Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

पुणे विश्वविद्यालय

विदेशी भाषा अध्ययन में अग्रणी

webdunia
ND
'विश्वविद्यालय के मायने मानवता और सहिष्णुता, विचारों के करिश्मे तथा सत्य की खोज है। उन्हें मानवीय जाति को उच्च लक्ष्यों की तरफ प्रवृत्त करने के लिए स्थापित किया गया है। यदि विश्वविद्यालय यथेष्ट रूप से अपने कर्तव्यों का निष्पादन करें तो इससे देश और देश के लोगों का भला होगा।' - जवाहरलाल नेहरू

पंडित जवाहरलाल नेहरू के ये शब्द पुणे विश्वविद्यालय के दिशा-निर्देशों और सिद्धांतों पर शब्दशः लागू होते हैं। 1948 में स्थापित पुणे विश्वविद्यालय अब देश का एक प्रमुख अनुसंधान एवं शिक्षण केंद्र बन गया है। 400 एकड़ में फैला इसका विशाल परिसर पुणे शहर के उत्तर-पश्चिमी भाग में स्थित है। इसका खुशनुमा वातावरण और आधुनिकतम सुविधाएँ असंख्य छात्रों को विज्ञान, कला, वाणिज्य और भाषा विषय में अनुसंधान करने के लिए आदर्श माहौल प्रदान करता है। विश्वविद्यालय के अंतर्गत 40 विभाग संचालित किए जाते हैं जो शैक्षिक कार्यक्रमों की विस्तृत श्रृंखला प्रदान करते हैं।

इसे बॉम्बे विधानसभा द्वारा 10 फरवरी 1948 में पारित पूना विश्वविद्यालय अधिनियम के अंतर्गत स्थापित किया गया है तथा इसी वर्ष डॉ. एमआर जयकर ने प्रथम उपकुलपति के रूप में विश्वविद्यालय में पदभार ग्रहण किया था। तत्कालीन मुख्यमंत्री तथा शिक्षा मंत्री श्री बीजी खेर ने विश्वविद्यालय के लिए एक सुंदर परिसर स्थापित करने में गहन रुचि ली थी, जिसके परिणामस्वरूप 1950 में उसके लिए 411 एकड़ भूमि आवंटित की गई थी। शुरुआत में इसका क्षेत्राधिकार पश्चिमी महाराष्ट्र के 12 जिलों में विस्तारित था।
  पंडित जवाहरलाल नेहरू के ये शब्द पुणे विश्वविद्यालय के दिशा-निर्देशों और सिद्धांतों पर शब्दशः लागू होते हैं। 1948 में स्थापित पुणे विश्वविद्यालय अब देश का एक प्रमुख अनुसंधान एवं शिक्षण केंद्र बन गया है। यह 400 एकड़ में फैला विशाल परिसर है।      


तथापि, 1964 में शिवाजी विश्वविद्यालय,कोल्हापुर में स्थापित हो जाने से इसका क्षेत्राधिकार पुणे, अहमदनगर, नासिक, धुले और जलगाँव जिलों तक ही सीमित रह गया। इनमें से दो जिले धुले और जलगाँव बाद में अगस्त 1990 में स्थापित नार्थ महाराष्ट्र यूनिवर्सिटी से जुड़ गए।

1949 के दौरान विश्वविद्यालय से मात्र 18 कॉलेज ही संबद्ध थे, जिसमें 8000 छात्र पंजीबद्ध थे। उसके बाद कॉलेजों की संख्या लगातार बढ़ती रही और 1994-95 में विश्वविद्यालय में 41 पोस्ट ग्रेजुएट डिपार्टमेंट, 2009 संबद्ध कॉलेज तथा 118 मान्यता प्राप्त अनुसंधान संस्थान थे, जहाँ 1,70,000 छात्रों ने अपना पंजीयन कराया था।

विश्वविद्यालय द्वारा 70 अनुसंधान संस्थानों को अनुसंधान के लिए मान्यता प्रदान की गई है। इनमें राष्ट्रीय महत्व के संस्थान नेशनल केमिकल लेबोरेटरी (एनसीएल), एमएसीएस, सीडब्ल्यू पीआरएस, एनआईवी, गोखले इंस्टीट्यूट ऑव पोलिटिक्स एंड इकानॉमिक्स, उकेन कॉलेज शामिल हैं।

स्त्रो‍त : नईदुनिया अवसर

पुणे विश्वविद्यालय पर एक नजर

स्थापना - 10 फरवरी 1949
स्थान - गणेशसिंह रोड, पुणे, महाराष्ट्र
वेबसाइWWW.UNIPUNE.ERNET.IN

