Retail Inflation Rate : खाने-पीने के चीजों की कीमत बढ़ने से 6 सालों के उच्चतम स्तर पर महंगाई दर

बुधवार, 12 फ़रवरी 2020 (20:26 IST)
नई दिल्ली। आर्थिक मोर्चे पर जूझ रही मोदी सरकार के लिए एक और बुरी खबर आई है। खाने-पीने का सामान महंगा होने से जनवरी में खुदरा महंगाई दर बढ़कर 7.59 प्रतिशत पर पहुंच गई, जो 6 सालों का उच्चतम स्तर है।
 
यह लगातार 6ठा माह है जब महंगाई दर में बढ़ोतरी देखी गई है। पिछले साल जनवरी महीने में यह 1.97 प्रतिशत रही थी। दिसंबर में खुदरा महंगाई दर 7.35 प्रतिशत थी।
 
ALSO READ: वैश्विक दबाव से सोना 90 रुपए, चांदी 740 रुपए टूटी
 
जनवरी में महंगाई दर भारतीय रिजर्व बैंक के 4 प्रतिशत के लक्ष्य से काफी ऊपर रही है। खाने-पीने की चीजों के कीमत बढ़ने के कारण महंगाई दर पिछले 6 साल में सबसे ज्यादा हो गई है। जनवरी 2020 में खाने-पीने की वस्तुओं की कीमत में 13.63 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है।
 
औद्योगिक उत्पादन वृद्धि दर में गिरावट : दिसंबर में उद्योगों की रफ्तार में भी कमी दर्ज की गई है। दिसंबर में औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर में 0.3 प्रतिशत की गिरावट देखी गई है।
 
मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर के उत्पादन में 1.2 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है, जबकि पिछले साल की समान अवधि में इसमें 2.9 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई थी।
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दावा किया था कि अर्थव्यवस्था में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है। उन्होंने इसके लिए 7  संकेतकों का हवाला दिया था।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख फांसी में देरी, निर्भया की मां का कोर्ट के बाहर विरोध प्रदर्शन