CycloneUpdate : चक्रवात 'निसर्ग' के पहुंचने से पहले मुंबई को तेज बारिश ने भिगोया

वेबदुनिया न्यूज डेस्क

बुधवार, 3 जून 2020 (02:35 IST)
मुंबई। महाराष्ट्र और गुजरात के तटों की तरफ बढ़ रहा चक्रवात निसर्ग (Cyclone Nisarga) अगले 12 घंटों के अंदर भीषण रूप ले सकता है। महाराष्ट्र और गुजरात की ओर बढ़ रहे तूफान ‘निसर्ग’ के मद्देनजर NDRF ने दोनों राज्यों के तटीय जिलों में अपनी 33 टीमें तैनात की हैं। कोरोना महामारी से जूझ रहे मुंबई के लिए निसर्ग भी एक आफत लेकर आ रहा है। महाराष्ट्र और गुजरात में चक्रवात निसर्ग (Cyclone Nisarga) के आने की सूचना के बाद कई जिलों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। निसर्ग से जुड़ा पल-पल का अपडेट-

-रात में चक्रवात 'निसर्ग' के पहुंचने से पहले मुंबई में तेज बारिश जारी
-अगले 24 घंटे में महानगर के अधिकतर हिस्सों में मध्यम बारिश की संभावना
-चक्रवात 'निसर्ग' के कारण सुदूरवर्ती क्षेत्रों में भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है

-चक्रवाती तूफान के कारण गुजरात में 1,727 गांवों को पहले ही खाली करा लिया गया है
-वलसाड, सूरत, नवसारी और भरुच जिलों में 78,971 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा जाएगा
-लोगों को रखने के लिए 140 इमारतों की पहचान अस्थायी आश्रय शिविर के तौर पर की गई है
-राहत टीमों के सदस्यों को व्यक्तिगत रक्षा उपकरण (पीपीई) किट उपलब्ध कराया गया है
-आश्रय गृहों में रहने वाले लोगों को मास्क मुहैया कराने, सामाजिक दूरी बनाए रखने के निर्देश 
-पूर्व-मध्य अरब सागर के ऊपर बना कम दबाव का क्षेत्र वर्तमान में सूरत से लगभग 670 किमी दूर 
-12 घंटों में यह प्रचंड चक्रवाती तूफान में बदलेगा और हवा की गति  100 से 110 किमी प्रति घंटा होगी

- चक्रवात 'निसर्ग' पर दिए गए दिशा-निर्देश को मानें
- पीएम ने कहा- चक्रवात 'निसर्ग' से रहें सावधान
- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 'निर्सग' को लेकर किया ट्‍वीट
- प्रधानमंत्री ने गुजरात-महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री से की बात

- डीजीसीए ने एयरलाइन, पायलटों को प्रतिकूल मौसम संबंधी दिशानिर्देश जारी किए
- भारत भर में इस समय मौसम को देखते हुए विमानों के उड़ान को लेकर चुनौतियां
- चक्रवात के कारण मुंबई हवाई अड्डे पर बुधवार को विमानों की उड़ानें प्रभावित हो सकती हैं
- मुंबई एयरपोर्ट पर 25 मई से यहां प्रतिदिन 50 घरेलू विमानों की आवाजाही हो रही है
- दिशानिर्देश में डीजीसीए ने कहा, मौसम रडार का सही उपयोग काफी महत्वपूर्ण है

- उद्धव ठाकरे ने नागरिकों से 2 दिनों तक घरों में रहने की अपील की
- प्रधानमंत्री ने नगर हवेली के प्रशासक प्रफुल्ल के. पटेल से चक्रवात की स्थिति पर चर्चा की
- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  ने केंद्र की तरफ से हरसंभव सहायता का आश्वासन दिया
- मुंबई के समुद्र तटों पर लोगों की आवाजाही पर मध्य रात्रि से गुरुवार तक के लिए रोक 
- मानव जीवन, स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिए गंभीर खतरा है चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ 
- समुद्र तटों के पास स्थित सार्वजनिक स्थानों, सैरगाह, पार्कों और तटों के किनारों के स्थान पर रोक 
- महाराष्ट्र, गुजरात में साइक्लोन का हाईअलर्ट
- निसर्ग के लिए महाराष्ट्र के 6 जिलों में अलर्ट जारी 
- गुजरात में NDRF और पुलिस ने चक्रवात निसर्ग के मद्देनजर नवसारी जिले के कई गांवों से लोगों को निकाला
- चक्रवात निसर्ग बुधवार सुबह करीब साढ़े 11 बजे तेज हवाओं के साथ मुंबई के तट से टकराएगा। इसके बाद वह मालेगांव होते हुए अन्य राज्यों में प्रवेश करेगा
- पुणे मौसम विभाग के मुताबिक निसर्ग के कारण बुधवार को महाराष्ट्र के अलीबाग में लैंडफॉल हो सकता है। लैंडफॉल के समय चक्रवात की रफ्तार 100 किलोमीटर प्रतिघंटा तक होगी
- पालघर, पुणे, ठाणे, मुंबई राजगढ़, धुले और नासिक में बुधवार को भारी बारिश होने की संभावना है

