भय्यू महाराज आत्महत्या मामले में संदिग्ध युवती से पूछताछ, खुलेंगे कई राज

रविवार, 30 दिसंबर 2018 (22:25 IST)
इंदौर। आध्यात्मिक गुरु भय्यू महाराज की खुदकुशी के बहुचर्चित मामले में संदेह के घेरे में आई 25 वर्षीय युवती से पुलिस ने यहां रविवार को पूछताछ की। 
 
सूत्रों के मुताबिक भय्यू महाराज के पूर्व ड्राइवर कैलाश पाटिल ने पुलिस को हाल ही में दिए बयान में दावा किया था कि युवती यह कहकर आध्यात्मिक गुरु को ब्लैकमेल कर रही थी कि उसके पास उनसे जुड़े कुछ वीडियो और निजी वस्तुएं हैं। 
 
शहर पुलिस अधीक्षक (सीएसपी) अगम जैन ने बताया कि भय्यू महाराज की खुदकुशी के मामले में 25 वर्षीय युवती से पूछताछ की गई है। 
 
सीएसपी के मुताबिक युवती ने पुलिस को बताया कि वह आध्यात्मिक गुरु की मौत से पहले उनकी युवा बेटी कुहू की देखभाल करती थी। 
 
जैन ने युवती की पहचान का खुलासा किए बगैर बताया, 'हमने पूछताछ के लिए युवती को नोटिस भेजा था। इस पर वह खुद हमारे सामने पेश हुई। जरूरत पड़ने पर उसे दोबारा पूछताछ के लिए बुलाया जा सकता है।'
 
सीएसपी ने बताया, 'हम मामले की विस्तृत जांच के जरिये पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि क्या कोई व्यक्ति भय्यू महाराज को परेशान कर रहा था या किसी शख्स ने उन्हें खुदकुशी के लिए उकसाया था?' 
 
पुलिस ने हाल ही में भय्यू महाराज के खास सेवादार विनायक दुधाड़े से भी पूछताछ की है, जो आध्यात्मिक गुरु की खुदकुशी के कुछ समय बाद गायब हो गया था। आध्यात्मिक गुरु के पूर्व ड्राइवर कैलाश पाटिल ने ब्लैकमेलिंग के जरिये भय्यू महाराज से धन ऐंठने के कथित गोरखधंधे में युवती के साथ दुधाड़े की भूमिका पर भी सवाल उठाए हैं। 
 
दुधाड़े, भय्यू महाराज की आत्महत्या के तुरंत बाद चर्चा में आया था। आध्यात्मिक गुरु के कथित सुसाइड नोट में उनके वित्तीय उत्तराधिकार, सम्पत्ति, बैंक खाते और संबंधित मामलों में दस्तखत का हक दुधाड़े को सौंपे जाने का जिक्र था। दुधाड़े भय्यू महाराज से करीब 15 साल पहले जुड़ा था और साए की तरह उनके साथ रहता था। 
 
पुलिस के मुताबिक भय्यू महाराज (50) ने बाइपास रोड स्थित अपने बंगले में 12 जून को अपनी लाइसेंसी रिवॉल्वर से कथित तौर पर गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख गडकरी बोले, नए साल में बनेंगे विश्वस्तरीय एक्सप्रेस-वे