Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

इसराइल ने कहा, कोरोनावायरस संकट ने दोनों देशों को संबंध बढ़ाने का अवसर दिया

हमें फॉलो करें webdunia
मंगलवार, 28 जुलाई 2020 (09:55 IST)
यरुशलम। भारत के साथ रिश्तों को और मजबूत करने की वकालत करते हुए इसराइल ने सोमवार को कहा कि कोरोनावायरस संकट ने दोनों देशों को एक-दूसरे की मदद करने और आपसी संबंध बढ़ाने का मौका दिया है। विदेश मंत्रालय में एशिया एवं प्रशांत मामलों के उप महानिदेशक गिलाड कोहेन ने इस संबंध में 'टाइम्स ऑफ इसराइल' के लिए एक ब्लॉग लिखा है।
उन्होंने ब्लॉग में कहा कि इस वैश्विक महामारी ने दोनों देशों को एक-दूसरे की मदद करने और संबंध बढ़ाने का अवसर प्रदान किया है। कोहिन ने लिखा कि इसराइल के इस खास कदम का आज भारत में स्वागत किया गया, कुछ महीने पहले ही दवाइयां और अन्य आवश्यक नैदानिक उपकरण भेजे गए थे। उन्होंने कहा कि उनके देश ने भारत को परिष्कृत वेंटिलेटर के निर्यात और हस्तांतरण को मंजूरी देने के लिए लीक से हटकर कदम उठाया।
 
उल्लेखनीय है कि इससे पहले भारत ने 7 अप्रैल को इसराइल को चिकित्सकीय उपकरण और हाइड्रोऑक्सीक्लोरोक्वीन सहित 5 टन दवाइयां भेजी थीं। इसराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से इसकी आपूर्ति करने का विशेष अनुरोध किया था।
 
कोहिन ने कहा कि इस तरह इसराइल और भारत ने इस अभूतपूर्व वैश्विक महामारी को एक-दूसरे की सहायता करने और अपने संबंधों को आगे बढ़ाने के अवसर में बदल दिया। इसराइल से एक विशेष विमान शोधकर्ताओं, रक्षा विशेषज्ञों और उन्नत चिकित्सकीय उपकरणों के साथ सोमवार को भारत पहुंचा। इसराइल का यह दल कोविड-19 के लिए रैपिड टेस्टिंग सॉल्यूशन तैयार करने में भारत में शोधकर्ताओं की मदद करेगा। (भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

कोरोनावायरस Live Updates : देश में 9,52,744 कोरोना मरीज स्वस्थ, 33 हजार से ज्यादा की मौत