अपने 61 बरस के पापा के लिए बेटी को तलाश है जीवनसाथी की

वेबदुनिया न्यूज डेस्क

सोमवार, 20 जनवरी 2020 (22:30 IST)
इंदौर। सोनी टीवी पर प्रसारित लोकप्रिय धारावाहिक 'मेरे डेड की दुल्हन' की तर्ज पर इंदौर में भी एक बेटी सामने आई है, जो अपने पापा का एकाकीपन दूर करने के लिए दुल्हन की तलाश कर रही है। इस बेटी के पापा की उम्र 61 बरस है और यही कारण है कि बेटी 'परिचय सम्मेलन' के जरिए उस मां की तलाश में है, जो उसके पिता का अकेलापन दूर कर सके।

50 वर्ष से लेकर 75 साल के उम्रदराज पहुंचे मंच पर : मध्यप्रदेश की औद्योगिक और सांस्कृतिक राजधानी कहे जाने वाले इंदौर शहर के जाल सभागृह में एक अनूठे परिचय सम्मेलन का आयोजन किया गया, जिसमें 50 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को जीवनसाथी की तलाश थी। इस सम्मेलन में 50 वर्ष से लेकर 75 साल के लोग भी पहुंचे और मंच पर जाकर उन्होंने माइक संभालकर बताया कि उन्हें किस तरह का हमसफर चाहिए। परिचय देने वालों की संख्या 200 थी।

बेटी रीना को पापा के लिए चाहिए जीवनसाथी : 61 वर्षीय कारोबारी श्रीपाल टोग्या की पत्नी का निधन हो चुका है। उनकी तीनों बेटियों की शादी भी हो चुकी है। टोग्या की छोटी बेटी रीना को अपने पापा का अकेलापन देखा नहीं गया और उसे लगा कि जिंदगी के सफर में उसके पापा का भी कोई जीवनसाथी होना चाहिए, जिससे वह अपने दिल की बात कह सके। रीना ने कहा कि पापा की शादी के बाद घर की देखभाल भी होगी और पापा का सूनापन भी दूर होगा। योग्य महिला से पापा शादी कर लेते हैं तो उनका भी घर बस जाएगा।

देशभर से आए 200 लोग : अनुबंध फाउंडेशन और रिजवान आढ़तिया फाउंडेशन के संयुक्त तत्वावधान में रविवार को यह अनूठा परिचय सम्मेलन जाल सभागृह में आयोजित किया गया था, जिसमें देशभर से 50 वर्ष से लेकर 75 साल के 200 महिला और पुरुष प्रत्याशियों ने हिस्सा लिया। इन सभी को अपने जीवनसाथी की तलाश थी। इनमें से कई तो अपनी बेटी, बहू और बेटे के साथ परिचय सम्मेलन में पहुंचे थे।

सभी प्रत्याशी उच्च आय वर्ग से : बुजुर्ग परिचय सम्मेलन की खासियत यह थी कि इसमें भाग लेने वाले सभी लोग उच्च आय वर्ग से थे। इसमें रिश्तों की तलाश में आए लोग चाहते थे कि उनके प्रियजन को जीवन की सांझ में कोई ऐसा साथी मिल जाए, जिससे आगे का सफर आसानी से कट सके। संस्था के अध्यक्ष नट्‍टू भाई पटेल और संयोजक हेमलता अजमेरा के अनुसार, अब तब हम 159 शादियां करवा चुके हैं और फाउंडेशन का यह 59वां सम्मेलन है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख परीक्षा पे चर्चा : मोदी ने द्रविड़, लक्ष्मण और कुंबले को इस तरह किया याद...