पाक की परमाणु धमकी पर बोले पीएम मोदी, हमने दिवाली के लिए नहीं रखे अपने बम

सोमवार, 22 अप्रैल 2019 (08:57 IST)
बाड़मेर (राजस्थान)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां पाकिस्तान को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि भारत ने उसकी सारी हेकड़ी निकाल दी। साथ ही, उन्होंने यह भी कहा कि ‘पड़ोसी देश (पाकिस्तान) आए दिन परमाणु हथियारों की धमकी दिया करता था, तो क्या भारत ने अपने पास ये हथियार दिवाली के लिए रखे हैं।
 
प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि भारत ने 1971 के युद्ध के दौरान भारतीय सेना के कब्जे से हजारों पाकिस्तानों सैनिकों को वैश्विक दबाब में रिहा कर कश्मीर मुद्दे का हल करने का स्वर्णिम मौका गंवा दिया।
 
उन्होंने यहां एक चुनाव सभा को संबोधित करते हुए कहा कि ‘भारत ने पाकिस्तान से डरने की नीति को छोड़ दिया है। वरना, आए दिन हमारे पास न्यूक्लियर बटन (परमाणु हथियार) है, हमारे पास न्यूक्लियर बटन है, वह (पाकिस्तान) यही कहता था.. तो हमारे पास क्या है भाई, ये दिवाली के लिए रखा है क्या?’
 
प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत ने पाकिस्तान से डरने की नीति को छोड़ दिया है और हमने पाकिस्तान की सारी हेकड़ी निकाल दी। साथ ही, उसे कटोरा लेकर दुनिया भर में घूमने के लिए मजबूर कर दिया।  उन्होंने कहा कि 1971 में तत्कालीन सरकार ने जम्मू-कश्मीर और घुसपैठ की समस्या का स्थायी समाधान करने का मौका गंवा दिया।
 
उन्होंने कहा कि 90,000 पाकिस्तानी सैनिक हमारे कब्जे में थे, लेकिन उसके बदले हमने शिमला में जाकर क्या किया जवान जो जीतकर लाए थे, सरकार ने सब टेबल पर गंवा दिया। उन्होंने कहा कि दुनिया भर से पड़े दबाव के चलते तत्कालीन (कांग्रेस) सरकार झुक गई और मामला बंद कर दिया।
 
मोदी ने कहा कि 90 हजार सैनिक भी वापस कर दिए और हमने जो जमीन कब्जा की थी वह भी वापस कर दी। वह सुनहरा मौका था उन 90,000 युद्ध बंदियों के बदले में जम्मू-कश्मीर की समस्या को हल करने का, घुसपैठ की समस्या को हमेशा के लिए खत्म करने का। भारत के हाथ में तुरूप का पत्ता था, लेकिन मौका गंवा दिया। परिणाम पूरा भारत आज भुगत रहा है। वही आज की स्थिति यह है कि भारत ने बिना युद्ध किए पाकिस्तान की सीमा के भीतर घुसकर आतंकवादियों को ढेर किया और पाकिस्तान पूरी दुनिया में रो रहा है।
 
मोदी ने कहा कि हमने आतंकवादियों के मन में डर पैदा किया। वरना आए दिन वे धमाके करते रहते थे। पांच साल से सब बंद है ना ?...हमने पाकिस्तान की सारी हेकड़ी निकाल दी। उसे कटोरा लेकर दुनिया भर में घूमने के लिए मैंने मजबूर कर दिया...? 
 
प्रधानमंत्री ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि और वे लोग सबूत मांग रहे हैं। हमने आतंकवादियों को उनके घर में घुस कर मारा। चोट उधर पड़ी और पीड़ा यहां पर हुई। आंसू यहां बहने लगे। 
 
उन्होंने कहा कि आप बस पांच साल मुझे मौका दीजिए फिर देखिए। आपको लगता है कि ठीक किया लेकिन कांग्रेस व उसके महामिलावटी लोग हैं उनको लगता है ठीक नहीं किया।
 
प्रधानमंत्री ने कहा कि कर्नाटक में कांग्रेस के सहयोग वाली सरकार के मुख्यमंत्री ने एक बयान में कहा था कि जिन लड़कों के पास पेट भरने के लिए कुछ नहीं है, जो भूखे मरते हैं ऐसे लड़के सेना में जाते हैं। यह आपका अपमान है, या नहीं ? राजस्थान की वीर भूमि, वीर पुत्रों को जन्म देने वाली माताओं का अपमान है या नहीं? उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नामदार कहते हैं कि भारत के शौर्य की बात नहीं करनी चाहिए। 
 
मोदी ने कहा कि हमारे देश में आतंकवादी हमले आम बात थी। श्रीलंका में कितना भयंकर आतंकवादी हमला हुआ है। सैंकड़ों लोगों को मार दिया गया। यह आंतकवाद फैलता जा रहा है। भारत में भी चालीस साल से इस आतंकवाद ने नाक में दम कर रखा है। हमारे वीर जवानो का शरीर तिरंगे में लिपटकर लौटता है। आतंक के सरपरस्तों को सबक सिखाने के लिए मैंने फैसला किया है। उनके घर में घुसकर मारता हूं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख नरेन्द्र मोदी के खिलाफ वाराणसी से चुनाव लड़ सकती हैं प्रियंका गांधी