Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

क्या राहुल गांधी को ठंड नहीं लगती, हाड़ कंपाने वाली सर्दी में सिर्फ टी शर्ट में कैसे रह लेते हैं?

हमें फॉलो करें webdunia
सोमवार, 26 दिसंबर 2022 (20:15 IST)
इन दिनों में भारत जोड़ो यात्री राहुल गांधी को लेकर सोशल मीडिया पर एक सवाल काफी वायरल हो रहा है। सवाल कुछ इस तरह है-  क्या राहुल गांधी को ठंड नहीं लगती, हाड़ कंपाने वाली सर्दी में सिर्फ टी शर्ट में कैसे रह लेते हैं? इसको लेकर सोशल मीडिया पर लोगों ने मजेदार कमेंट किए हैं। कुछ ने उन्हें तपस्वी तक कह डाला। कुछ ने उनकी तुलना महात्मा गांधी से भी कर दी है। 
 
हालांकि इसे भारत जोड़ो यात्रा को मिले रिस्पॉन्स से भी जोड़कर देखा जा सकता है। यात्रा से राहुल गांधी में खासा उत्साह है। पहली बार बड़ी संख्‍या में लोग उनके पीछे और साथ-साथ चले हैं। लोग यह भी कह रहे हैं कि राहुल महात्मा गांधी को 'आइडियल' मानकर भरी ठंड में एक टी शर्ट ही पहन रहे हैं। जिस तरह महात्मा गांधी एक धोती में रहते थे, उसी तरह राहुल ने भी एक टी शर्ट और पेंट में यात्रा कर डाली। हालांकि गांधीजी आजीवन धोती में ही रहे, क्या राहुल वैसे हर समय रहेंगे। माना जा रहा है कि राहुल का रूप में यात्रा तक ही रहने वाला है।  
 
ठंड से जुड़े मीडिया के सवाल पर राहुल का जवाब : स्वयं राहुल ने मीडिया द्वारा पूछे गए ऐसे ही सवाल के जवाब में राहुल गांधी ने एक और सवाल दाग दिया। उन्होंने कहा- मीडिया वालों ने मुझसे पूछा क्या आपको ठंड नहीं लगती? मैंने ये हिंदुस्तान के किसान और मजदूर से ऐसा सवाल क्यों नहीं पूछते। भारत के गरीब बच्चों से इस तरह का सवाल क्यों नहीं करते।
 
यह भी कहते हैं कि देखो 2800 किलोमीटर चल लिए। उन्होंने कहा कि इसमें बड़ी बात क्या है, पूरा हिन्दुस्तान चलता है, जिंदगी भर चलता है। हमने ये कोई बड़ा काम नहीं किया है। ये पूरा हिंदुस्तान करता है और रोज करता है। हम 2800 किलोमीटर चले हैं, लेकिन किसान शायद जिंदगी में 10-15 या 20 हजार चल लेता है।
 
मोटी चमड़ी के हैं राहुल : वहीं, कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने एक सवाल के जवाब में कहा कि राहुल गांधी 'थिक स्किन्ड' हैं। अर्थात मोटी चमड़ी के हैं। हालांकि रमेश ने यह किस संदर्भ में कहा ‍इसका बेहतर जवाब वे ही दे सकते हैं। ट्‍विटर पर भी लोगों ने राहुल गांधी द्वारा भरी ठंड में टी शर्ट पहनने पर मजेदार कमेंट किए हैं। 


Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

कोरोना के खतरे के मद्देनजर अस्पतालों का जायजा लेना शुरू, केंद्र के निर्देश पर होगी मॉक ड्रिल