Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

भारत के लिए खुशखबरी! इंग्लैंड दौरे पर जारी रहेगी रोटेशन पॉलिसी, एंडरसन ने दिया बयान

webdunia
सोमवार, 31 मई 2021 (14:50 IST)
लंदन: इंग्लैंड की तरफ से सबसे अधिक टेस्ट मैच खेलने वाला खिलाड़ी बनने की राह पर खड़े तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने कहा कि भारत के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों की श्रृंखला के दौरान अधिक खिलाड़ियों को रोटेशन (कुछ खिलाड़ियों को विश्राम देकर उनके स्थान पर नये खिलाड़ियों को रखना) की नीति से गुजरना पड़ सकता है क्योंकि मैचों के बीच विश्राम का बहुत अधिक मौका नहीं मिलेगा।
 
एंडरसन ने दुनिया में सर्वाधिक टेस्ट विकेट लेने वाले तेज गेंदबाज हैं। उनके नाम पर 160 मैचों में 614 विकेट दर्ज हैं और वह जल्द ही इंग्लैंड की तरफ से सर्वाधिक टेस्ट मैच खेलने वाले क्रिकेटर बन सकते हैं। यह रिकार्ड अभी एलिस्टेयर कुक (161) के नाम पर है। एंडरसन जुलाई में 39 वर्ष के हो जाएंगे।
 
इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) की चर्चित रोटेशन नीति के बारे में एंडरसन ने कहा, 'भारत के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों के बीच विश्राम का बहुत कम समय मिलेगा और इसलिए उसमें अलग रणनीति अपनायी जा सकती है। ऐसे में खिलाड़ियों को विश्राम देने के लिये उन्हें अधिक अंदर बाहर किया जा सकता है। ' इंग्लैंड की टीम दो जून से न्यूजीलैंड के​ खिलाफ टेस्ट श्रृंखला खेलेगी और उसके बाद भारत के खिलाफ पांच मैचों की श्रृंखला होगी।
 
ईएसपीएनक्रिकइन्फो के अनुसार एंडरसन ने कहा, 'सर्दियों में हमने जितनी क्रिकेट खेली और बायो बबल (जैव सुरक्षित वातावरण) में जितना समय बिताया उसमें रोटेशन की नीति को समझा जा सकता है। ' उन्होंने कहा, 'इन गर्मियों में यह थोड़ा भिन्न हो सकता है। यदि सब कुछ अनुकूल रहा तो हम थोड़ा सहज होकर खेल सकते हैं। हमें ​बायो बबल में पिछले 12 महीनों की तरह जिंदगी नहीं जीनी पड़ेगी। ऐसे में खिलाड़ियों को विश्राम देने के उतने अधिक कारण नहीं हों।' एंडरसन हालांकि गर्मियों के इस सत्र में सभी सात टेस्ट मैच खेलना चाह​ते हैं।
webdunia
उन्होंने कहा, 'हां, मैं इन गर्मियों में सभी सात टेस्ट मैचों में खेलना पसंद करूंगा। भारत के​ खिलाफ पांच टेस्ट मैच और उससे पहले न्यूजीलैंड से दो टेस्ट मैच होने हैं। उसके बाद एशेज होगी। इसलिए हम इस सत्र की अच्छी शुरुआत करना चाहते हैं।' एंडरसन ने कहा, 'इसलिए यदि हम अपनी मजबूत टीम का चयन करते हैं तो यह माना जा सकता है कि हम दोनों (एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड) उसमें शामिल होंगे और हम दोनों एक साथ नयी गेंद संभालना पसंद करेंगे। ' उन्होंने कहा, 'हमने एक दूसरे को संदेश भेजे कि यदि हम दोनों साथ में खेलते हैं तो अच्छा होगा। इसका फैसला पूरी तरह से कप्तान और कोच पर निर्भर करेगा। ' एंडरसन को प्रथम श्रेणी क्रिकेट में 1000 विकेट पूरे करने के लिये केवल आठ विकेट की जरूरत है।
 
 
उन्होंने कहा, '1000 विकेट बहुत अधिक लगता है। वर्तमान समय में मैं नहीं जानता कि प्रथम श्रेणी क्रिकेट में इतने अधिक विकेट हासिल करना संभव है। जितनी अधिक क्रिकेट खेली जा रही है उसमें गेंदबाजों का करियर बहुत लंबा नहीं लगता। इसके अलावा बहुत अधिक टी20 क्रिकेट भी खेली जा रही है।'


गौरतलब है कि जब इंग्लैंड भारत दौरे पर आयी थी तो पहला टेस्ट जीतने के बावजूद भी 4 टेस्ट मैचों की सीरीज 3-1 से गंवा बैठी थी। इसका ठीकरा कई क्रिकेट विशेषज्ञों और पूर्व खिलाड़ियों ने रोटेशन पॉलिसी पर फोड़ा था। 
 
प्रमुख खिलाड़ियों को आराम देने के चक्कर में इंग्लैंड लगातार टेस्ट हारती रही और आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप से बाहर हो गई। एंडरसन की बातों से लग रहा है कि इंग्लैंड अब तक अपनी गलतियों से सीखने को तैयार नहीं है। (भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

मेलबर्न के ऑपरेशन पर भारी छिंदवाड़ा की जड़ी-बूटी! बिस्तर से उठकर चल पड़े जयसूर्या