Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Live Updates : UAE में हैं अशरफ गनी, विदेश मंत्रालय ने की पुष्टि

webdunia
बुधवार, 18 अगस्त 2021 (19:40 IST)
काबुल। अफगानिस्तान में भले ही तालिबान ने कब्जा कर लिया हो लेकिन उपराष्‍ट्रपति अमरुल्ला सालेह ने अभी हार नहीं मानी है। उनकी सेना ने तालिबान के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। अफगानिस्तान संकट से जुड़ी हर जानकारी...
 

07:39 PM, 18th Aug
संयुक्त राष्ट्र अमिरात में हैं अशरफ गनी, विदेश मंत्रालय ने पुष्टि की।
संयुक्त अरब अमीरात में हैं अशरफ गनी। 
विदेश मंत्रालय ने की पुष्टि।
मीडिटा खबरों के मुताबिक अशरफ गनी का परिवार भी यूएई में है।

12:43 PM, 18th Aug

12:43 PM, 18th Aug
ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने बुधवार को बताया कि तालिबान के अफगानिस्तान की सत्ता पर कब्जा जमाने के बाद काबुल से अब तक ऑस्ट्रेलियाई और अफगान नागरिक समेत 26 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला गया है।

10:52 AM, 18th Aug
-अमेरिकी वायु सेना ने कहा है कि उसका विशेष जांच कार्यालय सोमवार को काबुल हवाई अड्डा पर हुई दुर्घटना की जांच कर रहा है जिसमें कई लोग मारे गए थे। सी-17 मालवाहक विमान के उड़ान भरने के दौरान अफगानिस्तान छोड़ कर जाने की जल्दबाजी में सैकड़ों अफगानों के विमान में चढ़ने की कोशिश के दौरान यह घटना हुई थी।
-वायु सेना ने यह नहीं बताया कि कितने लोग मारे गए थे। उसने कहा कि विमान के खाड़ी देश कतर के अल उदैद हवाई अड्डा पर उतरने के बाद उसके पहिए में मानव अवशेष मिले थे।
-विमान के उड़ान भरने के बाद लोगों के उससे गिरने की तस्वीरों समेत घटना के कई वीडियो सोशल मीडिया पर बड़े पैमाने पर देखे गए। तस्वीरों में देश पर तालिबान के कब्जे के बाद अमेरिका के निर्देशन में देश से अपने लोगों को निकाले जाने की शुरुआती अफरातफरी की स्थिति नजर आ रही है।

10:35 AM, 18th Aug
-अमेरिका ने अफगानिस्तान में तालिबान के सत्ता पर कब्जा जमाने के बाद अभी तक काबुल से 3,200 से अधिक लोगों को सुरक्षित निकाला है जिनमें से 1,100 लोगों को तो मंगलवार को निकाला गया।
-व्हाइट हाउस के एक अधिकारी ने मंगलवार को बताया, अमेरिका के सैन्य विमान 13 उड़ानों से करीब 1,100 अमेरिकी नागरिकों, अमेरिकी के स्थायी निवासियों और उनके परिवारों को लेकर आए। हमें इस संख्या के बढ़ने की उम्मीद है।

10:08 AM, 18th Aug
-न्यूज एजेंसी स्पुतनिक के अनुसार, परवान प्रांत के आसपास के क्षेत्र में और पंजशीर कण्ठ के बाहरी इलाके में तालिबान के साथ लड़ाई हो रही है।
-सूत्र ने कहा कि अफगानिस्तान के पहले उपराष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह की सेना ने परवान प्रांत के चरिकर क्षेत्र पर नियंत्रण हासिल कर लिया है। अब पंजशीर क्षेत्र में लड़ाई जारी है।
-अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह का दावा, 'अब मैं हूं वैध कार्यवाहक राष्ट्रपति'। उन्होंने कहा- अफगानिस्तान का संविधान उन्हें इसकी घोषणा करने की शक्ति देता है।

10:02 AM, 18th Aug
-कनाडा के प्रधानमंत्री जुस्टिन ट्रूडो ने कहा कि उनका देश तालिबान (रूस में प्रतिबंधित) को अफगानिस्तान की वैध सरकार के रूप में मान्यता देने पर विचार नहीं कर रहा है।
-ट्रूडो ने कहा कि तालिबान को अफगानिस्तान की सरकार के रूप में मान्यता देने की कोई योजना नहीं है और वह (तालिबान) कनाडा के कानून के तहत आतंकवादी समूह के रूप में घोषित है।

10:01 AM, 18th Aug
-यूरोपीय यूनियन (EU) की अफगानिस्तान पर तालिबान के नियंत्रण के बाद उसे तत्काल मान्यता देने की योजना नहीं है। हालांकि, वह यूरोपीय नागरिकों और ईयू के साथ काम करने वाले अफगानों की सुरक्षित निकासी के लिए उससे बात करेगा।
-यूरोपीय यूनियन में शामिल देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक की अध्यक्षता के बाद ईयू के विदेश नीति प्रमुख जोसेप बोरेल ने शरणार्थियों के एक नए पलायन को रोकने में मदद करने के लिए तालिबान के साथ बातचीत शुरू करने के महत्व को भी रेखांकित किया।
-बोरेल ने पत्रकारों से कहा, 'हमें काबुल में अधिकारियों के संपर्क में रहना है, फिर चाहे वे कोई भी हों। तालिबान युद्ध जीत चुका है। लिहाजा, हमें उनसे बात करनी होगी। इस वार्ता में विदेशी आतंकवादियों की वापसी को रोकने के तरीकों पर भी चर्चा की जाएगी। यह आधिकारिक मान्यता की बात नहीं है। यह तालिबान के साथ समझौते का मामला है।'

09:56 AM, 18th Aug
webdunia
-अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन ने मंगलवार को कहा कि तालिबान ने अफगानिस्तान छोड़ने के इच्छुक असैन्य नागरिकों को 'सुरक्षित मार्ग' उपलब्ध कराने पर सहमति जताई है।
-हालांकि, अमेरिकी नागरिकों, अफगान सहयोगियों और अन्य असैन्य नागरिकों को पूरी तरह से अफगानिस्तान से बाहर निकालने की समयसीमा को लेकर तालिबान से कोई अंतिम बातचीत नहीं हुई है।
-सुलिवन ने उन रिपोर्ट को स्वीकार किया कि काबुल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे तक पहुंचने की कोशिश के दौरान कुछ नागरिकों को प्रतिरोध का सामना करना पड़ा और उनके साथ मारपीट भी की गई।
-अमेरिकी रक्षा विभाग पेंटागन के अधिकारियों ने कहा कि सोमवार को आई रुकावट के बाद तालिबान नेताओं से जारी बातचीत के बीच अब फिर से विमानों के जरिए लोगों को निकालने का काम शुरू हो गया है। कुछ अमेरिकी सैनिक पहुंच चुके हैं जबकि कुछ रास्ते में हैं। आने वाले दिनों में 6000 से भी अधिक जवान हवाईअड्डे की सुरक्षा का जिम्मा संभाल लेंगे।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

IMD के गलत पूर्वानुमानों के खिलाफ किसान नेता ने दी कोर्ट जाने की चेतावनी