भगवंत मान ने छोड़ी शराब, केजरीवाल ने बताई बहुत बड़ी कुर्बानी

सोमवार, 21 जनवरी 2019 (19:13 IST)
आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और पंजाब से सांसद भगवंत मान ने कहा है कि उन्होंने अब शराब छोड़ दी है। रविवार को बरनाला में आयोजित आम आदमी पार्टी की एक रैली के दौरान भगवंत मान ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि वे अपनी मां की सलाह पर शराब छोड़ रहे हैं। भगवंत मान को उनके राजनीतिक विरोधी अक्सर बहुत ज़्यादा शराब पीने और नशे का आदी होने की आलोचना करते रहते हैं।

मान ने रैली में कहा, मेरे राजनीतिक विरोधी हमेशा मेरे ऊपर आरोप लगाते रहते हैं कि भगवंत मान तो दिन-रात शराब के नशे में रहता है। भाइयों, मुझे हमेशा इस बात का दुख रहता था। मैंने देखा कि मेरे कई पुराने वीडियो को सोशल मीडिया पर डालकर मुझे बदनाम किया जाता था।

नए साल में छोड़ी शराब : भगवंत मान ने बताया कि उन्होंने नए साल के पहले दिन से शराब पीना छोड़ दिया है।इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अब वे ज़िंदगीभर शराब को हाथ नहीं लगाएंगे। भगवंत मान आम आदमी पार्टी के टिकट पर साल 2014 के लोकसभा चुनाव में संगरूर से सांसद चुने गए थे। मान ने रैली के दौरान कहा, मैं मानता हूं कि मैं कभी-कभी शराब पीता हूं। लेकिन मेरे विरोधियों ने इसके चलते मेरी छवि बहुत ज़्यादा ख़राब कर दी है। आज मेरी मां भी यहां आई हैं। मां ने कहा कि लोग टीवी पर मेरे बारे में बोलकर मुझे बेइज्ज़त करते हैं। उन्होंने मुझसे कहा कि मैं शराब छोड़ दूं तो लोग मुझे बेइज्ज़त नहीं कर पाएंगे।

भगवंत मान जिस वक़्त शराब छोड़ने का ऐलान कर रहे थे उस समय मंच पर आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोधिया भी मौजूद थे। अरविंद केजरीवाल ने मान के शराब छोड़ने वाली बात पर ख़ुशी जताई और कहा कि आज भगवंत मान ने उनका दिल जीत लिया। केजरीवाल ने कहा, दोस्तों, भगवंत मान ने मेरा दिल जीत लिया है और सिर्फ़ मेरा ही नहीं उन्होंने पूरे पंजाब का दिल जीत लिया है। एक नेता को ऐसा ही होना चाहिए जो अपनी जनता के लिए किसी भी तरह की क़ुर्बानी दे सके। इस तरह की शपथ लेना कोई आसान काम नहीं है।

उन्होंने कहा कि एक जनवरी से उन्होंने शराब को हाथ भी नहीं लगाया है। यह बहुत बड़ी बात है। साल 2016 में आम आदमी पार्टी से निलंबित सांसद हरिंदर सिंह खालसा ने लोकसभा में स्पीकर सुमित्रा महाजन से शिकायत की थी कि उनकी सीट भगवंत मान से अलग कर दी जाए क्योंकि भगवंत मान से शराब की गंध आ रही है। भगवंत मान के शराब छोड़ने के ऐलान करने और केजरीवाल के ज़रिए उसे एक बड़ी क़ुर्बानी बताने पर सोशल मीडिया पर भी लोगों ने अलग-अलग तरह की प्रतिक्रियाएं दी हैं।

आप पार्टी छोड़ चुके कपिल मिश्रा ने लिखा है, भगवंत मान दारू नहीं पीएंगे ये घोषणा पत्र में लिखा जाएगा। सचिन सिंगला ने लिखा, मोदीजी जब इतिहास लिखवाएंगे तो दो ही तरह की कुर्बानियां याद आएंगी, पहली मोदीजी ने देशहित में चाय की टपरी छोड़ी और दूसरी भगवंत मान ने दी। क्वीनबी नामक अकाउंट से लिखा गया, सुबह-सुबह इतनी पॉजिटिव ख़बर सुनने को मिली। उम्मीद करते हैं कि जिस वक़्त भगवंत मान शराब छोड़ने का वादा कर रहे थे उस समय उन्होंने शराब नहीं पी होगी।

इस रैली में अरविंद केजरीवाल ने कहा कि लालची लोग पार्टी को छोड़ गए हैं और अब पंजाब में आम आदमी पार्टी मज़बूत होगी। उन्होंने कहा कि पार्टी लोकसभा चुनाव में किसी अन्य दल के साथ तालमेल नहीं करेगी और सभी 13 लोकसभा सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेगी। इस दौरान चंडीगढ़ से हरमोहन धवन को पार्टी का उम्मीदवार बनाने की घोषणा भी कर दी गई।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख अखिलेश का भाजपा पर तंज, नया प्रधानमंत्री चाहती है देश की जनता