शैक्षणिक विभागों की संख्या - 46
क्षेत्राधिकार - अहमदनगर, नासिक, पुणे
संबद्ध कॉलेजों की संख्या - 269
लड़कियों के कॉलेज - 11
मान्यता प्राप्त अनुसंधान संस्थान - 129
विश्वविद्यालय विभागों में शिक्षकों की संख्या - 288
फेकल्टी - 11
पुणे विवि में पुस्तकों की संख्या - लगभग 4,22,000

डिपार्टमेंट ऑफ फॉरेन लैंग्वेजे
पुणे विश्वविद्यालय के अंतर्गत 1949 में फर्गुसन कॉलेज रोड पर रानाडे इंस्टीट्यूट भवन में विदेशी भाषा विभाग आरंभ किया गया था। इस विभाग द्वारा जर्मन, फ्रेंच, रूसी, जापानी तथा स्पेनिश भाषाओं में प्राथमिक से लेकर पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स (एमए, एमफिल, पीएचडी) संचालित किएजाते हैं। अंशकालीन छात्रों की सुविधा के लिए विभिन्न केंद्रों पर प्रातःकालीन तथा सायंकालीन कक्षाएँ लगाई जाती हैं।

विभाग द्वारा चलाए जा रहे विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रतिवर्ष 1500 से अधिक छात्र दाखिला लेकर भाषाविद् बन रहे हैं। कई केंद्रों पर छात्रों और प्रोफेशनल्स की आवश्यकताओं के उपयुक्त विभिन्न स्थानों पर सभी भाषाओं में अंशकालीन कोर्स चलाकर सर्टिफिकेट, इंटेसिव सर्टिफिकेट डिप्लोमा, एडवांस्ड डिप्लोमा तथा स्पेशल डिप्लोमा कोर्स संचालित किए जा रहे हैं।

फ्रेंच, जर्मन और रशियन भाषा के पोस्ट ग्रेजुएट पाठ्यक्रम पूर्णकालिक हैं। जून 2001 से एमए पाठ्यक्रमों में क्रेडिट प्रणाली आरंभ की गई है जिसमें छात्रों द्वारा प्रत्येक सेमिस्टर में एकत्र किए गए क्रेडिट के आधार पर उनका मूल्यांकन किया जाता है। इससे अंतर अनुशासनात्मक पारस्परिक क्रिया में वृद्धि हुई है तथा छात्रों को अध्ययन हेतु व्यापक चयन सुविधा प्रदान की गई है।

पुणे विश्वविद्यालय द्वारा संचालित पाठ्यक्रम

(1) सर्टिफिकेट कोर्स (फ्रेंच/ रशियन/ स्पेनिश/ जापानी/ जर्मन)
(2) डिप्लोमा कोर्स (फ्रेंच/ रशियन/ स्पेनिश/ जापानी/ जर्मन)
(3) एडवांस्ड डिप्लोमा (फ्रेंच/ रशियन/ स्पेनिश/ जापानी/ जर्मन)
(4) स्पेशल डिप्लोमा (फ्रेंच/ रशियन/ स्पेनिश/ जापानी/ जर्मन)
(5) एमए (फ्रेंच/ रशियन/ स्पेनिश/ जापानी/ जर्मन)।

अवधि :
सर्टिफिकेट कोर्स- 1 वर्ष
डिप्लोमा कोर्स- एक वर्ष
एडवांस्ड डिप्लोमा कोर्स- एक वर्ष
स्पेशल डिप्लोमा कोर्स- 1 वर्ष
एमए- 2 वर्ष।

पात्रता

सर्टिफिकेट कोर्स - एसएससी
डिप्लोमा कोर्स - सर्टिफिकेट कोर्स या 70 प्रश अंकों सहित बारहवीं
एडवांस्ड डिप्लोमा कोर्स - डिप्लोमा कोर्स या समकक्ष
स्पेशल डिप्लोमा कोर्स - एडवांस्ड डिप्लोमा कोर्स या समकक्ष
एमए - स्नातक परीक्षा या स्पेशल डिप्लोमा कोर्स

प्रवेश प्रक्रिया - निर्धारित आवेदन पत्र विश्वविद्यालय के प्रॉस्पेक्टस के साथ उपलब्ध है। प्रवेश विवरण विश्वविद्यालय के प्रवेश पृष्ठ WWW.UNIPUNE.ERNET.IN पर उपलब्ध है।

संपर्क - डिपार्टमेंट ऑव फॉरेन लैग्वेज (यूनिवर्सिटी ऑव पुणे) रानाडे इंस्टीट्यूट बिल्डिंग, फर्गुसन कॉलेज रोड, पुणे-411004
फोन : 912025654256
ई-मेल- [email protected]

स्त्रो‍त : नईदुनिया अवसर

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi