Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia

बच्चों का आंख खोलकर सोना सामान्य है या समस्या!

जानिए क्यों बच्चे अपनी आँखे खोलकर सोते हैं

हमें फॉलो करें Baby Sucking Thumb

WD Feature Desk

, मंगलवार, 14 मई 2024 (14:00 IST)
Why Do Babies Sleep With Their Eyes Open: बच्चे का ध्यान रखना हर माता-पिता की जिम्मेदारी होती है। कई बार जन्म के बाद बच्चों में कुछ ऐसे लक्षण दिखते हैं, जो सामान्य नहीं होते। जैसे कि बच्चों का आंख खोलकर सोना। आइए जानते है किन कारणों की वजह से बच्चे अपनी आंखो को खोलकर सोते हैं।

वैसे तो आंखें खुली रखकर सोना छोटे बच्चों में आम बात है। लेकिन अगर लंबे समय तक ये आप अपने बच्चे में ये आदत नोटिस करें तो इसे नज़रंदाज़ ना करें क्योंकि इसके कारण बच्चे को आंखों से जुड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इन कारणों की वजह से बच्चों को आंख खोलकर सोने की आदत होती है: 

आनुवांशिक (Hereditary) :
बच्चों में खुली आंखों में सोने की आदत ज्यादातर उनके माता-पिता से आती है। अगर माता-पिता में से किसी एक को भी ये आदत है तो बच्चे में भी यह आदत स्वाभाविक आ जाती है। ये ज्यादातर अनुवांशिक होता है।

रैपिड आई मूवमेंट (Rapid Eye Movement):
बच्चों में आंख खोलकर सोने का एक कारण रैपिड आई मूवमेंट स्लीप बिहेवियर डिसऑर्डर (sleep behaviour disorder) हो सकता है। कभी-कभी बच्चों में यह स्थिति लंबे समय तक रह सकती है। जब बच्चे सपने में कुछ गतिविधियां कर रहे होते हैं, तब यह स्थिति बनती है।

बेल्स पाल्सी (Bell’s palsy):
बच्चों के आंख खोलकर सोने का बेल्स पाल्सी भी एक कारण हो सकता है। बेल्स पाल्सी एक ऐसी बीमारी है, जिसमें चेहरे की आधी मांसपेशियां कमजोर हो जाती हैं। इस वजह से बच्चे को आंखों की पलकों को खोलने और बंद करने में बहुत परेशानियां होती है।

कोशिकाओं में पानी की कमी (loss of water in cells):
एक रिसर्च के अनुसार, शरीर की कोशिकाओं में पानी की कमी वजह से उनकी पलके सिकुड़ सकती हैं। जिस वजह से सोते समय आंखों को बंद करते वक्त इन पर दबाव बनाने में दिक्कत होती है और इसी वजह से बच्चों की आंखें खुली नजर आती हैं।

यूरोफेशियल सिंड्रोम (Urofacial Syndrome):
यूरोफेशियल सिंड्रोम चेहरे की असामान्यताओं की वजह से होता है । जिन भी बच्चों को यूरोफेशियल सिंड्रोम की समस्या होती है उन बच्चों को सोते समय अपनी आंखों को बंद करने में तकलीफ होती है।

अस्वीकरण (Disclaimer) : सेहत, ब्यूटी केयर, आयुर्वेद, योग, धर्म, ज्योतिष, वास्तु, इतिहास, पुराण आदि विषयों पर वेबदुनिया में प्रकाशित/प्रसारित वीडियो, आलेख एवं समाचार जनरुचि को ध्यान में रखते हुए सिर्फ आपकी जानकारी के लिए हैं। इससे संबंधित सत्यता की पुष्टि वेबदुनिया नहीं करता है। किसी भी प्रयोग से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।




Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

बच्चों को समय पर सुलाने के लिए आजमाएँ ये टिप्स