Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

5G Spectrum Auction : 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी को चौथे दिन मिलीं 1,49,855 करोड़ रुपए की बोलियां

हमें फॉलो करें webdunia
शनिवार, 30 जुलाई 2022 (00:24 IST)
नई दिल्ली। देश में उच्च गति की इंटरनेट सेवा देने के लिए पांचवीं पीढ़ी (5जी) के स्पेक्ट्रम की नीलामी को शुक्रवार को चौथे दिन करीब 1,49,855 करोड़ रुपए की बोलियां प्राप्त हुईं। अब तक कुल 23 दौर की बोली लगाई जा चुकी हैं। रेडियो तरंगों के लिए निरंतर रुचि के चलते बोली प्रक्रिया को शनिवार तक बढ़ा दिया गया है।

केंद्रीय दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि नीलामी पर रखे गए कुल स्पेक्ट्रम का लगभग 71 प्रतिशत अस्थाई रूप से बेचा जा चुका है। उन्होंने कहा, यह एक बहुत अच्छी प्रतिक्रिया है। स्पेक्ट्रम के लिए शुक्रवार को सात दौर की बोली लगाई गई। इस दौरान 231.6 करोड़ रुपए की अतिरिक्त बोलियां प्राप्त हुईं। अब तक कुल 23 दौर की बोली लगाई जा चुकी हैं।

मुकेश अंबानी की रिलायंस जियो, सुनील भारती मित्तल की भारती एयरटेल, वोडाफोन आइडिया तथा गौतम अडाणी की प्रमुख कंपनी अडाणी इंटरप्राइजेस की इकाई 5जी स्पेक्ट्रम हासिल करने की दौड़ में शामिल हैं।

बोली के पहले दिन मंगलवार को चार दौर की नीलामी में 1.45 लाख करोड़ रुपए की बोली लगाई गई थी। जियो और एयरटेल के उत्तर प्रदेश (यूपी) पूर्वी सर्कल में 1800 मेगाहर्ट्ज बैंड के लिए आक्रामक तरीके से बोली लगाने के साथ स्पेक्ट्रम के लिए बोलियां शुक्रवार को भी जारी रहीं।

बोली के तहत कम से कम 4.3 लाख करोड़ रुपए मूल्य के कुल 72 गीगाहर्ट्ज रेडियो तरंगों को रखा गया है। गुरुवार के अंत तक 1,49,623 करोड़ रुपए की बोलियां प्राप्त हुईं थीं।

नीलामी विभिन्न निम्न (600 मेगाहर्ट्ज, 700 मेगाहर्ट्ज, 800 मेगाहर्ट्ज, 900 मेगाहर्ट्ज, 1,800 मेगाहर्ट्ज, 2,100 मेगाहर्ट्ज, 2,300 मेगाहर्ट्ज), मध्यम (3,300 मेगाहर्ट्ज) और उच्च (26 गीगाहर्ट्ज़) आवृत्ति बैंड में स्पेक्ट्रम के लिए आयोजित की जा रही हैं।

इस बीच, सूत्रों ने कहा कि दूरसंचार मंत्री शनिवार को मुंबई में निजी इक्विटी कोष, उद्यम पूंजी, निवेशकों और बैंकों के साथ बैठक करेंगे। इस बैठक में उनके विचारों और चिंताओं को समझने के साथ दूरसंचार क्षेत्र के विकास को लेकर चर्चा की जाएगी।

सूत्रों ने कहा कि यह कदम ऐसे समय में उठाया गया है जब सरकार इस क्षेत्र के लिए एक नया कानूनी ढांचा तैयार करने की प्रक्रिया में है। उल्लेखनीय है कि 5जी सेवाओं के आने से इंटरनेट की गति 4जी के मुकाबले करीब 10 गुना अधिक होगी। इसमें इंटरनेट की गति इतनी होगी कि मोबाइल पर एक सिनेमा को कुछ सेकंड में ही डाउनलोड किया जा सकेगा।(भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Coronavirus Update : देश के 6 राज्‍यों में कोरोना के 8851 नए मामले, 16 संक्रमितों की मौत