Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

BCCI के आगे झुकी ECB, टेस्ट सीरीज से पहले काउंटी इलेवन से होगा अभ्यास मैच

हमें फॉलो करें webdunia
मंगलवार, 6 जुलाई 2021 (10:49 IST)
लंदन:इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) इस महीने के अंत में मेहमान भारतीय टीम के लिए एक अभ्यास मैच का आयोजन कर सकता है। अगर सब कुछ ठीक रहता है तो चयनित काउंटी इलेवन के साथ यह तीन दिवसीय मैच 20 से 22 जुलाई तक खेला जाएगा।
 
ईसीबी ने यह फैसला भारतीय टीम प्रबंधन और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज से पहले अभ्यास मैच के आग्रह के बाद लिया है। भारतीय टीम प्रबंधन इस व्यवस्था से खुश है, क्योंकि उसकी तरफ से यह आग्रह देर से आया था, इसलिए जाहिर तौर पर केवल एक मैच के लिए ही था। भारतीय टीम से जुड़े एक सूत्र ने कहा, “ हमने जो चाहा वो मिल गया है। हम समझ सकते हैं कि इस स्तर पर अभ्यास मैच आयोजित करना मुश्किल है। भारतीय खेमा ईसीबी की दुविधाओं को भी समझ रहा है। ”
webdunia
दरअसल इंग्लैंड बोर्ड 21 जुलाई को ‘द हंड्रेड’ टूर्नामेंट का शुभारंभ कर रहा है। परिणामस्वरूप इंग्लैंड और अधिकतर काउंटी खिलाड़ियों के अपनी संबंधित फ्रेंचाइजी के साथ नए सफेद गेंद टूर्नामेंट में व्यस्त होने की उम्मीद है। पिछले महीने विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल में न्यूजीलैंड से हारने के बाद भारतीय टीम प्रबंधन को अभ्यास मैच की जरूरत महसूस हुई थी। भारतीय खिलाड़ी फिलहाल ब्रेक पर हैं। वे 14 जुलाई को टेस्ट सीरीज से पहले प्रशिक्षण शिविर के लिए डरहम में इकट्ठा होंगे। चार अगस्त को नॉटिंघम के ट्रेंट ब्रिज में पहला टेस्ट शुरू होगा।
 
इस बीच यह जानकारी सामने आई है कि शुभमन गिल की जगह तत्काल कोई प्रतिस्थापन नहीं होगा, जो पिंडली की चोट से जूझ रहे हैं। समझा जाता है कि उनकी पिंडली पर तनाव है, जो उनके लिए अंतरराष्ट्रीय एथलीटों से अपेक्षित मानकों के अनुरूप फिट होना मुश्किल बना रहा है, हालांकि इस स्तर पर ठीक होने के लिए उन्हें सर्जरी की जरूरत नहीं होगी। संभावना है कि शुभमन को घर वापस भेज दिया जाएगा, लेकिन अभी अंतिम फैसला नहीं लिया गया है।(वार्ता)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

तीरंदाजी में इस एशियाई देश का है दबदबा, क्या भारत ओलंपिक में दोहरा पाएगा विश्वकप का प्रदर्शन?