नासा के क्यूरोसिटी रोवर ने अस्थाई तौर पर बदला कंप्यूटर

बुधवार, 10 अक्टूबर 2018 (23:29 IST)
फाइल फोटो

वॉशिंगटन। अंतरिक्ष एजेंसी नासा के प्रोब-क्यूरोसिटी रोवर में तकनीकी खराबी के चलते विज्ञान संबंधी डेटा को संग्रहित करने में दिक्कत आने के बाद उसने अपने दूसरे कंप्यूटर का इस्तेमाल शुरू कर दिया है।

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी ने एक बयान में कहा कि इस बदलाव से इंजीनियरों को समस्या का विस्तार से निदान करने में मदद मिलेगी। नासा के अधिकतम अंतरिक्ष यानों की तरह क्यूरोसिटी में भी दो कंप्यूटर मौजूद हैं, जिन्हें साइड ए और साइड बी कंप्यूटर कहा जाता है ताकि किसी एक में खराबी आने के बाद भी वह काम करना जारी रख सके।

नासा की जेट प्रपल्शन लेबोरेटरी के इंजीनियरों ने रोवर को साइड बी की जगह साइड ए का इस्तेमाल करने का सुझाव दिया था। रोवर ने मंगल पर उतरने के बाद शुरुआती तौर पर इसी कंप्यूटर का इस्तेमाल किया था। वैज्ञानिकों का कहना है कि रिले ऑर्बिटर से संपर्क होने पर वह अपनी अल्पकालिक स्मृति में संग्रहित सीमित डेटा को लगातार भेज रहा है।

अन्य सभी तरीके से रोवर दुरुस्त है और आदेश प्राप्त कर रहा है। हालांकि जिस कारण से क्यूरोसिटी रोवर अपनी दीर्घकालिक स्मृति में विज्ञान डेटा संग्रहित नहीं कर पा रहा उसी कारण से रोवर के घटनाक्रम के रिकॉर्ड भी संग्रहित नहीं हो पा रहे हैं। उसके सभी कार्यों के रिकॉर्ड के आधार पर ही इंजीनियर कोई निदान निकाल पाएंगे। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING