'मोस्ट वांटेड' नीरव मोदी के खिलाफ लंदन की अदालत ने जारी किया गिरफ्तारी वॉरंट

सोमवार, 18 मार्च 2019 (21:02 IST)
लंदन/नई दिल्ली। लंदन की एक अदालत ने दो अरब डॉलर के पीएनबी घोटाले के मुख्य आरोपी नीरव मोदी के खिलाफ गिरफ्तारी वॉरंट जारी किया है। अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि धनशोधन के एक मामले में नीरव को प्रत्यर्पित करने के प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अनुरोध के जवाब में उसके खिलाफ गिरफ्तारी वॉरंट जारी किया गया है।
 
अधिकारियों ने बताया कि जांच एजेंसी को हाल में वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत द्वारा वॉरंट जारी किए जाने के बारे में सूचित किया गया था और नीरव मोदी को जल्द ही स्थानीय पुलिस (लंदन मेट्रोपॉलिटन पुलिस) द्वारा गिरफ्तार किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि वॉरंट कुछ दिन पहले जारी किया गया और बाद में ईडी को सूचित किया गया था।
 
अधिकारियों ने बताया कि गिरफ्तारी के बाद नीरव मोदी जमानत के लिए अदालत के समक्ष लाया जाएगा और उसके प्रत्यर्पण के लिए कानूनी कार्यवाही उसके बाद शुरू होगी। लंदन में वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत ने नीरव के खिलाफ एक प्रत्यर्पण वॉरंट जारी किया है, जिससे उसकी गिरफ्तारी लगभग तय है। मामले में शामिल लंदन स्थित सूत्रों ने यह जानकारी दी।

ब्रिटेन की अदालत और स्कॉटलैंड यार्ड ने कहा कि वे वॉरंट की पुष्टि या उससे इनकार तब तक नहीं कर सकते जब तक गिरफ्तारी हो न जाए और आरोपी को औपचारिक तौर पर आरोपित नहीं कर दिया जाए। हालांकि, ताजा घटनाक्रम से वाकिफ अधिकारियों ने पुष्टि की कि पिछले हफ्ते एक वॉरंट जारी किया गया और भारत में अधिकारियों को सोमवार को इस बारे में बताया गया।
मेट्रोपॉलिटन पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया, ‘हम गिरफ्तारी होने तक कोई टिप्पणी इसलिए नहीं करते क्योंकि कुछ भी स्थापित होने से पहले व्यक्ति को आरोपित किया जाना होता है।’वॉरंट जारी होने की खबरों के बाद अब नीरव के पास विकल्प है कि या तो वह किसी पुलिस थाने में सरेंडर कर दे या फिर वॉरंट को तामील कराने के लिए जिम्मेदार मेट्रोपॉलिटन पुलिस के अधिकारी उसे गिरफ्तार करेंगे।
 
अगर नीरव को गिरफ्तार किया जाता है तो उसे लंदन स्थित वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत में पेश किया जाएगा और औपचारिक तौर पर उसे आरोपित किया जाएगा। इसके बाद वह जमानत की गुहार लगा सकता है। 
 
ब्रिटेन के एक अखबार में हाल में प्रकाशित एक खबर के अनुसार, नीरव मोदी वहां करीब 56 करोड़ रुपए (80 लाख पाउंड) के अपार्टमेंट में ठाठ से रह रहा है। वह इस अपार्टमेंट का किराया ही 15.5 लाख रुपए प्रति माह चुका रहा है। पिछले दिनों 'द टेलीग्राफ' का रिपोर्टर लंदन की सड़क पर चलते-चलते भगोड़े नीरव मोदी से कई सवाल पूछता है, मसलन वह कब तक यूके में रहेगा, वह कितने पैसों का मालिक है, मगर वह कोई जवाब नहीं देता है। 
 
वीडियो में नीरव पिंक रंग के शर्ट और ब्लैक जैकेट में दिखाई दे रहा था। चेहरे पर बढ़ी दाढ़ियों की वजह से उसका चेहरा पहले से थोड़ा अलग लग रहा है। वीडियो में दिख रहा है कि वह एक टैक्सी को इशारा करता है, लेकिन ड्राइवर उसे बैठाने से मना कर देता है।
 
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रविश कुमार ने कहा कि हमें पहले से पता है कि नीरव मोदी लंदन में है। अगस्त में उसके प्रत्यर्पण के लिए आवेदन दिया जा चुका है। हालांकि वहां की सरकार की ओर से अभी प्रत्यर्पण की अनुमति नहीं मिली है लेकिन 18 मार्च के नए घटनाक्रम में जब लंदन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने उसके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया, तब यह उम्मीद जगी है कि वह जल्दी ही पकड़ा जाएगा।
 
अरबों रुपए की बैंक जालसाजी के आरोपी नीरव मोदी के लंदन में रहने और वहां की सड़कों पर सरेआम घूमने से जुड़ी खबर को लेकर कांग्रेस ने पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और आरोप लगाया था कि हजारों करोड़ रुपए लूटकर ऐशगाह में जिंदगी बिताना इस सरकार में ही मुमकिन है? 
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख प्रमोद सावंत होंगे गोवा के CM, सुदिन धवलीकर और विजय सरदेसाई डिप्टी सीएम