Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

स्टडी में बड़ा खुलासा, रोजाना 7000 कदम भी चलते हैं तो मरने का जोखिम होता है कम

webdunia
शुक्रवार, 10 सितम्बर 2021 (17:40 IST)
हर्टफोर्डशायर (ब्रिटेन)। हम में से कई लोगों के पास स्मार्टवाच या फोन पर ऐसे ऐप हैं जो इस बात का हिसाब रखते हैं कि एक दिन में हम कितने कदम चले। आमतौर पर हम एक दिन में 10 हजार कदम चलने का लक्ष्य रखते हैं।
 
यह लक्ष्य एक मनमानी संख्या है जो पीडोमीटर (कदमों की गिनती करने वाला उपकरण) के लिए एक जापानी मार्केटिंग अभियान से निकला हुआ मालूम होता है। हालांकि, अब यह फिटबिट जैसी प्रसिद्ध स्मार्ट घड़ियों द्वारा रोजाना के गतिविधि लक्ष्यों में शामिल कर लिया गया है।
 
अधिक सक्रिय होने का प्रयास करते समय, जब आप अपने कदमों की संख्या को देखते हैं और महसूस करते हैं कि आप 10,000 कदमों के उस लक्ष्य तक नहीं पहुंचे हैं, तो यह अक्सर मनोबल गिराने वाला हो सकता है। असल में, यह हतोत्साहित करने वाला भी हो सकता है, खासकर ऐसे समय में जब हम में से बहुत से लोग अभी भी घर से काम कर रहे हैं और केवल अपना अस्वास्थ्यकर नाश्ता (आमतौर पर) लाने के लिए अपने घर स्थित अस्थायी दफ्तरों से रसोई तक ही जा पाते हैं। सभी के लिए अच्छी खबर यह है कि इस बात के प्रमाण मिल रहे हैं कि 10,000 कदम से कम चलना भी आपके स्वास्थ्य के 
 
लिए अच्छा है। मैसाचुसेट्स विश्वविद्यालय की अगुवाई में किए गए हालिया सबसे बड़े अध्ययन में 11 वर्ष की अवधि में विभिन्न जातीय पृष्ठभूमि के 2,000 से अधिक मध्यम आयु वर्ग के वयस्कों पर गौर किया गया। शोधकर्ताओं ने पाया कि प्रतिदिन 7,000 से कम कदम चलने वालों की तुलना में एक दिन में कम से कम 7,000 कदम चलने वालों में अध्ययन अवधि के दौरान मरने का जोखिम 50 से 70 प्रतिशत कम था।
 
अध्ययन में एक और दिलचस्प परिणाम यह निकला है कि मरने का जोखिम कदम की तीव्रता से जुड़ा नहीं था। यदि दो लोग समान संख्या में कदम चलते हैं, तो कम तीव्रता से चहलकदमी करने वाले व्यक्ति को मध्यम तीव्रता से चलने वाले व्यक्ति की तुलना में मरने का अधिक जोखिम नहीं था। पहले के साक्ष्य भी इसी दिशा में इशारा करते हैं।

मैसाचुसेट्स यूनिवर्सिटी के अध्ययन के परिणाम हार्वर्ड मेडिकल स्कूल के परिणामों पर आधारित हैं, जिनमें पाया गया था कि अध्ययन की अवधि के दौरान एक दिन में औसतन लगभग 4 हजार 400 कदम चलना वृद्ध महिलाओं की मृत्यु दर को काफी कम करने के लिए पर्याप्त था।

हालांकि, हमें इस बारे में सतर्क रहना होगा कि हम इन विभिन्न अध्ययनों से प्राप्त उक्त आंकड़ों की व्याख्या कैसे करते हैं। यह स्पष्ट है कि एक दिन में 10,000 कदम से कम कदम चलने के भी स्वास्थ्य लाभ हैं।
 
विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) वयस्कों को सप्ताह में कम से कम 150 मिनट का मध्यम-तीव्रता वाला व्यायाम (या 75 मिनट का तीव्र व्यायाम) करने की सलाह देता है, लेकिन आसानी से मापी जाने वाली कदम गणना से जुड़ा कोई दिशानिर्देश नहीं है। ऐसा स्वास्थ्य परिणामों के साथ कदमों की गणना (और तीव्रता) के बीच संबंध दिखाने वाले अध्ययनों की सीमित संख्या के कारण है।
 
स्पष्ट है कि दैनिक चले गए कदमों की संख्या से सक्रियता के स्तर का पता लगाने के लिए अभी और अनुसंधान की जरूरत है। अगली बार जब आप देखें कि आपके दैनिक कदमों की संख्या 10,000 कदमों से कम है, तो निराश न हों और याद रखें कि लगभग 7,000 कदम चलने से भी आपको कुछ स्वास्थ्य लाभ प्राप्त होंगे। (द कन्वरसेशन) 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Vaccine को लेकर पंजाब सरकार सख्त, पहला डोज नहीं लेने वालों को भेजा जाएगा छुट्‍टी पर