Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

मध्यप्रदेश सरकार का बड़ा फैसला, Workfrom खत्म, सरकारी कर्मचारियों को आना होगा ऑफिस

webdunia
गुरुवार, 22 अक्टूबर 2020 (18:50 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश सरकार ने एक बड़ा फैसला लेते हुए 7 महीनों के बाद वर्क फ्रॉम होम की व्यवस्था पूरी तरह खत्म कर दी है। अब सभी सरकारी अधिकारियों और कर्मचारियों को ऑफिस आना होगा और वे घर से कार्य नहीं कर सकेंगे। यानी अब सरकारी कार्यालयों में शत-प्रतिशत उपस्थिति होगी। ऑफिस के लिए भी सरकार ने नई गाइडलाइन जारी की है, जिसमें वे साथ बैठकर न तो खाना नाश्ता कर सकेंगे और न ही हाथ मिला सकेंगे।
 
भारत सरकार के अनलॉक-5 के निर्णय एवं विभिन्न विभागों द्वारा लगातार किए जा रहे अनुरोध के परिप्रेक्ष्य में, कार्यालयों में कार्यक्षमता में वृद्धि करने की दृष्टि से अब अधिकारियों के ही समान सभी कर्मचारियों की, सभी कार्यालयों में उपस्थिति भी शत-प्रतिशत रहेगी। राज्य शासन द्वारा इस संबंध में आदेश जारी कर दिया गया है। पहले 50 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ सरकारी कार्यालयों में काम हो रहा था, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा।
 
कार्यालयों में लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा निर्धारित शर्तों का पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं। प्रत्येक कर्मचारी को स्वयं एवं अन्य की सुरक्षा के हेतु मास्क का उपयोग करना होगा। प्रत्येक कर्मचारी के लिए अनिवार्य होगा कि वह कार्यालयीन अवधि में मास्क से मुँह एवं नाक ढंककर रखें तथा बात करते समय मास्क को नीचे न करें। 
 
कार्यालयों में सोशल डिस्टेसिंग के लिए परस्पर पर्याप्त दूरी रखें। सम्पर्क में आने वाली सतहें, दरवाजों के हैंडल, हैंण्डरेल, शौचालय इत्यादि को नियमित रूप से सेनेटाईज किया जाए। अभिवादन के लिए आपस में हाथ न मिलायें तथा एक साथ बैठकर चाय/भोजन इत्यादि न करें। 
 
नई गाइडलाइन के अनुसार कर्मचारी नियमित रूप से साबुन-पानी तथा एल्कोहल युक्त हैण्ड सेनेटाइजर का उपयोग करेंगे। कोविड-19 संबंधी कोई भी लक्षण जैसे सर्दी, जुकाम, खांसी, बुखार सांस लेने में तकलीफ के लक्षण हों तो तत्काल फीवर क्लीनिक में परीक्षण कराएंगे और संबंधित कार्यालय प्रमुख को सूचित करें।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

दिल्ली के सभी विधानसभा क्षेत्रों में चलेगा 'रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ' अभियान