तले मखानों से सजाकर परोसें।
 

 
* मैथी थेपला
 
सामग्री : एक कप बारीक कटी व धुली हुई मेथी, डेढ़ कप गेहूं का आटा, आधा कप बेसन, एक चौथाई कप चावल का आटा, एक बड़ा चम्मच अदरक-हरी मिर्च-लहसुन पेस्ट, हल्दी, एक छोटा चम्मच अजवायन, मोयन और सेंकने के लिए तेल, स्वादानुसार नमक। 
 
विधि : सर्वप्रथम तीनों प्रकार के आटे, पेस्ट व मेथी को आपस में मिला लें। अब मोयन डालकर गुनगुने पानी से थोड़ा कड़ा आटा गूंथकर दस मिनट के लिए ढंक कर रख दें। 
 
अब आटे को चिकनाई लगाकर एकसार करें और उसकी छोटी-छोटी लोई बनाकर बेल लें व नॉनस्टिक तवे पर चिकनाई लगाकर दोनों तरफ से अच्छी तरह सेंक लें। तैयार गरमा-गरम मेथी का थेपला टमाटर या अमरूद की चटनी के साथ पेश करें। 


 
मिक्स दाल का हलवा
 
सामग्री : 100 ग्राम मूंग दाल, 100 ग्राम चना दाल, 50 ग्राम उड़द दाल, 50 ग्राम सोयाबीन, 150 ग्राम घी, 250 ग्राम शकर, 1/2  टी स्पून पिसी इलायची।
 
विधि : सभी दालों को बीन कर साफ करें, फिर इन्हें धोकर 2-3 घंटे भिगोएं। भीगी दालों का पानी निथारें एवं मिक्सी में पीस लें। शकर में 1 कप पानी डालकर 1 तार की चाशनी बनने तक पका लें। तैयार चाशनी अलग रखें। 
 
एक कडा़ही में घी गर्म करके पिसी दाल डालें एवं धीमी आंच पर हिलाते हुए भूनें। दाल अच्छी भून जाने एवं खुशबू आने पर इसमें चाशनी मिलाकर पकाएं। हलवे की तरह गाढ़ा होने पर पिसी इलायची डालें। तैयार हलवा खाने में बेहद स्वादिष्ट लगता है। अब गर्मागर्म हलवा सर्व करें। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख karwa chauth chandra mantra : करवा चौथ का पवित्र मंत्र, चंद्र को अर्घ्य दें तब जरूर बोलें