महिला टी20 विश्व कप 2020 : ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले मैच में भारत का पलड़ा भारी

गुरुवार, 20 फ़रवरी 2020 (17:37 IST)
सिडनी। आईसीसी महिला टी-20 विश्व कप (ICC Women's T20 World Cup) का आगाज शुक्रवार से होने जा रहा है। ग्रुप ए में वर्ल्ड कप में पहली टक्कर भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होगी और इस मैच में विस्फोटक बल्लेबाज हरमनप्रीत कौर की कप्तानी में उतर रही टीम इंडिया को विजयी शुरुआत का पूरा भरोसा है।
 
इस रोमांचक टक्कर का यहां सभी क्रिकेटप्रेमियों को बेसब्री से इंतजार है। भारतीय महिला टीम को 2018 के टी-20 विश्व कप के सेमीफाइनल में इंग्लैंड के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। लेकिन इस बार भारत फाइनल में पहुंचकर खिताब अपने नाम करना चाहेगा। 
 
2018 के विश्व कप में अनुभवी बल्लेबाज मिताली राज को सेमीफाइनल से बाहर रखने पर काफी विवाद हुआ था लेकिन इस बार मिताली टीम का हिस्सा नहीं हैं और हरमनप्रीत पर टीम को चैंपियन बनाने की पूरी जिम्मेदारी रहेगी। 
भारत ने टी-20 विश्व कप की तैयारी के लिए हाल में ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के साथ एक त्रिकोणीय महिला टी-20 सीरीज भी खेली थी जिसके फाइनल में भारत को ऑस्ट्रेलिया से एक कड़े मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा था। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2017 में एकदिवसीय विश्व कप के सेमीफाइनल में मिली जीत भारतीय महिला क्रिकेट टीम के लिए सबसे बड़ी उपलब्धि मानी जाती है।
 
भारत के लिए बड़ी राहत की बात यह है कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2016 में टी-20 सीरीज में जीत हासिल करने वाली टीम के 7 खिलाड़ी इस बार की विश्व कप टीम में हैं। भारत ही एकमात्र ऐसी टीम है, जिसने हाल के वर्षों में आईसीसी के बड़े टूर्नामेंटों में ऑस्ट्रेलिया को हराया है। भारत ने 2017 वनडे विश्व कप के सेमीफाइनल और टी-20 2018 विश्व कप के लीग स्तर के मैच में ऑस्ट्रेलिया को हराया था, जिससे उसके इरादे बुलंद हैं। 
विश्व कप से पहले भारत को दो अभ्यास मैच भी खेलने थे। भारत ने पहले मैच में वेस्टइंडीज को कड़े मुकाबले में दो रन से हराया था  जबकि पाकिस्तान के खिलाफ दूसरा अभ्यास मैच वर्षा के कारण नहीं हो सका था।
 
भारत के लिए लेफ्ट आर्म स्पिनर राजेश्वरी गायकवाड़ की शानदार फार्म और लेग स्पिनर पूनम यादव का फिट होकर टीम में लौटना राहत  की बात है। कप्तान एवं ऑलरांडर हरमनप्रीत के अलावा तीन स्पिन गेंदबाज होने से टीम की गेंदबाजी को धार मिलेगी जबकि तेज गेंदबाजी  की जिम्मेदारी शिखा पांडे, अरुंधति रेड्डी अथवा पूजा वस्त्रकार पर होगी।
 
जबकि टीम की बल्लेबाजी की जिम्मेदारी प्रमुख रूप से स्मृति मंधाना, हरमनप्रीत, वेदा कृष्णमूर्ति, तानिया भाटिया और जैमिमा रोड्रिगुएज पर  होगी। सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना ने कहा, हमें खेल के महत्वपूर्ण विभागों पर ध्यान देना होगा,न कि उम्मीदों पर। मुझेे नहीं लगता कि  टीम की कोई भी खिलाड़ी इस बात को लेकर नर्वस है।

कल के मैच के लिए संभावित टीमें इस प्रकार हैं- 
भारत : हरमनप्रीत कौर (कप्तान), तानिया भाटिया (विकेटकीपर), हरलीन देयोल, राजेश्वरी गायकवाड, ऋचा घोष, वेदा कृष्णमूर्ति, स्मृति मंधाना, शिखा पांडे, पूनम यादव, अरुंधति रेड्डी, जैमिमा रोड्रिगुएज, शेफाली वर्मा ,दीप्ति शर्मा, पूजा वस्त्रकार और राधा यादव।
 
ऑस्ट्रेलिया : मेग लेनिंग (कप्तान), राचेल हेयंस, इरिन बर्न्स, निकोल कैरी, एश्ले गार्डनर, ऐलिसा हेली (विकेटकीपर), जैस जोनासन, डेलिसा किमिन्स, सोफी मोलीनिक्स, बेथ मूनी, एलिस पैरी, मेगन शट, मोली स्ट्रैनो, अनाबेल सदरलैंड और जार्जि

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख घुटने की सर्जरी ने स्टार टेनिस खिलाड़ी रोजर फेडरर को फ्रेंच ओपन में उतरने से रोका