श्मशान से लौटते वक्त यह करेंगे तो संकटों से मुक्त हो जाएंगे

लाल किताब के उपाय का संबंध किसी भी तंत्र, मंत्र या टोने से नहीं है। इसके उपाय सरल, सटीक और व्यावहारिक माने गए हैं। यह परंपरा से प्राप्त उपाय हैं। चूंकि शमशान का नाम सुनकर ही लोग समझते हैं कि यह कोई तांत्रिक कार्य वाली बात होगी, लेकिन ऐसा नहीं है।
 
 
दूसरी बात यह कि कुछ लोग लाल किताब के उपायों को टोटका कहते हैं। दरअसल, टोना केवल बुरा करने के उद्देश्य से किया जाता है जबकि टोटका किसी अच्छे काम को साधने के उद्देश्य से किया जाता है। यानी टोना साध्य को पाने का गलत तरीका है और टोटका साध्य को हासिल करने का पवित्र तरीका। लेकिन लाल किताब के उपाय को टोटका कहना उचित नहीं होगा, क्योंकि इसके उपाय आपके ग्रह-नक्षत्रों के उपाचार के लिए ही होते हैं और किसी कार्य के लिए नहीं।
 
 
ऐसा ही एक उपाय है जिसे कुंडली के अष्टम घर या ग्रह को ठीक करने का उपाय कहते हैं। अष्टम खाने को मौत का खाना कहते हैं। लाल किताब में हर खाने का अपना महत्व है, जैसे लाल किताब के अनुसार 10वां घर या खाना कार्यालय का स्थान है। 7वां घर सुनसान जगह है। 9वां स्थान धर्मस्थान है। इसी तरह 8वां घर श्मशान का स्थान भी माना गया है।
 
 
व्यक्ति के ऊपर किसी भी प्रकार का संकट आता है तो उसमें 6ठे और 8वें घर और उसके ग्रहों का रोल रहता है। इसीलिए कई दफे कुछ वस्तुएं श्मशान में दबाने के लिए कही जाती हैं या कुछ और उपाय बताए जाते हैं। इन्हीं में से 3 उपाय हैं, लेकिन ये उपाय किसी लाल किताब के विशेषज्ञ से पूछकर ही करें। पाठक अपने विवेक का उपयोग करें।
 
 
उपाय : 
1. यदि आप संकटों से जूझ रहे हैं, बार-बार एक के बाद एक कोई न कोई संकट से आप घिर जाते हैं, तो किसी की शवयात्रा में श्मशान से लौटते वक्त कुछ सिक्के पीछे फेंकते हुए आ जाएं। लौटकर घर में अच्छे से स्नान कर लें। कहते हैं कि इस उपाय से अष्टम के ग्रह शांत होते हैं, वहीं इस उपाय से अचानक दैवीय सहयोग मिलने लगेगा और आई बाधा तुरंत ही समाप्त हो जाएगी।
 
 
2. कोई असाध्य रोग हो जाए और दवाइयां असर करना बंद कर दें तो रोगी के सिरहाने रात को एक तांबे का सिक्का रखें। सुबह उस सिक्के को किसी श्मशान में फेंक आएं। कहते हैं कि इससे शरीर में दवाई का असर होने लगता है।
 
 
3. कई बार चंद्र की अशुभता के कारण भी व्यक्ति को कष्ट होता है। इसीलिए बताया जाता है कि किसी मिट्टी के बर्तन में श्मशान का पानी लाकर उसमें चांदी का एक चौरस टुकड़ा रखकर घर के पूर्व दिशा में इस प्रकार स्थापित कर दें ताकि कोई इसके साथ छेड़-छाड़ नहीं करे। इस उपाय से आर्थिक मामलों में आने वाली बाधाएं एवं कार्य में बार-बार आने वाली रुकावटें दूर होती हैं। चन्द्रमा के अष्टम भाव में होने पर यह उपाय बहुत ही लाभकारी होता है।

 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख नई कार खरीदी है तो ऐेसे करें पूजन, पढ़ें सरल विधि