T20 women's World cup : उंगली की चोट के बाद आत्मविश्वास ने पूनम को खेलने की ऊर्जा दी

शनिवार, 22 फ़रवरी 2020 (15:46 IST)
सिडनी। उंगली के फ्रैक्चर के कारण विश्व कप में उसका खेलना भी संदिग्ध हो गया था लेकिन भारतीय लेग स्पिनर पूनम यादव ने कहा कि आत्मविश्वास ने उसे नई ऊर्जा दी और इसकी बानगी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले मैच में उसके प्रदर्शन में भी दिखी। 
 
दिसंबर में टूर्नामेंट से पहले एक शिविर के दौरान यादव की उंगली में फ्रैक्चर हो गया था। पहले मैच में ऑस्ट्रेलिया पर जीत की सूत्रधार बनी यादव अगर नहीं खेल पाती तो भारत को उसकी कमी जरूर खलती। पूनम ने 17 रन देकर 4 विकेट लिए। उन्होंने कहा कि मुझे नहीं पता था कि चोट इतनी बदतर हो जाएगी। चोट के बाद मैंने अपनी डाइट और फिटनेस पर फोकस किया। 
 
यादव ने आईसीसी वेबसाइट पर कहा कि मुझे विश्वास था कि मैं किसी भी समय गेंदबाजी कर सकती हूं। रमन सर (कोच डब्ल्यूवी रमन) ने पूछा कि क्या मैं मानसिक रूप से तैयार हूं। मैंने कहां हां लेकिन मुझे शारीरिक रूप से भी तैयार रहना जरूरी था। 
 
इस गेंदबाज ने कहा कि उसने टी-20 विश्व कप खेलने की उम्मीद कभी नहीं छोड़ी थी। उन्होंने कहा कि मुझे पूरा यकीन था कि मैं वापसी कर सकूंगी। अच्छी बात यह है कि विश्व कप से डेढ़ महीने पहले यह हादसा हुआ। ईश्वर को धन्यवाद कि जो बुरा होना था, वह पहले ही हो चुका। 
 
भारतीय कप्तान हरमनप्रीत कौर ने यादव की तारीफ करते हुए कहा कि वह हमेशा टीम के लिए खेलती है। उसे खेलना इतना आसान नहीं और इसके लिए संयम की जरूरत होती है। उसने शानदार प्रदर्शन किया।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख एश्टोन एगर ने जडेजा को बताया अपना पसंदीदा खिलाड़ी, कहा- 'रॉकस्टार' हैं वे