डीन जोन्स ने रहाणे और गंभीर को केन विलियमसन से सीख लेने की नसीहत दी

शुक्रवार, 18 मई 2018 (19:47 IST)
मुंबई। न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियम्सन ने इंडियन प्रीमियर लीग में यह साबित किया कि तकनीकी रूप से सक्षम परंपरागत शैली में बल्लेबाजी करने वाले भी बल्लेबाज टी-20 प्रारूप में तेजी से रन बना सकते हैं और ऑस्ट्रेलिया के पूर्व बल्लेबाज डीन जोंस चाहते है कि खराब फॉर्म में चल रहे गौतम गंभीर और अजिंक्य रहाणे जैसे भारतीय बल्लेबाज उनसे सीख ले सकते हैं।
 
 
जोंस से कहा कि मुझे उम्मीद थी कि विलियम्सन अच्छा करेंगे। डेविड वॉर्नर के यहां नहीं खेलने से उन्हें काफी फायदा हुआ है। यह दुनिया का सर्वश्रेष्ठ टी-20 लीग है। विलियम्सन को जो मौका मिला उन्होंने उसका पूरा फायदा उठाया और दुनिया को दिखा दिया कि वे कितने शानदार खिलाड़ी हैं।
 
जोंस ने कहा कि आपके पास गंभीर और रहाणे जैसे दूसरे खिलाड़ी भी हैं, जो परंपरागत शैली में बल्लेबाजी करते हैं। उन्हें विलियम्सन का अनुसरण करना चाहिए कि वे कैसे 130-140 के स्ट्राइक रेट तक पहुंच जा रहे।
 
ऑस्ट्रेलिया के लिए 52 टेस्ट और 164 एकदिवसीय मैच खेलने वाले इस बल्लेबाज ने कहा कि अगर आप ऐसा कह रहे कि विलियम्सन (13 मैचों में 625 रन) रहाणे और गंभीर से बेहतर है तो ऐसा बिलकुल भी नहीं है। लेकिन तथ्य यह है कि उन्होंने (विलियम्सन ने) ज्यादा खुलकर बल्लेबाजी की है। वे शॉट लगाने से पहले परंपरागत स्थिति में आ जाते है। उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया है और यह साबित किया कि टी-20 में भी परंपरागत बल्लेबाज की जगह है। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख कोहली के इस स्पीड स्टार के सामने राशिद खान भी फेल