Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

IPL-13 : वॉटसन और प्लेसिस की विजयी पारी से एमएस धोनी के लबों पर आई मुस्कान

हमें फॉलो करें webdunia
webdunia

सीमान्त सुवीर

सोमवार, 5 अक्टूबर 2020 (08:00 IST)
Photo UNI: Shane Watson, Faf du Plessis
दुबई में रविवार की रात जो कुछ भी हुआ उसकी कल्पना न तो कप्तान एमएस धोनी (MS Dhoni) ने की थी और न चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के टीम प्रबंधन ने...राजस्थान, दिल्ली और हैदराबाद से लगातार 3 आईपीएल (IPL-13) मैचों में हार से पस्त चेन्नई ने किंग्स इलेवन पंजाब को जिस तरह से 10 विकेट से रौंदा, उससे यह साबित हो गया है‍ कि आने वाले मैचों में यह टीम और न जाने क्या क्या कमाल करने वाली है।
 
बूढ़े शेर की दहाड़ : शेन वॉटसन पहले 4 मैचों में कुल जमा 42 रन (4, 33, 14, 1) बनाकर आलोचना के घेरे में थे लेकिन पांचवें मैच में उन्होंने 83 रनों की जो पारी खेली, वह लाजवाब थी। 39 साल के वॉटसन ने साबित किया कि उन्हें भले ही 'बूढ़ा शेर' कहा जाता हो लेकिन उनकी दहाड़ में अब भी दम है और यही कारण है कि उन्होंने 53 गेंदों का सामना किया और 11 चौकों के अलावा 3 छक्के भी उड़ाए।
 
वॉटसन ने उड़ाया दूसरा सबसे लंबा छक्का : रवि बिश्नोई द्वारा डाले गए नौंवे ओवर में शेन वॉटसन ने इस आईपीएल में दूसरा सबसे लंबा छक्का 101 मीटर का लगाया। उनसे पहले राजस्थान के जोफ्रा आर्चर ने चेन्नई के खिलाफ 105 मीटर लंबा छक्का उड़ाया था।
प्लेसिस ने पंजाब के आक्रमण को निस्तेज किया : किंग्स इलेवन पंजाब के पास मोहम्मद शमी जैसा गेंदबाजी का अस्त्र था लेकिन फाफ डू प्लेसिस ने उसे बोथरा साबित कर दिया। मैदान के चारों ओर उनके दर्शनीय शॉट्‍स देखते ही बनते थे। प्लेसिस ने 53 गेंदों पर 11 चौकों और 1 छक्के की मदद से नाबाद 87 रन ठोंके। वॉटसन और प्लेसिस ने 181 रनों की नाबाद साझेदारी निभाकर जीत के लिए मिले 179 रनों के लक्ष्य को 17.4 ओवर में अर्जित कर लिया।
 
वॉटसन और प्लेसिस ने मैच को एकतरफा बनाया : चेन्नई सुपर किंग्स की सलामी जोड़ी (वॉटसन प्लेसिस) ने इस मैच को पूरी तरह एकतरफा बना डाला। पंजाब के कप्तान लोकेश राहुल ने 52 गेंदों में 7 चौकों और 1 छक्के की मदद से 63 रन बनाए जबकि मयंक अग्रवाल ने 26, मनदीप सिंह ने 27, निकोलस पूर्ण ने 33 रनों का योगदान दिया जिससे पंजाब 4 विकेट पर 178 रन बनाने में सफल रहा लेकिन राहुल नहीं जानते थे कि चेन्नई की सलामी जोड़ी मैच को 14 गेंदों के पहले खत्म कर देगी।
कप्तान धोनी के लबों पर मुस्कान : जब मैदान पर वॉटसन और प्लेसिस गेंद का भुर्ता बना रहे थे, तब 'डक आउट' में कप्तान एमएस धोनी के लबों पर मुस्कान थी। यह मुस्कान तब भी नहीं थी, जब उन्होंने पहले मैच में गत चैम्पियन मुंबई को हराया था लेकिन लगातार तीन हार के बाद पहली जीत हासिल करने की खुशी उनके चेहरे पर साफ बयां हो रही थी। धोनी का खुश होना लाजमी भी है क्योंकि इस सत्र की वह पहली टीम बनी, जिसने 10 विकेट से जीत हासिल की। चेन्नई के आईपीएल इतिहास की भी यह पहली 10 विकेट से जीत है।
 
आईपीएल की दूसरी बड़ी ओपनिंग साझेदारी : आईपीएल इतिहास में शेन वॉटसन और फाफ डू प्लेसिस के बीच 181 रन की दूसरी सबसे बड़ी ओपनिंग साझेदारी है, जिसमें टीम 10 विकेट से जीती हो। इससे पहले 2017 में राजकोट में गौतम गंभीर-क्रिस लिन (केकेआर) ने 184 रनों की साझेदारी गुजरात लायंस के खिलाफ की थी। तीसरी बड़ी साझेदारी सचिन तेंदुलकर-ड्वेन स्मिथ के बीच (मुंबई इंडियंस) 2012 में जयपुर में राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ 163 रनों की हुई थी।
चेन्नई के लिए बना रिकॉर्ड : शेन वॉटसन और फाफ डू प्लेसिस के बीच पहले विकेट के लिए 181 रन की अविजित साझेदारी चेन्नई के लिए रिकॉर्ड बना गई। आईपीएल में इससे पहले चेन्नई के लिए 159 रनों की ओपनिंग साझेदारी माइक-हसी मुरली विजय के बीच बेंगलुरु के खिलाफ 2011 में चेन्नई में बनी थी। चेन्नई के इन्हीं दोनों बल्लेबाजों (हसी-मुरली) ने 2013 में पंजाब के खिलाफ 139 रनों की भागीदारी मोहाली में निभाई थी जबकि वॉटसन और रायुडू 2018 में पुणे में ओपनिंग साझेदारी में 134 रन बना चुके हैं।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

French Open 2020 : राफेल नडाल क्वार्टर फाइनल में, हालेप, बर्टेंस और ज्वेरेव बाहर