सोमवार से 1100 पायलट नहीं उड़ाएंगे जेट एयरवेज के विमान, राजश्री पाथी ने छोड़ा कंपनी का साथ

रविवार, 14 अप्रैल 2019 (19:15 IST)
मुंबई। संकट से गुजर रहे जेट एयरवेज के पायलटों के राष्ट्रीय संगठन नेशनल एविएटर्स गिल्ड (एनएजी) से जुड़े करीब 1,100 पायलटों ने ‘वेतन भुगतान नहीं होने की वजह से’ सोमवार सुबह 10 बजे से विमान नहीं उड़ाने का फैसला किया है। एक सूत्र ने रविवार को यह जानकारी दी। जेट के स्वतंत्र निदेशक राजश्री पाथी ने कंपनी छोड़ दी है।
 
पायलट के साथ-साथ इंजीनियर और वरिष्ठ प्रबंधकों को जनवरी से वेतन नहीं मिला है। कर्ज में डूबी इस कंपनी ने अन्य वर्ग के कर्मचारियों को भी मार्च का वेतन नहीं दिया है। 
 
गिल्ड के एक सूत्र ने बताया कि अब तक हमें करीब पिछले साढ़े तीन महीने का वेतन नहीं मिला है और हमें नहीं पता कि हमारा वेतन कब मिलेगा। इसलिए हमने 15 अप्रैल से जहाज नहीं उड़ाने के अपने फैसले के साथ आगे बढ़ने का निर्णय लिया है। एनएजी के सभी 1,100 पायलट सोमवार सुबह से उड़ान नहीं भरेंगे। 
 
एनएजी कुल 1,600 पायलटों में से 1,100 पायलटों के प्रतिनिधित्व का दावा करता है। इकाई ने मार्च के अंत में एक अप्रैल से जहाज नहीं उड़ाने का निर्णय किया था। उन्होंने बाद में इसे 15 अप्रैल तक के लिए टाल दिया था। उनका कहना था कि वे नए प्रबंधन को कुछ और समय देना चाहते हैं। भारतीय स्टेट बैंक की अगुवाई में बैंकों का एक समूह इन दिनों जेट एयरवेज के प्रबंधन का काम देख रहा है। 
 
दक्षेस और आसियान के लिए उड़ानें निलंबित : जेट एयरवेज ने दक्षेस और आसियान क्षेत्रों के लिए अपनी विमान सेवा अनिश्चितकाल के लिए निलंबित कर दी है। साथ ही उसने चेन्नई से टोरंटो और पेरिस के लिए अपनी उड़ानों की निलंबन अवधि बढ़ा दी है।
 
जेट एयरवेज ने रविवार को कहा कि एयरलाइन ने एम्सटर्डम, लंदन हीथ्रो और पेरिस से आने-जाने वाले विमानों की सेवाएं भी 16 अप्रैल तक रद्द कर दी हैं। केवल 6-7 विमानों का संचालन कर रहे जेट एयरवेज ने शुक्रवार को इन स्थानों तक अपनी सेवाओं का निलंबन सोमवार तक बढ़ा दिया था।
 
जेट एयरवेज ने एक बयान में कहा कि जेट एयरवेज ने चेन्नई से टोरंटो और पेरिस जाने-आने वाले विमानों के साथ दक्षेस तथा आसियान देशों तक जाने वाले विमानों की सेवाएं अभी निलंबित कर दी है।  खबरों के मुताबिक एयरलाइन ने मुंबई-पेरिस विमान के लिए 10 जून तक बुकिंग लेने भी बंद कर दिया है।
 
सूचना के अनुसार उसने मुंबई-लंदन, मुंबई-एम्सटर्डम-मुंबई और बेंगलुरू-एम्सटर्डम विमानों के लिए भी बुकिंग 18 अप्रैल तक बंद कर दी है।
 
जेट एयरवेज ने इन विमानों के लिए बुकिंग रोकने की पुष्टि करते हुए कहा कि इस कदम का मकसद जिन विमानों को रद्द किया गया था, उनके यात्रियों को सहायता देना है।
 
विमानों को रद्द करने और किराया न लौटाने की सूचना न होने की यात्रियों की शिकायतों के बाद नागर विमानन सचिव ने शुक्रवार को कहा था कि केंद्र ने जेट एयरवेज से विमानों को रद्द करने के बारे में यात्रियों को 48 घंटे पहले सूचित करने और उनकी समस्याओं पर विचार करने के लिए कहा है।
 
राजश्री पाथी ने दिया इस्तीफा : जेट एयरवेज ने रविववार को कहा कि उसके स्वतंत्र निदेशक राजश्री पाथी ने कंपनी छोड़ दी है। उन्होंने समय की कमी तथा दूसरी प्रतिबद्धताओं का हवाला देते हुए 13 नवंबर को पद छोड़ा।
 
जेट एयरवेज ने शेयर बाजारों को दी सूचना में कहा कि राजश्री पाथी ने कंपनी के स्वतंत्र निदेशक पद से इस्तीफा दे दिया है। उनका इस्तीफा 13 अप्रैल से प्रभाव में आया। उन्होंने समय की कमी तथा अन्य मौजूदा प्रतिबद्धताओं का हवाला देते हुए पद छोड़ा है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख ICC WORLD CUP 2019 : भारत की विश्व कप टीम में किसका चयन 'पक्का' और किसके नाम पर हैं 'पेंच'