Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

कोरोना के कारण अस्पताल में भर्ती हुए सचिन तेंदुलकर, ट्वीट कर दी जानकारी

webdunia
शुक्रवार, 2 अप्रैल 2021 (11:59 IST)
पूर्व भारतीय कप्तान और दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर को कोविड-19 के लिये पॉजीटिव पाये जाने के छह दिन बाद एहतियात के तौर पर अस्पताल में भर्ती कराया गया है।उन्होंने कुछ ही दिन पहले वैक्सीन लगवाई थी।
 
इस 47 वर्षीय खिलाड़ी ने शुक्रवार को ट्विटर पर यह जानकारी दी।करीब एक हफ्ता पहले सचिन तेंदुलकर को उनके सबसे यादगार दिन पर कोरोना हुआ और आज खबर यह आ रही है कि एक और यादगार दिन पर उन्हें अस्पताल में भर्ती होना पड़ेगा। 
 
गौरतलब है कि 27 मार्च 1994 को सचिन तेंदुलकर ने न्यूजीलैंड के खिलाफ अपना वनडे डेब्यू किया था, 2021 के इस ही दिन उन्हें कोरोना संक्रमण हुआ। वहीं आज सचिन तेंदुलकर के लिए बड़ा दिन है क्योंकि वनडे विश्वकप जीते हुए टीम इंडिया को 10 साल हो गए और आज ही उन्होंने ट्वीट करके जानकारी दी कि वह अस्पताल में भर्ती होने जा रहे हैं।
 
ट्विटर पर मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने लिखा, आपकी शुभकामनाओं और प्रार्थनाओं के लिये आभार। चिकित्सा सलाह के तहत एहतियात के तौर पर मैं अस्पताल में भर्ती हो गया हूं। मुझे उम्मीद है कि कुछ दिनों में मैं घर वापस लौट जाऊंगा। सभी अपना ध्यान रखें और सुरक्षित रहें।  टीम इंडिया के खिलाड़ियों और देशवासियों को वनडे विश्वकप जीत की दसवीं सालगिरह की अनेकानेक बधाईयां। 

इससे पहले 27 मार्च को उन्होंने एक टेक्सट फोटो शेयर किया था जिसमें लिखा था कि इस दौर में मैंने हर संभव प्रयास किए कि कोरोना वायरस मुझसे दूर रहे लेकिन आज थोड़े बहुत लक्षण के साथ मेरी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। परिवार के सभी सदस्य परीक्षण में निगेटिव पाए गए हैं।

तेंदुलकर के अलावा पूर्व भारतीय आलराउंडर इरफान पठान, उनके भाई यूसुफ और एस बद्रीनाथ ने घोषणा की थी कि उन्हें कोविड-19 के परीक्षण में पॉजीटिव पाया गया है। इन सभी ने हाल में रोड सेफ्टी विश्व सीरीज चैलेंज में भाग लिया था।
 
रायपुर में खेले गये इस टूर्नामेंट में भारतीय टीम ने तेंदुलकर की अगुवाई में जीत दर्ज की थी। टूर्नामेंट के लिये दर्शकों को स्टेडियम में आने की अनुमति दी गयी थी।
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

सुनहरी यादें: धोनी ने छक्का लगाकर जिताया था वनडे विश्वकप 2011, बने थे मैन ऑफ द मैच