अमेरिकी हैकर का दावा, 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा के लिए की थी EVM हैक...

सोमवार, 21 जनवरी 2019 (21:35 IST)
लंदन। भारतीय मूल के अमेरिकी साइबर एक्सपर्ट सैयद शूजा ने बड़ा दावा किया कि 2014 के लोकसभा चुनावों में गड़बड़ी हुई थी, जिसमें इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (EVM) में ट्रांसमीटर के जरिए छेड़छाड़ हुई। सैयद शूजा नाम के व्यक्ति ने स्काइप के जरिए लंदन से यह प्रेस कॉन्फेंस की। हैकर ने दावा किया कि 2014 के लोकसभा चुनाव में BJP के लिए EVM की हैकिंग की थी।


शूजा का यह भी कहना है कि EVM को हैक किया जा सकता है और इसी कारण कांग्रेस ने 201 सीटें गंवाई थीं। इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन की तरफ से आयोजित प्रेस कॉन्फेंस में शूजा ने दावे तो कई किए, लेकिन वे कोई सबूत पेश नहीं कर सके। इस प्रेस कॉन्फेंस के लिए सभी राजनीतिक दलों को न्योता दिया गया था, लेकिन कांग्रेस की तरफ से सिर्फ कपिल सिब्बल मौजूद थे। 
 
प्रेस कॉन्फेंस के बाद जब शूजा से पत्रकारों ने सवालों की झड़ी लगाकर यह पूछा कि आपके तमाम आरोपों के सबूत क्या हैं? इस पर उन्होंने कहा कि मेरे पास सबूत हैं भी और नहीं भी। हालांकि वे अपने दावों का एक भी सबूत मीडिया के सामने पेश नहीं कर सके।
 
शूजा से पत्रकारों ने कहा कि आपको जब चुनाव आयोग ने तलब किया तो वे भारत क्यों नहीं आए? इस पर उन्होंने कहा कि भारत में मेरी जान को खतरा था। यही कारण है कि मैं भारत नहीं आया। वैसे भी EVM को प्रभावित करने वाली मेरी 14 लोगों की टीम थी, जिनकी एक के बाद एक हत्या कर दी गई। 
 
भारत में चुनाव में इस्तेमाल होने वाली EVM का डिजाइन शूजा ने ही तैयार की है। भारत में EVM हैकिंग को लेकर काफी पहले से सवाल उठते आए हैं। आम आदमी पार्टी के सौरभ भारद्वाज ने भी ईवीएम हैकिंग का दावा किया था। सौरभ भारद्वाज ने दिल्ली विधानसभा में हैकिंग कर उसका डेमोस्ट्रेशन बताया था।'
 
शूजा ने किए ये दावे- 
EVM हैकिंग आसान नहीं है लेकिन इसे किया जा सकता है। इसके लिए चिपसेट कर्नेल को बाइपास करना होता है।
EVM में काफी पुराना चिपसेट यूज किया जाता है।
शूजा का दावा है कि जब उनकी टीम भाजपा के नेताओं से मिलने हैदराबाद गई तो उनके टीम पर गोलियां चलाई गईं। इसमें उन्हें भी गोली लगी लेकिन वे बच गए।
अमेरिकी साइबर एक्सपर्ट सैयद शूजा का दावा है कि 2014 के लोकसभा चुनाव में जमकर गड़बड़ी हुई।
शूजा ने दावा किया कि चिप डिजाइन करने वाले मेरे कई साथी मारे गए।
शूजा का कहना है कि उन्होंने 2009 से 2014 से ECIL के लिए काम किया है।
शूजा ने कहा कि मैंने अमेरिका की शरण ली।
शूजा ने कहा कि मुझ पर भी हमला हुआ। हमले के बाद मेरी छाती में 18 टांके लगे। मैंने अमेरिका की शरण ली।
साइबर एक्सपर्ट का दावा गोपीनाथ मुंडे की हत्या की गई क्योंकि उन्हें EVM में छेड़छाड़ की जानकारी थी।
शूजा का आरोप बीजेपी, कांग्रेस, आप, एसपी और बीएसपी समेत राजनीतिक पार्टियां भी छेड़छाड़ में शामिल।  
शूजा का दावा, 2014 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने गंवाई थी 201 सीटें।
2015 में दिल्ली विधानसभ चुनाव में भी EVM से की गई थी छेड़छाड़, आप पार्टी को पहुंचाया था फायदा। 
अगर दिल्ली में उनकी टीम ने ईवीएम हैकिंग नहीं रोकी होती तो आम आदमी पार्टी की जीत मुश्किल थी।
शूजा ने कहा कि पत्रकार गौरी लंकेश उसकी स्टोरी को चलाने के लिए तैयार हो गई थी, लेकिन इसके बाद उनकी हत्या कर दी गई।
लोकसभा चुनाव में EVM के साथ छेड़छाड़ करने की कोशिश में लगी है BJP।
EVM से सभी चुनाव प्रभावित किए गए हैं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख हाई रिटर्न के लिए सोने में कब और कैसे निवेश करें