हनुमा विहारी बने भारत के 292वें टेस्ट खिलाड़ी

शुक्रवार, 7 सितम्बर 2018 (18:32 IST)
लंदन। मध्य क्रम के बल्लेबाज हनुमा विहारी को शुक्रवार इंग्लैंड के खिलाफ ओवल में खेले जा रहे 5वें और आखिरी टेस्ट में कप्तान विराट कोहली ने कैप सौंपकर भारतीय टीम में शामिल किया जिसके साथ ही वे टेस्ट टीम में शामिल होने वाले 292वें खिलाड़ी बन गए।
 
 
24 साल के हनुमा को 5वें मैच के लिए ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या की जगह अंतिम एकादश में शामिल किया गया है। विहारी लगभग 18 वर्षों के लंबे अंतराल के बाद टेस्ट क्रिकेट में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले आंध्र के पहले क्रिकेटर भी बन गए हैं।
 
भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की चयन समिति के प्रमुख एमएसके प्रसाद वर्ष 2000 में टेस्ट क्रिकेट खेलने वाले आंध्र के आखिरी खिलाड़ी थे। मध्यक्रम के बल्लेबाज के रूप में विहारी का औसत बेहतरीन है और प्रथम श्रेणी में उनका औसत करीब 59.45 का रहा है।
 
हनुमा भारत की 2012 की अंडर-19 विश्व कप विजेता टीम में शामिल थे। उन्मुक्त चंद की कप्तानी वाली टीम में हनुमा को मनन वोहरा की जगह शामिल किया गया था, जो अंगूठे में चोट के कारण ऑस्ट्रेलिया रवाना होने से पहले ही टीम से बाहर हो गए थे, हालांकि वे 6 पारियों में तब केवल 11.73 के औसत से 71 रन ही बना पाए थे।
 
युवा बल्लेबाज ने वर्ष 2010 में 17 साल की उम्र में हैदराबाद की टीम से रणजी पदार्पण किया था लेकिन वर्ष 2016-17 के सत्र में वे आंध्र की रणजी टीम में शामिल हो गए। इसका उनके करियर पर सकारात्मक असर पड़ा और उन्होंने पहले सत्र में 15 पारियों में 57.33 के औसत से 688 रन बनाए। उन्होंने 2017-18 के रणजी सत्र में कमाल की बल्लेबाजी की और और 6 मैचों में 94 के औसत से 752 रन बना डाले।
 
आंध्र के बल्लेबाज ने अपने करियर का पहला नाबाद तिहरा शतक भी बनाया, ओडिशा के खिलाफ उनकी नाबाद 302 रनों की यह पारी यादगार है। कुल 63 प्रथम श्रेणी मैचों में हनुमा ने कुल 5,142 रन बनाए हैं जिसमें 15 शतक और 24 अर्द्धशतक शामिल हैं।
 
युवा बल्लेबाज ने मार्च में रणजी चैंपियन विदर्भ के खिलाफ ईरानी कप में भी सर्वाधिक स्कोर बनाया। उन्होंने अनुभवी भारतीय तेज गेंदबाज उमेश यादव और रजनीश गुरबानी जैसे गेंदबाजों को सबसे अधिक परेशान किया और 183 रनों का सर्वश्रेष्ठ स्कोर बनाया।
 
घरेलू सत्र में बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत हनुमा को भारत 'ए' टीम में शामिल किया गया था, जहां उन्होंने 50 ओवर और 4 दिवसीय गैर आधिकारिक टेस्ट में भी प्रभावित किया। इंग्लैंड दौरे पर भारत 'ए' टीम में शामिल हनुमा एकदिवसीय त्रिकोणीय सीरीज में तीसरे सर्वश्रेष्ठ स्कोरर रहे। उन्होंने विंडीज 'ए' और इंग्लैंड 'ए' के खिलाफ इस त्रिकोणीय सीरीज में 253 रन बनाए,  जिसमें उनकी 147 रन की पारी अहम थी।
 
विंडीज 'ए' के खिलाफ 4 दिवसीय मैच में भी उन्होंने 68 रन की अहम अर्द्धशतकीय पारी खेली और भारत को 321 रन के लक्ष्य का पीछा करने में मदद की। उन्होंने हाल ही में बेंगलुरु के एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में दक्षिण अफ्रीका 'ए' के खिलाफ 54 रन और अलुर में 148 रन की पारी खेली थी। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख असम में 'गोल्डन गर्ल' हिमा दास का जोरदार स्वागत