Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

सीएम योगी का दावा, 4 साल में यूपी बीमारू राज्य से बना सबसे बड़ी अर्थव्यवस्‍था

webdunia
शुक्रवार, 19 मार्च 2021 (15:12 IST)
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने शुक्रवार को कहा कि सरकार के प्रयासों से उत्तर प्रदेश बीमारू राज्य की श्रेणी से उबर कर देश की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाले राज्य के रूप में उभरा है।
 
राज्य में भारतीय जनता पार्टी की सरकार के गठन के चार वर्ष पूरे होने के अवसर पर आदित्यनाथ ने लोकभवन में आयोजित एक समारोह में 'दशकों में जो न हो पाया-चार वर्ष में कर दिखाया' नामक विकास पुस्तिका का विमोचन भी किया।
 
उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि हमें विश्वास है कि हम उत्तर प्रदेश को उन ऊंचाइयों तक ले जाएंगे, जहां प्रदेश की अर्थव्यवस्था देश की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में स्थापित होगी। योगी ने 2017 के पहले की बदहाली का जिक्र किया और कहा कि चार वर्ष के दौरान प्रदेश में केंद्र सरकार की सभी योजनाओं को आम जन तक पहुंचाया गया है।
 
उन्होंने कहा कि पिछले चार वर्ष में सभी पर्व और त्योहार शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुए और चार वर्ष में प्रदेश में कोई दंगा नहीं हुआ। पेशेवर अपराधियों और माफिया के खिलाफ कार्रवाई हुई। आज प्रदेश निवेश का गंतव्य बना है और आज देश दुनिया के हर निवेशक को पहला गंतव्‍य उत्तर प्रदेश दिखाई देता है।
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार निवेश अनुकूल वातावरण बनाने में पूरी तरह सफल रही है और प्रदेश के हर सेक्टर में सार्थक परिणाम सामने आये हैं। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के बारे में देश की धारणा बदली है और सकारात्मक माहौल देखने को मिला है।
 
योगी ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था का आधार ग्रामीण भारत है लेकिन 1947 में आजादी के बाद से प्रदेश उपेक्षित रहा। 2017 में जब हमारी सरकार आयी तो बहुत से ऐसे गांव थे जिन्हें आजादी के बाद से किसी सुविधा का लाभ नहीं मिला। यहां तक कि कई जगह वोट के अधिकार भी नहीं थे लेकिन आज हमें प्रसन्नता है कि प्रदेश में वन ग्रामों को राजस्व ग्रामों में बदलकर बुनियादी सुविधाएं दी गई हैं।
 
मुख्यमंत्री ने प्रदेश सरकार की उपलब्धियों का आंकड़ा प्रस्तुत करते हुए कहा कि 'ग्रामीण क्षेत्र की अर्थव्यवस्था में संपर्क का बड़ा योगदान है। 2017 में सरकार बनी तो प्रदेश में बिजली आपूर्ति और सड़क का अभाव था लेकिन सरकार ने बिना भेदभाव के यह सुविधा उपलब्‍ध कराई। एक लाख 21 हजार गांवों तक बिजली पहुंचाने का कार्य किया और हर जिला मुख्यालय को फोर लेन से जोड़ने के साथ अंतरराज्यीय संपर्क को बेहतर किया।
 
उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड और विंध्य क्षेत्र में पेयजल का कार्य प्रारंभ हो चुका और प्रदेश के तीस हजार अन्‍य राजस्‍व ग्रामों में पेयजल की आपूर्ति की कार्रवाई प्रदेश सरकार करने जा रही है।
 
सरकार के मार्गदर्शन का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देते हुए योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में 'रिफॉर्म', 'परफॉर्म' और 'ट्रांसफार्म' के मंत्र को राज्य में मूर्त रूप दिया गया है। योगी ने कहा कि राज्य ने दो करोड़ 64 लाख शौचालय बनाकर देश में प्रथम स्‍थान प्राप्‍त किया।
 
किसानों, पुलिस सुधार, सिंचाई परियोजना, महिलाओं के कल्‍याण के लिए चलाई जाने वाली योजना, प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए मुख्यमंत्री अभ्‍युदय योजना समेत कई बिंदुओं पर सिलसिलेवार चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने पुलिस सुधार के लिए अच्‍छा काम किया और पुलिस कमिश्नरी सिस्टम लखनऊ और नोएडा में लागू किया।
 
उन्होंने बताया कि 1535 थानों और 350 तहसीलों में महिला हेल्‍प डेस्‍क बनाए गए और 59 नये थाने और 29 नई चौकियां बनाई गईं। सभी 18 परिक्षेत्र में विधि विज्ञान प्रयोगशाला स्थापित की गईं। योगी ने कहा कि प्रदेश में अपराध और अपराधियों के प्रति कतई बर्दाशत नहीं करने की नीति का परिणाम है कि प्रदेश में अपराधों में 2017 के पहले के अपेक्षा भारी कमी आई है।
 
मुख्यमंत्री ने प्रयागराज कुंभ, नमामि गंगे योजना की भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि 2017 के पहले प्रदेश में कई जिलों में भूख से मौत होती थी, राशन कार्ड नहीं थे लेकिन आज प्रदेश की 80 हजार राशन की दुकानें ई-पॉश मशीन से जुड़ गई है।
 
शिक्षा, स्‍वास्‍थ्‍य के क्षेत्र में भी आंकड़ों के साथ सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए योगी ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे और बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे इसी वर्ष जनता को समर्पित किया जाएगा, गंगा एक्सप्रेस-वे का भी कार्य चल रहा है। (भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

अखिलेश यादव बोले, तीनों कृषि कानून किसानों के लिए डेथ वॉरंट, वह मजदूर बनकर रह जाएगा