Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

लोक आस्‍था के महापर्व छठ पर 51 प्रवासी बिहारियों ने दिया अर्घ्य

webdunia
शुक्रवार, 20 नवंबर 2020 (23:21 IST)
पटना। लोक आस्‍था के महापर्व छठ के अवसर पर 51 प्रवासी बिहारियों ने डूबते सूर्य को ऑनलाइन अर्घ्य दिया। बिहार, झारखंड और पूर्वांचल का क्षेत्रीय चैनल बिग गंगा ने छठ के अवसर पर ‘छठ ऑनलाइन अर्घ्य’ कार्यक्रम का आयोजन किया, जहां 51 प्रवासी बिहारियों ने डूबते हुए सूर्य को अर्घ्य दिया।

पहला अर्घ्य उन कोरोनावायरस (Coronavirus) वॉरियर्स डॉक्टर, समाजसेवी, सफाईकर्मी और वैसे लोगों की ओर से दिया गया, जिन्होंने कोरोना से लड़ने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इस कार्यक्रम के संयोजक और जानेमाने निर्देशक अनिल पाल अन्नू ने बताया कि लोक आस्था का महापर्व छठ बिहार, झारखंड और पूर्वांचल की संस्‍कृति का एक अहम हिस्‍सा है।

मान्यता है कि छठी मैया की पूजा करने से लोगों की हर मनोकामना पूर्ण होती है। लोक आस्था के महापर्व छठ का महात्म्य अब केवल बिहार-उत्तर प्रदेश तक ही सीमित नहीं है, इसकी धमक सात समंदर पार तक जा पहुंची है। विदेश में भी यह पर्व धूमधाम से मनाया जाता है। छठ व्रत के जरिए प्रवासी बिहारी विदेशों में भी इसकी छाप छोड़ रहे हैं।

इस अवसर पर सुप्रसिद्ध एंकर-गायक और अभिनेता आलोक पांडेय गोपाल और जानीमानी पार्श्व गायिका संजोली पांडेय मौजूद थीं। संजोली पांडेय और आलोक पांडेय गोपाल ने कार्यक्रम को संगीतमय बना दिया।

दूरदर्शन किसान चैनल पर प्रसारित फोक स्टार माटी का लाल कार्यक्रम के विजेता और महुआ चैनल पर प्रसारित सुर संग्राम के उपविजेता आलोक पांडेय गोपाल ने बताया कि छठ बिहार का महान पर्व है और सभी बिहारी लोग इसे पूरी आस्था के साथ मनाते हैं।

कोरोना को लेकर कई लोग इस बार छठ में शामिल होने के लिए बिहार में नहीं आ पाए हैं और उन्हीं लोगों के लिए बिग गंगा पर हम लोगों ने उनकी तरफ से छठी मैय्या को अर्घ्य दिया है। बिग गंगा ने एक अच्छी पहल की है।

सोहर और कजली पर आधरित लोकगीतों के जरिए लोगों के बीच खास पहचान बना चुकीं संजोली पांडेय ने बताया कि पूरे देश में छठ महापर्व श्रद्धा के साथ मनाया जाता है। उन्होंने बताया कि वैसे प्रवासी बिहारी जो अर्घ्य देने के लिए इच्छुक थे उन्हीं लोगों की आस्था को ध्यान में रखते हुए बिग गंगा ने ‘छठ ऑनलाइन अर्घ्य’ का आयोजन किया, जहां 51 लोगों ने भगवान सूर्य को अर्घ्य दिया।

इस अवसर पर कार्यक्रम के निर्माता राकेश तिवारी, बिग गंगा के सीनियर एक्सीक्यूटिव प्रोडयूसर अमित श्रीवास्तव और मार्केटिंग हेड नंदकिशोर ने छठी मैया के महत्व पर प्रकाश डाला। अमित श्रीवास्तव ने बताया कि हर मनोकामना को पूर्ण करने वाले इस महापर्व की ताकत ही है कि इसमें असीम आस्था रखने वाले बिहारियों को बिहार के बाहर भी ताकत मिली, सम्मान मिला।

बिहार के बाहर छठ के अवसर पर बढ़ते चकाचौंध ने बिहार में भी लोक संस्कृति के इस महापर्व को भव्यता दे दी है। उन्होंने बताया कि बिग गंगा बिहार, झारखंड एवं उत्तर प्रदेश के सामाजिक संस्कृतिकरण की पकड़ को सालों से बनाए हुए है।(वार्ता)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

दिल्ली समेत देश के कई राज्यों में Corona का कहर, जानिए किसने क्या लिए बड़े फैसले