डोभाल ने अजहर को छोड़ने को राजनीतिक फैसला बताया था, क्या मोदी लेंगे जिम्मेदारी : कांग्रेस

मंगलवार, 12 मार्च 2019 (10:20 IST)
नई दिल्ली। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के 2010 के एक साक्षात्कार का हवाला देते हुए कांग्रेस ने मंगलवार को कहा कि डोभाल ने जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को जेल से छोड़ने को राजनीतिक फैसला बताया था और ऐसे में प्रधानमंत्री मोदी जवाब दें कि क्या वह इस 'राष्ट्र विरोधी फैसले' की जिम्मेदारी लेंगे।
 
थिंक टैंक 'विवेकानंद इंटरनेशनल फाउंडेशन' की वेबसाइट पर प्रकाशित डोभाल के साक्षात्कार का स्क्रीन शॉट शेयर करते हुए कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, 'अजीत डोभाल ने कहा था कि मसूद अजहर को रिहा करना एक राजनीतिक फैसला था। सवाल: यह किसका राजनीतिक फैसला था? उत्तर: भाजपा सरकार का। तो क्या अब मोदी जी, रविशंकर प्रसाद इस राष्ट्र विरोधी फैसले की जिम्मेदारी लेंगे?'
 
उन्होंने कहा, 'मोदीजी के एनएसए अजीत डोभाल ने आतंकी मसूद अजहर को विस्फोटक व बंदूक चलाने की जानकारी भी न होने का दिया ‘क्लीन चिट सर्टिफिकेट’-1. मसूद को आईईडी बम बनाना भी नहीं आता, 2. मसूद को निशाना लगाना नहीं आता, 3. अजहर को रिहा करने के बाद पर्यटन में 200 प्रतिशत की वृद्धि।'
 
सुरजेवाला ने दावा किया, ' अजीत डोभाल ने कांग्रेस-संप्रग सरकार की नीति को राष्ट्र हित में बताया था और कहा था कि संप्रग सरकार हाईजैकिंग को लेकर ठोस नीति लाई है। यानी न कोई रियायत और न ही आतंकवादियों से कोई बातचीत। मोदी जी, इसके लिए 56 महीने के कोरे भाषण नहीं, हिम्मत चाहिए।'
 
दरअसल, सुरजेवाला ने यह ताजा हमला उस वक्त किया है जब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मसूद अजहर को वर्षों पहले भारतीय जेल से छोड़े जाने को लेकर डोभाल पर तंज कसते हुए सोमवार को इस आतंकी के लिए ‘जी’ शब्द लगाकर संबोधित कर बैठे। इसको लेकर भाजपा ने उन पर जमकर निशाना साधा। (भाषा) 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख मध्यप्रदेश में खराब परफॉर्मेंस और एंटी इनकंबेंसी फैक्टर के चलते कई भाजपा सांसदों के टिकट बदलना तय