डोनाल्‍ड ट्रंप के पहले भारत आने वाले दुनिया के सबसे ताकतवर देश अमेरिका के राष्‍ट्रपति

अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप का भारत दौरा सुर्खियों में है। देश में इस दौरे को लेकर तैयारियां की जा रही,प्रधानमंत्री मोदी और ट्रंप के बीच क्‍या बातचीत होगी, भारत को इससे फायदा होगा या नुकसान। इस सारे बिंदुओं पर न्‍यूज चैनल्‍स में बहस का सिलसिला जारी है, वहीं पूरी दुनिया की इस दौरे पर नजर रहेगी।
ऐसे में यह जानना भी जरुरी है कि अब तक कौन-कौन और कब-कब अमेरिकी राष्‍ट्रपतियों ने भारत का दौरान किया और तब क्‍या स्‍थिति थी।

बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपनी पत्नी मेलानिया के साथ 2 दिन के भारत दौरे पर आ रहे हैं। इस दौरान वे दिल्‍ली और गुजरात के अहमदाबाद का भ्रमण करेंगे।

डी. आइजनहावर
भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरु के कार्यकाल के दौरान अमेरिकी राष्‍ट्रपति डी. आइजनहावर साल 1959 में पहली बार भारत दौरे पर आए थे। वे 4 दिनों तक भारत में रहे। उन्होंने दिल्ली के रामलीला मैदान में एक रैली को भी संबोधित किया था।

रिचर्ड निक्सन
डी. आइजनहावर के दौरे के करीब 10 साल बाद रिचर्ड निक्सन ने भारत का दौरा किया था। हालांकि उस वक्‍त वे उपराष्ट्रपति थे। वे यहां करीब 22 घंटे ही रुके। दरअसल उस समय वे एशिया के दौरे पर थे। तब देश में कांग्रेस की सत्‍ता थी और इंदिरा गांधी भी पार्टी में कई तरह के संकट से जूझ रहीं थीं।

जिमी कार्टर
जिमी कार्टर तीसरे अमेरिकी राष्‍ट्रपति थे, जो भारत आए थे। साल था 1978।  यह वो दौर था जब देश में चुनाव हुए थे। परिणाम में इंदिरा गांधी बुरी तरह से हार गईं थी और जनता पार्टी के सिर पर बंधा था जीत का ताज। कहा जाता है कि कार्टर चाहते थे कि भारत परमाणु हथियार न बनाए, लेकिन भारत ने उनकी बात नहीं मानी।

बिल क्लिंटन
भाजपा के प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल में बिल क्लिंटन 5 दिनों के लिए साल 2000 में भारत आए थे।  क्लिंटन के साथ उनकी बेटी चेल्सिया भी थीं। उन्‍होंने संसद को संबोधित किया था। दरअसल 1998 में भारत और पाकिस्तान में किए गए परमाणु परीक्षण के बाद क्लिंटन ने दोनों देशों पर प्रतिबंध लगा दिया था।

जॉर्ज डब्ल्यू बुश
साल 2006 में जॉर्ज डब्ल्यू बुश ने भारत का दौरा किया था। जॉर्ज बुश और अमेरिका की पहली महिला लारा बुश उनके साथ आई थीं। मनमोहन सिंह तब प्रधानमंत्री थे। इस सरकार को वामपंथियों का समर्थन था। हालांकि वामपंथी पार्टियों ने बुश के दौरे का विरोध किया था।

बराक ओबामा
2010 में अमेरिका के पहले अश्‍वेत राष्‍ट्रपति बराक ओबामा भारत आए थे। उनकी पत्‍नी मिशेल ओबामा साथ थीं। उन्‍होंने 26/11 के आंतकवादी हमले में मारे गए लोगों को मुंबई जाकर श्रद्धांजलि दी और उनके परिजनों से मुलाकात की थी।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख Health Care: क्या आप जानते हैं अल्कोहल मसाज के बारे में