Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

कार्तिक पूर्णिमा पर हो रहा है चंद्र ग्रहण : कब पूजा करें, क्या उपाय करें और कैसे दान करें?

हमें फॉलो करें webdunia
मंगलवार, 8 नवंबर 2022 (11:37 IST)
वर्ष 2022 का अंतिम Lunar eclipse आज लगेगा। इस बार के चंद्र ग्रहण को बहुत ही अशुभ बताया जा रहा है क्योंकि सूर्य ग्रहण के 15 दिन के अंतराल में ही चंद्र ग्रहण लग रहा है। 8 नवंबर 2022 मंगलवार की शाम को चंद्रग्रहण प्रारंभ होने वाला है। आज कार्तिक पूर्णिमा भी शाम तक रहेगी। इस दौरान क्या उपाय करें, कब पूजा करें और कैसे दान करें जानिए।
 
कब से कब तक रहेगा चंद्र ग्रहण : नई दिल्ली टाइम के अनुसार यह ग्रहण चंद्रोदय के समय शाम 05:32 पर प्रारंभ होगा और 06:18 पर समाप्त होगा, इसका मोक्ष काल 07:25 पर रहेगा।
 
चंद्र ग्रहण के सूतक काल का समय क्या है : सूतकाल का समय सुबह 09:21 बजे से लेकर शाम 06:18 बजे तक रहेगा।
 
कब करें पूजा : चंद्र ग्रहण की समाप्ति पर स्नान करने के बाद मंदिर या पूजा घर को शुद्ध करें और इसके बाद मोक्ष काल 07:25 के बाद पूजा पाठ कर सकते हैं।
webdunia
कैसे दान करें : चंद्र ग्रहण की समाप्ति पर दान किया जाता है। सबसे पहले मेहतर या सफाईकर्मी को सिक्के या कुछ रुपये दान दें। चंद्र ग्रहण के बाद कुछ खास चीजों का दान करने से ग्रहण के दुष्प्रभाव दूर होते हैं तथा जीवन में अचानक होने वाली दुर्घटनाओं से भी बचाव होता हैं। चंद्र ग्रहण के बाद चीनी, अक्षत, दूध या सफेद वस्त्र का दान करने से घरेलू कलह दूर होती है और सभी कार्यों में सफलता मिलती है।
 
चंद्र ग्रहण के लिए उपाय | chandra grahan ke upay:
1. चंद्र ग्रहण पर शिवजी को जल अर्पित करके प्रदोष का व्रत रखने का संकल्प लें। शिवजी की पूजा करें और चावल का दान करें।
 
2. पानी या दूध को साफ पात्र में सिरहाने रखकर सोएं और सुबह कीकर के वृक्ष की जड़ में डाल दें।
 
3. दाढ़ी या चोटी रखते हैं तो यह रखना छोड़ दें। 
 
4. चंद्र ग्रहण के बाद सोमवार के दिन केसर की खीर खाएं और कन्याओं को खिलाएं। श्वेत वस्त्रों का दान करना चाहिए।
 
5. पानीदार नारियल को लेकर अपने सिर पर से 21 बार वारकर उसे बहते दरिया में बहा दें।
 
6. चावल, सफेद वस्त्र, शंख, वंशपात्र, सफेद चंदन, श्वेत पुष्प, चीनी, बैल, दही और मोती आदि का दान करना चाहिए या नहीं यह किसी लाल किताब के विशेषज्ञ से पूछकर करें।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

साल का आखिरी चंद्र ग्रहण किस राशि के लिए क्या लाया है संदेश?