Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

पाकिस्तान : विपक्षी दलों की रैलियों से खौफ में इमरान खान, मरियम नवाज के पति को किया गिरफ्‍तार

webdunia
सोमवार, 19 अक्टूबर 2020 (09:11 IST)
कराची। पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान (Pakistan) की राजनीति में एक बार फिर उबाल आ गया है। वजीरे आजम इमरान खान (Imran Khan) के खिलाफ विपक्षी पार्टियां एक बार फिर लामबंद हो गई हैं। इमरान सरकार के खिलाफ विपक्षी पार्टियों ने रविवार को बड़ी रैली का आयोजन किया।

इसमें हजारों की संख्या में भीड़ आई। अब रैली के एक दिन बाद ही विपक्ष पर एक्शन तेज हो गया है। इससे इमरान खौफ में आ गए हैं। रैलियों से घबराए इमरान खान ने विपक्षी दल पीएमएल एन के नेता और पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज (Maryam Nawaz) के पति सफदर अवन को गिरफ्तार कर लिया है।

सफदर को पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) की कराची रैली के बाद गिरफ्तार किया गया। सफदर को होटल के कमरे का दरवाजा को तोड़कर गिरफ्तार किया गया। पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) के नाम से 11 विपक्षी राजनीतिक दलों ने इमरान सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) के नाम से 11 विपक्षी राजनीतिक दलों के सरकार-विरोधी गठबंधन द्वारा अभियान शुरू किए जाने के बाद प्रधानमंत्री इमरान खान ने पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के एजेंडे के खिलाफ सख्त रवैया अपना लिया था। इमरान ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री सेना, न्यायपालिका और सरकार में फूट डालना चाहते हैं। 

इससे पहले कराची के जलसे में मरियम नवाज ने इमरान खान पर जमकर निशाना साधा और कहा कि इमरान खान अपनी असफलताओं को छिपाने के लिए पाकिस्‍तानी सेना के पीछे छिप रहे हैं।

इससे पाकिस्‍तानी सेना की छवि पर बट्टा लग रहा है। उन्‍होंने इमरान खान के बारे में कहा कि जब आपसे जवाब मांगा जाता है तो आप सेना के पीछे छिप जाते हो। आप कायर हो। आपने सेना का नाम बदनाम कर दिया।

अयोग्य और अज्ञानी हैं इमरान : पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) के नेताओं ने कराची में एक रैली में कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ‘‘अयोग्य और अज्ञानी’ हैं और उनकी सरकार तानाशाही शासन से भी बेकार है। विपक्षी दलों ने 20 सितम्बर को पीडीएम का गठन किया था और तीन चरण में सरकार विरोधी अभियान चलाने की घोषणा की थी।

इसके तहत इमरान खान की अगुवाई वाली पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ (पीटीआई) सरकार को सत्ता से बेदखल करने के लिए देशभर में जन सभाएं, प्रदर्शन और रैलियां की जाएंगी और जनवरी 2021 में इस्लामाबाद के लिए लंबा मार्च निकाला जाएगा। लाहौर के पास गुजरांवाला में शुक्रवार को पहली रैली निकाली गई थी। पीडीएम की अगली रैली 25 अक्टूबर को क्वेटा में है।
 
जरदारी ने बोला हमला : पाकिस्तान पीपल्स पार्टी (पीपीपी) के प्रमुख बिलावल भुट्टो जरदारी ने बाग़-ए-जिन्ना में कहा कि अयोग्य और अज्ञानी प्रधानमंत्री को अब घर जाना होगा। जरदारी ने कहा कि इतिहास गवाह है कि बड़े से बड़े तानाशाह नहीं टिक पाए तो यह कठपुतली कैसे टिक पाएगी? उन्होंने प्रधानमंत्री इमरान खान पर निशाना साधते हुए कहा , ‘‘ यह कोई नई लड़ाई नहीं है लेकिन यह एक निर्णायक लड़ाई होगी। 
 
ये नेता हुए शामिल : पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज़ (पीएमएल-एन) की उपाध्यक्ष मरियम नवाज़ और शाहिद ख़ाक़ान अब्बासी, पख्तूनख्वा मिल्ली अवामी पार्टी के अध्यक्ष महमूद अचकजाई और जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम फ़ज़ल (जेयूआई-एफ) के नेता मौलाना फ़ज़लुर रहमान भी इस रैली में शामिल हुए। पीपीपी ने मोहसिन डावर को भी आमंत्रित किया था, जो पश्तून तहफुज मूवमेंट (पीटीएम) के प्रमुख हैं।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Bihar Assembly Elections: भूपेश बघेल ने बिहार चुनाव के लिए कांग्रेस का 'थीम सॉन्ग' किया जारी