- महाराष्ट्र में निसर्ग चक्रवात के खतरे के मद्देनजर तटवर्ती क्षेत्रों में चेतावनी जारी की गई
- अगले 12 घंटे में निसर्ग चक्रवात के 'गंभीर चक्रवाती तूफान' का रूप लेने की प्रबल आशंका
- निसर्ग चक्रवात बुधवार को महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के तट को पार कर जाएगा
- तूफान उत्तरी महाराष्ट्र और हरिहरेश्वर और दमन के बीच अलीबाग के पास द. गुजरात के तट को 3 जून को पार करेगा
- महाराष्ट्र में NDRF 16 दलों में से 10 को राज्य के तटवर्ती क्षेत्रों में तैनात किया गया
- मुंबई के अतिरिक्त ठाणे, पालघर, रायगढ़, रत्नागिरी और सिंधुगिरि जिले में चेतावनी जारी की गई है

- महाराष्ट्र के लिए NDRF की 6 इकाइयों को अलग से अलर्ट पर रखा गया है
- भीषण ‘निसर्ग’ चक्रवात महाराष्ट्र में नई चुनौती खड़ी कर सकता है 
- महाराष्ट्र पहले से ही कोरोना वायरस मामलों में तीव्र वृद्धि से जूझ रहा है
- राहत एवं बचाव अभियान में बड़ी संख्या में लोगों की जरूरत पड़ सकती है
- चक्रवात के मद्देनजर कच्चे मकानों में रह रहे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है 
- महाराष्ट्र में ‘निसर्ग’ चक्रवात के लिए गैर कोविड अस्पतालों को तैयार रखा जा रहा है
- राज्य सरकार बिजली की आपूर्ति बंद होने से रोकने के लिए भी कदम उठा रही है 
- पालघर एवं रायगढ़ जिलों में रासायनिक उद्योगों तथा परमाणु विद्युत संयंत्रों में विशेष ऐ‍हतियात के इंतजाम
- महाराष्ट्र में ‘निसर्ग’ चक्रवात के लिए नियंत्रण कक्ष 24 घंटे काम कर रहा है 
- कंट्रोल रूम को सेना, वायुसेना, नौसेना तथा आईएमडी से तालमेल सुनिश्चित करने के निर्देश दिए

-मुंबई में चक्रवात से निपटने के लिए पश्चिम नौसेना कमान तैयार
-पश्चिम नौसेना कमान ने अपनी सभी टीमों को सतर्क किया 
-नौसेना ने 5 बाढ़ टीम और 3 गोताखोरों की टीम को अलर्ट पर रखा
-ये टीम राहत एवं बचाव अभियानों के लिए प्रशिक्षित और सुसज्जित हैं

- गुजरात में 20 हजार से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाना शुरू
- चक्रवाती तूफान से पहले वलसाड और नवसारी जिला प्रशासन हरकत में आया
- तटीय क्षेत्रों में स्थित 47 गांवों से 20 हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाना शुरू
- वलसाड में 35 तटीय गांवों से करीब 10 हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा जा रहा है
- तूफान के कारण तटीय क्षेत्रों में तेज हवाओं और भारी वर्षा के रूप में सामने आ सकता है

- गुजरात के तटीय क्षेत्र में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) की 14 टीमें तैनात
- NDRF की 5 और टीमें दूसरे राज्यों से मंगाई जाएंगी और जल्द ही यहां पहुंचेंगी
-गुजरात तट को पार करते वक्त हवा की अधिकतम गति 100 से 110 किमी प्रति घंटा होगी

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख Corona Live Updates : दुनियाभर में 3 लाख 80 हजार से ज्यादा लोगों की मौत