Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia

लोकसभा चुनाव में ईरान-इजरायल युद्ध की गूंज, बोले पीएम मोदी, दुनिया में युद्ध का माहौल, युद्ध स्तर पर काम करने वाली सरकार जरूरी

हमें फॉलो करें लोकसभा चुनाव में ईरान-इजरायल युद्ध की गूंज, बोले पीएम मोदी, दुनिया में युद्ध का माहौल, युद्ध स्तर पर काम करने वाली सरकार जरूरी

विकास सिंह

, शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024 (15:27 IST)
भोपाल। ईरान-इजरायल के युद्ध को गूंज लोकसभा चुनाव में भी सुनाई देने लगा है। आज मध्यप्रदेश के दमोह में चुनावी रैली करने पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा जब दुनिया में युद्ध का माहौल हो। घटनाएं घट रही हो तो भारत में युद्ध स्तर पर काम करने वाली सरकार बहुत जरूरी है। ये काम पूर्ण बहुमत वाली भाजपा सरकार ही कर सकती है। स्थिर सरकार कैसे देश और देशवासियों के हित में काम करती है, ये हमने बीते वर्षों में देखा है।

जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि ये चुनाव केवल एक सांसद को चुनने का चुनाव नहीं है। यह देश का चुनाव है। देश के भविष्य को सुनिश्चित करने का चुनाव है। आपकी आने वाली पीढ़ी को सुनिश्चित करने वाले चुनाव है। ये चुनाव आने वाले 5 साल में दुनिया की बड़ी शक्ति बनाने का चुनाव है।

पीएम ने युद्ध का क्यों किया जिक्र- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने चुनावी भाषण में युद्ध का जिक्र पश्चिम एशिया में ईरान और इजरायल के बीच बने युद्ध के हालात को लेकर किया। दरअसल आज सुबह इजरायल ने ईरान पर हवाई हमला किया था। ईरान में कई धमाकों की आवाजें सुनाई दी थी। वहीं एक हमला ईरान के एयरपोर्ट को निशाना बनाकर भी किया गया है।  इजरायल ने ईरान पर यह हमला जवाबी कार्रवाई के तौर पर किया है। पिछले सप्ताह ईरान ने इजराइल पर 300 से ज्यादा मिसाइलों और ड्रोन्स से हमला किया था। हालांकि ये मिसाइलें और ड्रोन्स इसराइल की हवाई सुरक्षा को नहीं भेद पाईं थी।

इससे पहले  ईरान के दमिश्क स्थित दूतावास पर हमला हुआ था। इसमें ईरानी सेना के दो शीर्ष कमांडर्स समेत 7 लोगों की मौत हुई थी। ईरान ने इस हमले का आरोप इजराइल पर लगाया था। इसी हमले के जवाब में ईरान ने इसराइल पर हमला किया था। हमले के बाद ईरान ने चेतावनी दी थी कि अगर इसराइल ने उन पर हमला किया तो वे और ताकत के साथ पलटवार करेंगे।

परमाणु हथियार भी चुनावी मुद्दा- लोकसभा चुनाव में परमाणु हथियार पहले ही चुनावी मुद्दा बन चुका है। देश के परमाणु हथियार खत्म करने के सीपीआईएम के चुनावी घोषणा पत्र पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विपक्ष को पहले ही कठघरे में खड़ा कर चुके है। पीएम मोदी ने कहा कि बिना परमाणु हथियारों के देश की रक्षा नहीं की जा सकती। चुनावी जनसभा में  पीएम मोदी ने लोगों से पूछा कि क्या आज के दौर में देश को परमाणु हथियार की जरूरत है या नहीं खासकर तब जब उसके दुश्मनों के पास इतनी ताकत है। हमारे देश की रक्षा के लिए हमारे पास परमाणु हथियार होने चाहिए. जो लोग कह रहे हैं कि परमाणु हथियार नहीं होने चाहिए तो वे भारत की रक्षा कैसे करेंगे। 

पीएम मोदी ने कहा कि विपक्षी गठबंधन के सहयोगियों के घोषणापत्र में कई खतरनाक वादे किए गए हैं,उनके एक सहयोगी के घोषणापत्र में कहा गया है कि वह देश को परमाणु निरस्त्रीकरण करेंगे।
 



Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल घर से करेंगी मतदान