दुनिया भर के क्रिकेटरों के लिए अनचाहा लेकिन अच्छा ब्रेक : जहीर अब्बास

गुरुवार, 9 अप्रैल 2020 (15:21 IST)
नई दिल्ली। पाकिस्तान के महान बल्लेबाज जहीर अब्बास का मानना है कि कोरोना वायरस महामारी के कारण खेल ठप्प होने से जीवन नीरस हो गया है लेकिन यह दुनिया भर के क्रिकेटरों के लिए अच्छा ब्रेक है जो व्यस्त कार्यक्रम के कारण अक्सर परेशान रहते हैं।
 
कोरोना वायरस महामारी के कारण दुनिया भर में 14 लाख से अधिक लोग संक्रमित हैं और 79000 से ज्यादा जानें जा चुकी हैं। खेल आयोजन या तो स्थगित हो गए हैं या रद्द कर दिए गए हैं।
 
अब्बास ने कराची से भाषा को दिए इंटरव्यू में कहा, ‘खेलों के बिना जीवन उबाऊ है लेकिन सेहत सर्वोपरि है। यह अभूतपूर्व हालात है। मैने अपने जीवन में कभी नहीं देखा कि दुनिया भर में जिंदगियां मानों थम गई हैं। इसका असर हर देश पर और हर चीज पर पड़ेगा, खेल भी अछूते नहीं है। आर्थिक नुकसान का अनुमान भी नहीं लगाया जा सकता।’ 
 
उन्होंने कहा कि कोई खिलाड़ी ऐसा ब्रेक नहीं चाहता लेकिन एक तरह से क्रिकेटरों के लिए यह अच्छा भी है जो लगभग साल भर परिवार से दूर खेलते ही रहते हैं। अपनी बल्लेबाजी के लिए एशियाई ब्रैडमेन कहे जाने वाले अब्बास ने कहा, ‘यह अच्छा ब्रेक है। खिलाड़ी साल भर इतना खेलते हैं कि उन्हें परिवार के साथ समय बिताने का मौका ही नहीं मिलता। मैं उन्हें सलाह दूंगा कि आत्म विश्लेषण करें, फिटनेस पर काम करते हैं और वह सब करें जो उन्हें अपने व्यस्त कार्यक्रम के कारण करने का मौका नहीं मिलता।’ 
 
उन्हें खुद लंदन जाना था जहां उनकी पत्नी और घर है लेकिन लॉकडाउन के कारण कराची में ही रह गए। उन्होंने कहा, ‘मुझे लंदन जाना था क्योंकि मेरी पत्नी वहीं है और वहां हालात बहुत खराब हैं। इस समय पाकिस्तान टीम को इंग्लैंड दौरा करना था और मैं वहां मैच देखने का इंतजार कर रहा था। हमारा घर भी लार्ड्स के पास है। 
 
लेकिन कोरोना वायरस के कारण सारी योजनाओं पर तुषारापात हो गया।’ उन्होंने कहा, ‘अब मैं सारा दिन टीवी पर पुराने मैच या फिल्में देखता हूं और दुनिया भर में अपने दोस्तों से बात करता हूं। पाकिस्तान में बंद को 15 दिन हो गए पर मुझे लगता है कि अभी यह और चलेगा। इस जानलेवा वायरस से पूरी तरह से निजात पाना ही ठीक होगा।’
 
ऐसे में जबकि टोक्यो ओलंपिक भी स्थगित हो गए हैं, क्या उन्हें लगता है कि अक्तूबर में ऑस्ट्रेलिया में टी20 विश्व कप हो सकेगा, यह पूछने पर उन्होंने कहा, ‘यह हालात पर निर्भर करेगा। कभी ना कभी तो खेल शुरू करने ही होंगे। यदि हालात से सब संतुष्ट होते हैं तो क्यो नहीं।’
 
उन्होंने कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में बढ चढकर योगदान दे रहे खिलाड़ियों की तारीफ करते हुए कहा, ‘दुनिया भर में खिलाड़ी मदद का हाथ बढा रहे हैं। भारत और पाकिस्तान में भी। यह अच्छी बात है और एक खिलाड़ी की पहचान भी।’ 
 
पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई के लिए धन जुटाने की कवायद में दर्शकों के बिना भारत पाक वनडे श्रृंखला के आयोजन का प्रस्ताव रखा है लेकिन अब्बास का मानना है कि यह काफी मुश्किल है। 
 
उन्होंने कहा, ‘यह बहुत ही कठिन है। हम लंबे समय से कोशिश करते आए हैं लेकिन मुझे नहीं लगता कि यह संभव है।’ (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख रीयाल मैड्रिड के खिलाड़ियों और कोच के वेतन में 10 प्रतिशत की कटौती