Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Toolkit case : क्यों हुई दिशा रवि की गिरफ्तारी? जानिए टूलकिट विवाद से जुड़ी हर जानकारी

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share
सोमवार, 15 फ़रवरी 2021 (08:37 IST)
नई दिल्ली। 22 साल की जलवायु कार्यकर्ता दिशा रवि (Disha Ravi) की गिरफ्तारी को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम (P. Chidambaram) ने कहा कि अगर रवि देश के लिए खतरा बन गई है तो भारत बहुत ही कमजोर बुनियाद पर खड़ा है। चिदंबरम दिशा रवि  की गिरफ्तारी की निंदा करते हुए लोगों से अपील की कि वे सरकार के खिलाफ आवाज उठाएं। किसानों के प्रदर्शन से जुड़ी ‘टूलकिट’ सोशल  मीडिया पर शेयर करने के आरोप में दिशा रवि को बेंगलुरू से गिरफ्तार किया गया है। दिशा को दिल्ली पुलिस की साइबर सेल की एक टीम  ने शनिवार को गिरफ्तार किया था। इसके बाद दिशा रवि को रविवार को 5 दिनों की पुलिस हिरासत में भेजा गया है।

पी. चिदंबरम ने ट्वीट के जरिए सरकार पर निशाना साधते हुए लिखा कि यदि माउंट कार्मेल कॉलेज की 22 साल की स्टूडेंट और जलवायु  कार्यकर्ता दिशा रवि देश के लिए खतरा बन गई है तो भारत बहुत ही कमजोर बुनियाद पर खड़ा है। चीनी सैनिकों द्वारा भारतीय क्षेत्र में  घुसपैठ की तुलना में किसानों के विरोध का समर्थन करने के लिए लाया गया एक टूलकिट अधिक खतरनाक है!

एक और ट्वीट में उन्होंने लिखा कि भारत बेतुका रंगमंच बन रहा है और यह दुखद है कि दिल्ली पुलिस उत्पीड़कों का औजार बन गई है। मैं  दिशा रवि की गिरफ्तारी की कड़ी निंदा करता हूं और सभी छात्रों और युवाओं से आग्रह करता हूं कि वे निरंकुश शासन के खिलाफ आवाज  उठाएं।

कौन हैं दिशा रवि : दिल्ली पुलिस ने दिशा रवि पर किसानों के समर्थन में बनाई गई एक विवादित 'टूलकिट' को सोशल मीडिया पर शेयर करने का आरोप लगाया है। दिशा रवि की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस ने आरोप लगाया कि भारत के खिलाफ नफरत फैलाने के लिए रवि और अन्य लोगों ने खालिस्तान-समर्थक समूह ‘पोएटिक जस्टिस फाउंडेशन’ के साथ साठगांठ की। वही टूलकिट है जो पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग ने सोशल मीडिया पर शेयर की थी। दिशा बेंगलुरु के एक निजी कॉलेज से बीबीए कर चुकी हैं और वे ‘फ्राइडेज फॉर फ्यूचर इंडिया’ नामक संगठन की संस्थापक सदस्य भी हैं।

दिशा गुड वेगन मिल्क नाम की एक संस्था में काम करती हैं। इस संस्था का मुख्य उद्देश्य प्लांट बेस्ड फूड (वेजिटेरियन) को सस्ता और सुलभ बनाना है। ये लोग जानवरों पर आधारित कृषि को खत्म कर उन्हें भी जीने का अधिकार देना चाहते हैं। रविवार को सुनवाई के दौरान रवि अदालत कक्ष में रो पड़ीं और न्यायाधीश से कहा कि उन्होंने केवल दो लाइनें ही संपादित की थीं और वे किसान आंदोलन का समर्थन करना चाहती थीं।

पुलिस ने बताया मुख्य साजिशकर्ता : ‘टूलकिट’ (Toolkit) में ट्विटर के जरिए किसी अभियान को ट्रेंड कराने से संबंधित दिशा-निर्देश और सामग्री होती है। दिल्ली पुलिस ने बताया कि दिशा टूलकिट का संपादन करने वालों में से एक हैं और दस्तावेज को बनाने एवं फैलाने के मामले में मुख्य साजिशकर्ता हैं।

पुलिस ने कहा कि रवि का लैपटॉप और मोबाइल फोन आगे की जांच के लिए जब्त किया गया है। साथ ही पुलिस इस बात की जांच कर रही  है कि क्या वह और भी लोगों के संपर्क में थी, जो इस मामले में संलिप्त हैं। संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) ने रवि की गिरफ्तारी की निंदा  करते हुए उन्हें तत्काल रिहा करने की मांग की।(एजेंसियां)

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
कब जाएगा कोरोनावायरस? मिल गया सवाल का जवाब