Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

कांग्रेस ने कमलनाथ को बताया भावी मुख्यमंत्री, नरोत्तम का तंज, भावी नेता प्रतिपक्ष की करें तलाश

webdunia
webdunia

विकास सिंह

शनिवार, 24 अक्टूबर 2020 (13:35 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश का राजनीतिक भविष्य और सियासत की दिशा करने वाले उपचुनाव में सियासत अब पूरे उफान पर है। प्रदेश में सरकार का भविष्य तय करने वाले उपचुनाव में भाजपा जहां जीत को लेकर आश्वस्त है वहीं कांग्रेस मानकर चल रही हैं कि वह चुनाव में सत्ता में वापसी करेगी। उपचुनाव की इस जंग में दोनों ही पार्टियों के बीच ट्वीटर वॉर भी शुरु हो गया है।

कांग्रेस का सत्ता में वापसी को लेकर किस कदर कॉन्फिडेंस में नजर आ रही है कि अब उसने अपने ऑफिशियल सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर कमलनाथ को ‘भावी मुख्यमंत्री कमलनाथ जी’ लिखना शुरु कर दिया है। कांग्रेस ने अपने आधिकारिक ट्वीट अकाउंट पर कमलनाथ की भिंड के मेहगांव सभा को लाइव करते हुए लिखा कि भावी मुख्यमंत्री कमलनाथ जी भिंड जिले की मेहगांव सीट से प्रत्याशी हेमंत कटारे के समर्थन में जनसभा करेंगे।  

उपचुनाव के बाद सरकार बनाने को लेकर कमलनाथ भी कॉन्फिडेंस में नजर आ रहे है,कमलनाथ जब भी मीडिया के सामने आते है तो उपचुनाव में प्रदेश में अपनी सरकार की वापसी को लेकर कॉन्फिडेंस में नजर आते है। पिछले दिनों एक कार्यक्रम में सरकार बनाने के लेकर हुए सवाल पर कमलनाथ ने मीडिया को भी खरी-खोटी सुना दी थी। 
 
‘भावी’ नेता प्रतिपक्ष की तलाश में जुटे कांग्रेस – वहीं कांग्रेस के कमलनाथ के भावी मुख्यमंत्री बताने पर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने तंज कसते हुए कांग्रेस को सरकार बनाने का ख्वाब देखना छोड़कर अभी से ‘भावी’ नेता प्रतिपक्ष की तलाश में जुट जाने की सलाह दी है। अपने ट्वीट में नरोत्तम मिश्रा ने लिखा कि “हकीकत ये हैं कि 03 नवंबर को जनता कमलनाथ जी का बोरिया-बिस्तर बांधकर उन्हें हमेशा के लिए विदा कर देगी। मेरी नेक सलाह है कि कांग्रेस,सरकार बनाने का ख्वाब छोड़कर'भावी' नेता प्रतिपक्ष की खोज में जुट जाए”।

पहले भी किया था ट्वीट- ऐसा नहीं है कि कांग्रेस ने कमलनाथ को पहली बार मुख्यमंत्री के तौर पर बताया है। इससे पहले कमलनाथ ने 20 मार्च को जब मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया था तब कांग्रेस ने ट्वीट करते हुए लिखा था कि इस ट्वीट को संभाल कर रखना। 15 अगस्त 2020 को कमलनाथ जी मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री के तौर पर ध्वजारोहण करेंगे और परेड की सलामी लेंगे। 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

दिल्ली की वायु गुणवत्ता 'बेहद खराब' श्रेणी में, AQI 346 रहा