कैलाश विजयवर्गीय की मुश्किलें बढ़ी, देर रात बढ़ाई 4 धाराएं

रविवार, 5 जनवरी 2020 (09:40 IST)
इंदौर। वरिष्ठ भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय, सांसद शंकर लालवानी, भाजपा अध्यक्ष गोपी नेता समेत 350 भाजपा कार्यकर्ताओं और नेताओं को बगैर अनुमति रैली निकालना खासा महंगा पड़ गया। पुलिस ने उनके खिलाफ धारा 188 के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया। इतना ही नहीं देर रात को उनके खिलाफ 4 धाराएं और बढ़ा दी गई।
 
उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को भाजपा कार्यालय में पत्रकार वार्ता के बाद विजयवर्गीय ने भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ रैली निकाली थी। इतना हीं नहीं अफसरों के नहीं मिलने से नाराज भाजपाइयों ने आकाश त्रिपाठी के बंगले पर धरना दे दिया।
 
धरने के दौरान कैलाश विजयवर्गीय अपनी वाणी पर नियंत्रण नहीं रख पाए और खुलेआम कह दिया कि इंदौर में संघ के कार्यकर्ता और पदाधिकारी हैं वरना शहर में आग लगा देता।
 
कैलाश ने कहा कि संभागायुक्त की इतनी औकात हो गई है कि वह मिलने तक नहीं आ रहे हैं। हम उन्हें लिखित में मिलने के लिए पत्र दे रहे हैं। वे जनता के नौकर हैं। यदि वे बाहर हैं तो प्रोटोकॉल के नाते उन्हें हमें सूचना देनी चाहिए।
 
इसके बाद मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी ने एक पोस्टर जारी किया है, जिसमें कैलाश विजयवर्गीय के फोटो वाली माचिस दर्शाई गई है। इस माचिस पर लिखा गया है कि शहर में आग लगाने के लिए उपयोग में आती है 'कैलाश छाप माचिस'।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख उद्धव ठाकरे ने मंत्रियों को किया विभागों का बंटवारा, क्यों नाराज हुआ कांग्रेस विधायक?