शवों को लौटाने के लिए तालिबान की अजीब शर्त से चौंक जाएंगे आप

सोमवार, 5 नवंबर 2018 (21:12 IST)
हेरात। तालिबान अपने कब्जे वाले क्षेत्र में दुर्घटनाग्रस्त हुए एक हेलीकॉप्टर में सवार लोगों के अवशेष सौंपने के एवज में अपने एक हमलावर का शव मांग रहा है। तालिबान हमलावर ने पिछले महीने कंधार में एक बैठक के दौरान पुलिस प्रमुख अब्दुल रजीक की हत्या कर दी थी, वहीं सुरक्षा बलों ने हमलावरों को मार गिराया था।
 
 
ईरान की सरहद से लगने वाले अफगानिस्तान के पश्चिमी प्रांत फराह के कबायली सरदार शवों के लिए करीब 1 हफ्ते से वार्ता कर रहे हैं। तालिबान के कब्जे वाले अनार डारा जिले में 31 अक्टूबर को हुए हेलीकॉप्टर हादसे में 25 लोगों की मौत हो गई थी जिनमें से सिर्फ 12 के शव अफगान अधिकारियों को सौंपे गए हैं। अधिकारियों के मुताबिक खराब मौसम की वजह से हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था जबकि तालिबान का दावा है कि उसके लड़ाकों ने हेलीकॉप्टर को गिराया था।
 
तालिबान के प्रवक्ता कारी यूसुफ अहमदी ने व्हॉट्सएप पर भेजे एक संदेश में कहा कि हम हेलीकॉप्टर हादसे के मारे गए लोगों के शव इंटरनेशनल कमेटी फॉर रेडक्रॉस के जरिए उनके परिजनों को सौंपना चाहते हैं, बशर्ते कि दुश्मन कमांडर अब्दुल रजीक की हत्या करने वाले लड़ाके जबीहुल्लाह अबु दजाना का शव उसके परिवार को सुपुर्द कर दिया जाए।
 
फराह के पुलिस प्रवक्ता मुहिबुल्लाह मुहिब ने 12 शवों के प्राप्त होने की पुष्टि की है, हालांकि फराह गवर्नर के प्रवक्ता नासिर महरी ने बताया कि अब तक किसी भी सैन्य अधिकारी का शव बरामद नहीं किया गया है। पिछले महीने 18 अक्टूबर को कंधार शहर में एक उच्चस्तरीय बैठक के दौरान अफगान सुरक्षा बलों की वर्दी पहने बंदूकधारी ने गोलीबारी कर दी थी जिसमें रजीक समेत 3 लोगों की मौत हो गई थी।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING