ब्रिटेन के राजदूत ने ट्रंप प्रशासन को अकुशल कहा, रिश्तों को बिगड़ने से बचाने के लिए थेरेसा आगे आईं

सोमवार, 8 जुलाई 2019 (23:26 IST)
वॉशिंगटन/ लंदन। अमेरिका में ब्रिटेन के राजदूत का राजनयिक केबल लीक हुआ है जिसमें उन्होंने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन को अकुशल और अयोग्य बताया है। इसके बाद ट्रंप ने कहा कि राजदूत ने ब्रिटेन के लिए अच्छा काम नहीं किया है। बहरहाल, ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने अमेरिका के साथ देश के खास रिश्तों को हुए नुकसान को ठीक करने के लिए उपाय शुरू कर दिए हैं।
 
रविवार को मेल अखबार में प्रकाशित खबर के मुताबिक गुप्त केबल में अमेरिका में ब्रिटेन के राजदूत किम डैरोक ने ब्रिटेन सरकार को आगह किया कि राष्ट्रपति ट्रंप का करियर अपमानजनक स्थितियों में खत्म हो सकता है। इसके अलावा उन्होंने व्हाइट हाउस के अंदर के टकराव को नाइफ फाइट बताया है।
 
डैरोक ने कथित रूप से लिखा है कि हमें वास्तव में विश्वास नहीं है कि यह प्रशासन सामान्य हो पाएगा। इसमें गुटबाजी कम हो जाएगी या नहीं और इसकी कूटनीतिक अकुशलता कम हो पाएगी या नहीं?
 
जब डैरोक की टिप्पणी पर ट्रंप की प्रतिक्रिया मांगी गई तो राष्ट्रपति ने रविवार को पत्रकारों से कहा कि मैंने टिप्पणी देखी नहीं है लेकिन कुछ देशों के साथ हमारे उतार-चढ़ाव रहे हैं और मैं कहना चाहूंगा कि ब्रिटेन और उनके राजदूत ने ब्रिटेन की सेवा अच्छे से नहीं की। 
 
उन्होंने कहा कि हम उस व्यक्ति के बड़े प्रशंसक नहीं हैं और उन्होंने ब्रिटेन की अच्छे से सेवा नहीं की है, लिहाजा हम समझ सकते हैं। जून में ब्रिटेन की अधिकारिक यात्रा के दौरान महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने ट्रंप की अगवानी की थी।
 
अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि उन्हें लेकर जो चीजें हुई हैं उनसे वे परेशान नहीं होते हैं। ब्रिटेन की प्रधानमंत्री मे के प्रवक्ता ने कहा कि प्रधानमंत्री को राजदूत डैरोक में पूरा यकीन है, लेकिन वे राजदूत के मूल्यांकन से सहमति नहीं रखती हैं।
मे के प्रवक्ता ने स्पष्ट किया कि राजनयिक मेल का लीक होना बिलकुल अस्वीकार्य है। बीबीसी ने प्रधानमंत्री के प्रवक्ता के हवाले से कहा कि राजदूत का काम है कि वह सच्ची और सीधी राय दे, लेकिन मे इस मूल्यांकन से सहमत नहीं हैं।
 
प्रवक्ता ने कहा कि लीक बिलकुल अस्वीकार्य है। जैसा कि आपको उम्मीद है, हमारा नजरिया बताने के लिए ट्रंप प्रशासन से संपर्क किया गया है। हमारा मानना है कि यह अस्वीकार्य है। ब्रिटेन के विदेशमंत्री जेरेमी हंट ने रिश्तों को नुकसान से बचाने की कोशिश करते हुए कहा कि नोट में निजी विचार हैं न कि ब्रिटेन सरकार की राय है।
 
उन्होंने कहा कि राजदूत का काम है कि वह स्पष्ट राय दे लेकिन उसमें सरकार का नजरिया शामिल नहीं होता है। सोमवार को ब्रिटेन के अंतरराष्ट्रीय व्यापार मंत्री लिआम फॉक्स ने भी ब्रिटेन अमेरिका के रिश्तों को हुए नुकसान को दुरुस्त करने के लिए पहल की और कहा कि वह वॉशिंगटन की यात्रा के दौरान ट्रंप की बेटी इवांका ट्रंप से मुलाकात के दौरान माफी मांगेंगे।
 
विदेश कार्यालय ने लीक के स्रोत का पता लगाने के लिए जांच शुरू कर दी है। फॉक्स ने कहा कि लीक गैर पेशेवर, अनैतिक और देशद्रोह है। जिसने भी ई-मेलों को जारी किया है, उसने ब्रिटेन के अमेरिका के साथ रक्षा संबंधों को जान-बूझकर नजरअंदाज किया है। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख बारिश ने थामी मुंबई की रफ्तार, जलजमाव से सड़कों पर लगा जाम