#MainBhiChowkidar पर कांग्रेस-भाजपा में घमासान, क्या उल्टा पड़ गया मोदी का दांव?

सोमवार, 18 मार्च 2019 (12:37 IST)
(वेबदुनिया चुनाव डेस्क)
नरेन्द्र मोदी ने जिस तरह 2014 के लोकसभा चुनावों में 'चाय वाला' को मुद्दा बनाकर लोकसभा चुनाव लड़ा था, उसी तरह वे इस बार 'चौकीदार' को चुनावी मुद्दा बनाने की तैयारी कर रहे हैं। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी राफेल मुद्दे को लेकर 'चोकीदार चोर है' जैसे बयानों का उपयोग कर पीएम मोदी पर निशाना साधते रहते हैं। राहुल गांधी के इस बयान को लेकर पीएम की ओर से ट्‍विटर पर '#MainBhiChowkidar' कैंपेन शुरू किया गया कि भारत का हर नागरिक चौकीदार है। इसके साथ एक वीडियो भी जारी किया गया। इस कैंपेन को लेकर कांग्रेस ने भाजपा पर निशाना साधा कि उसका यह दांव उल्टा पड़ गया।
 
पीएम ने ट्‍वीट में 'आपका चौकीदार बिना डिगे खड़ा है और देश की सेवा कर रहा है। लेकिन यहां मैं अकेला नहीं हूं। हर वह शख्स जो भ्रष्टाचार, गंदगी, सामाजिक बुराई से लड़ रहा है, चौकीदार है। जो भी देश के विकास के लिए काम कर रहा है वह चौकीदार है। आज हर भारतीय कह रहा है कि मैं भी चौकीदार हूं। इस वीडियो में मोदी सरकार के कामों को भी दिखाया गया।
पीएम के आधिकारिक ट्‍विटर अकाउंट पर #MainBhiChowkidar को लेकर ट्वीट किए गए। पीएम मोदी के इस कैपेंन को लेकर कांग्रेस ने ट्‍वीट किया कि मोदी का यह दांव उल्टा पड़ गया। प्रधानमंत्री मोदी के अकाउंट से नीरव मोदी के पैरोडी अकाउंट को ट्‍वीट हो गया।

इसके बाद नीरव मोदी के पैरोडी अकाउंट से जवाब भी आया। हालांकि बाद में यह ट्‍वीट हटा दिया गया। इसे लेकर कांग्रेस ने बीजेपी पर निशाना साधा।

इसे लेकर कांग्रेस ने बीजेपी को टैग करते हुए ट्‍वीट किया कि हम आपके दर्द और हताशा के प्रति सहानुभूति रखते हैं। 
कांग्रेस के इस ट्‍वीट का जवाब बीजेपी ने ट्‍वीट से दिया कि बेईमानी, छल, फोटोशॉप्ड इमेज और फर्जी खबरें आपकी पहचान हैं। दशकों से, आपके नेताओं ने भारत को लूटने और बर्बाद करने के लिए उन तकनीकों का उपयोग किया है। भारत की जनता को इसके प्रति सतर्क रहना चाहिए।
 
पीएम के ट्‍वीट के बाद भाजपा नेताओं में अपने ट्विटर हैंडल पर अपने नाम के आगे 'चौकीदार' लगाने की होड़ मच गई। रविशंकर प्रसाद, पीयूष गोयल, जेपी नड्डा, पूनम महाजन, कैलाश विजयवर्गीय समेत कई नेताओं के ट्विटर हैंडल पर नाम के आगे 'चौकीदार' दिखाई देने लगा। मोदी प्रशंसकों ने भी इसे हाथोहाथ लिया और नेताओं के साथ ही अन्य लोगों में भी नाम के आगे 'चौकीदार' लगाने की होड़ लग गई।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख दिग्विजय सिंह ने जताई लोकसभा चुनाव लड़ने की इच्छा