T-20 में शानदार प्रदर्शन के बाद वनडे में भी जीत की लय कायम रखने उतरेगी Team India

बुधवार, 7 अगस्त 2019 (16:50 IST)
गयाना। ट्वंटी-20 सीरीज को 3-0 से क्लीन स्वीप करने के बाद विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम इंडिया वेस्टइंडीज के खिलाफ गुरुवार से शुरू हो रही 3 मैचों की वनडे सीरीज में इसी लय को कायम रखने उतरेगी। 
 
भारतीय टीम ने ट्वंटी-20 सीरीज में शानदार प्रदर्शन किया और तीनों मैच आसानी से जीते। इस सीरीज में युवा खिलाड़ियों का प्रदर्शन काबिलेतारीफ रहा जिसके बाद उम्मीद की जा रही है कि भारतीय टीम वनडे सीरीज में भी जीत हासिल करेगी। 
 
पिछले महीने इंग्लैंड में समाप्त हुए विश्व कप में भारतीय टीम सेमीफाइनल तक पहुंची थी जबकि कैरेबियाई टीम लीग दौर में ही बाहर हो गई थी। दोनों टीमों के बीच हुए लीग मुकाबले में भारत ने 125 रनों से जीत हासिल की। भारत ने 7 विकेट पर 268 रनों का मजबूत स्कोर बनाने के बाद वेस्टइंडीज को मात्र 143 रनों पर ढेर कर दिया था। 
 
ट्वंटी-20 सीरीज में तेज गेंदबाज नवदीप सैनी, ऑलराउंडर क्रुणाल पांड्या और तेज गेंदबाज दीपक चाहर का प्रदर्शन अच्छा रहा। पांड्या को तो 'मैन ऑफ द सीरीज' का पुरस्कार मिला जबकि दीपक चाहर आखिरी मैच में अपने 3 विकेट की बदौलत 'मैन ऑफ द मैच' बने। अंतिम मैच में युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने नाबाद अर्द्धशतकीय पारी खेली और अपनी प्रतिभा को साबित किया। 
भारत के पास अब वनडे सीरीज में भी इसी प्रदर्शन को दोहराने की बारी है। हालांकि दीपक चाहर और राहुल चाहर बंधु तथा पांड्या वनडे सीरीज का हिस्सा नहीं होंगे लेकिन नवदीप वनडे टीम में बने हुए हैं। वनडे सीरीज में भारत के दोनों अनुभवी स्पिनर युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव खेलने उतरेंगे, जो ट्वंटी-20 टीम का हिस्सा नहीं थे। 
 
युवा बल्लेबाज श्रेयस अय्यर को ट्वंटी-20 सीरीज में एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिल पाया था और लोकेश राहुल ओपनर रोहित शर्मा को विश्राम दिए जाने के बाद आखिरी मैच में खेले थे। वनडे सीरीज में तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी और ऑलराउंडर केदार जाधव भी खेलने उतरेंगे। ये दोनों खिलाड़ी भी ट्वंटी-20 सीरीज में नहीं खेले थे। 
 
वनडे में रोहित शर्मा और शिखर धवन ओपनिंग की जिम्मेदारी संभालेंगे जबकि विराट तीसरे नंबर पर रहेंगे। चौथे नंबर के लिए पंत ने पिछले मैच में नाबाद अर्द्धशतक बनाकर अपना दावा पुख्ता कर लिया है। 5वें और 6ठे नंबर के लिए केदार जाधव, श्रेयस अय्यर, लोकेश राहुल और मनीष पांडे के बीच मुकाबला रहेगा। 
 
ऑलराउंडर का स्थान रवीन्द्र जडेजा के नाम रहेगा जबकि तेज गेंदबाजी में भुवनेश्वर कुमार, नवदीप सैनी, मोहम्मद शमी और खलील अहमद में मुकाबला रहेगा। स्पिन का दारोमदार चहल और कुलदीप संभालेंगे हालांकि इन दोनों स्पिनरों ने विश्व कप में उम्मीदों के अनुरूप प्रदर्शन नहीं किया था। 
भारत से ट्वंटी-20 सीरीज में मात खाने के बाद वेस्टइंडीज की टीम कप्तान जेसन होल्डर के मार्गदर्शन में वापसी करना चाहेंगे। ट्वंटी-20 में कार्लोस ब्रेथवेट टीम को प्रेरित नहीं कर सके थे। वनडे में वेस्टइंडीज टीम का हौसला धुरंधर ओपनर क्रिस गेल की मौजूदगी से ऊंचा हो जाएगा, जो हाल ही में कनाडा की ग्लोबल टी-20 लीग में जबरदस्त प्रदर्शन कर चुके हैं। 
 
युवा बल्लेबाज शाई होप, ऑलराउंडर रोस्टन चेज, तेज गेंदबाज शेल्टन क्रोट्रेल टीम को मजबूती देंगे। केमार रोच के रहने से विंडीज का तेज गेंदबाजी आक्रमण मजबूत होगा। विंडीज की वनडे टीम उसकी टी-20 टीम के मुकाबले कहीं बेहतर दिखाई देती है और वह भारत के सामने कड़ी चुनौती पेश कर सकती है। 
 
भारत ने वेस्टइंडीज से अब तक 127 वनडे खेले हैं जिनमें से उसने 60 जीते हैं, 62 हारे हैं, 2 टाई रहे हैं और 3 में कोई परिणाम नहीं निकला है। दोनों के बीच हार-जीत का आंकड़ा लगभग बराबर है और भारत वनडे सीरीज को क्लीन स्वीप कर जीत के मामले में विंडीज से आगे निकलना चाहेगा। (वार्ता)
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख ऋषभ पंत से आगे के मैचों में भी विजयी पारियों की उम्मीदें रहेंगी : विराट कोहली