इंडोनेशियाई विमान क्रैश होकर समुद्र में गिरा, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

सोमवार, 29 अक्टूबर 2018 (09:09 IST)
जकार्ता। इंडोनेशियाई यात्री विमान का जकार्ता से उड़ान भरने के कुछ मिनट बाद ही एयर ट्रैफिक कंट्रोलर से संपर्क टूट गया। बताया जा रहा है कि यह विमान क्रैश होकर समुद्र में गिरा है। इस विमान में 188 यात्री और चालक दल के सदस्य सवार थे।


इंडोनेशिया की आपदा एजेंसी के प्रवक्ता सुतोपो पूर्वो नुग्रोहो ने हादसे का शिकार हुए विमान की कुछ तस्वीरें ट्विटर पर डालीं, जिनमें बुरी तरह टूट चुका एक स्मार्टफोन, किताबें, बैग, विमान के कुछ हिस्से दिख रहे हैं। इंडोनेशियाई टीवी चैनल विमान से ईंधन के निकल कर समुद्र में फैलने और विमान के मलबे की तस्वीरें दिखा रहे हैं।

 
दुर्घटना की जगह तक पहुंचे खोजी एवं बचाव पोतों ने यह सामान इकट्ठा किए हैं। प्रवक्ता ने बताया कि विमान में 181 यात्री सवार थे जिनमें तीन बच्चे भी थे। इसके अलावा, चालक दल के सात सदस्य भी विमान में सवार थे। 
 
 
इंडोनेशियाई अधिकारियों के मुताबिक टेक ऑफ के करीब 13 मिनट बाद ही प्लेन का राडार से संपर्क टूट गया था। फिलहाल यह साफ नहीं हो पाया है कि विमान में कितने लोग सवार थे।
 
 
इंडोनेशिया की सर्च एंड रेस्क्यू एजेंसी के प्रवक्ता युसुफ लतीफ ने टेक्स्ट मैसेज के जरिए इस घटना की पुष्टी की है। उन्होंने बताया कि रेस्क्यू अभियान शुरू कर दिया गया है।
 
 
अधिकारियों के मुताबिक टेक ऑफ के करीब 13 मिनट बाद ही प्लेन का राडार से संपर्क टूट गया था। एयर ट्रैफिक सर्विस के मुताबिक क्रैश हुए विमान का मॉडल बोइंग 737 MAX 8 था। फिलहाल यह साफ नहीं हो पाया है कि विमान में कितने लोग सवार थे।
 
 
लायन एयर समूह के चीफ एग्जेक्यूटिव एडवर्ड सिरैट ने इस संबंध में कहा कि इस संबंध में फिलहाल वे कोई टिप्पणी नहीं कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि वे यात्रियों की जानकारी और डेटा जुटाने की कोशिश में जुट गए हैं।
 
एविएशन इंडस्ट्री में बोइंग 737 मैक्स की सबसे अधिक मांग है। यह इस विमान में हुआ इस तरह का पहला हादसा है। बोइंग 737 मैक्स जेट के पहले विमान की शुरुआत 2017 में हुई थी। मलेशिया की मैलिंडो एयर को इस विमान की पहली डिलीवरी मिली थी। (एजेंसी)
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING