LOC पर गांवों को गोलों से पाट रही पाक सेना, एक महिला की मौत

सुरेश डुग्गर

गुरुवार, 28 फ़रवरी 2019 (17:43 IST)
जम्मू। भारत-पाक के तनातनी का परिणाम सामने आने लगा है। बौखलाई पाक सेना ने एलओसी पर कई इलाकों में भारतीय सीमांत गांवों को सीजफायर के बावजूद गोलों की बरसात से पाट दिया है। इस ओर नुकसान हुआ है और जवाबी कार्रवाई में उस पार भी जबरदस्त नुकसान का दावा है। इस बीच, पाक गोलीबारी में एक महिला की मौत की खबर है, जबकि एक सैनिक घायल हुआ है। 
 
वायुसेना के लड़ाकू विमानों द्वारा लगातार एलओसी के इलाकों में उड़ानें भरने के कारण लोग सहमे हुए हैं। सेना सूत्रों ने बताया कि पाक सेना ने गुरुवार सुबह भी एलओसी से सटे राजौरी व पुंछ सेक्टरों के कई गांवों पर बिना किसी उकसावे के गोलाबारी आरंभ कर दी। अधिकारियों के मुताबिक, पाक सेना ने छोटे तोपखानों से गोले बरसाए। परिणामस्वरूप इन इलाकों में क्षति हुई है, जिसका आकलन किया जा रहा है।
 
रक्षाधिकारियों के मुताबिक, पाक सेना की गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि जवाबी कार्रवाई से पाक क्षेत्रों में भारी तबाही हुई है। उनका कहना था कि भारतीय पक्ष ने हमेशा सैन्य क्षेत्रों को ही निशाना बनाया है पर पाक सेना ने हमेशा नागरिक ठिकानों पर ही गोलाबारी की है। जिसका परिणाम यह है कि राजौरी तथा पुंछ के उन गांवों से लोगों ने पलायन कर लिया जो एलओसी से सटे हुए हैं तथा जिन्हें पाक सेना ने अपना निशाना बनाया था।
 
जम्मू संभाग के राजौरी, पुंछ, जिलों में पाकिस्तानी की बमबारी के बाद दुश्मन के कड़े तेवर बरकरार हैं। युद्ध जैसे हालात बना रहा पाकिस्तान सुबह से सीमांत पुंछ जिले में गोले दाग रहा है। पाकिस्तान की बमबारी के बाद से क्षेत्र में वायुसेना व सेना लगातार हाई अलर्ट पर हैं। 
 
दोनों सेनाओं के शीर्ष अधिकारी बुधवार से राजौरी में डेरा डाल कर स्थिति पर पैनी नजर रखे हुए हैं। भारतीय वायुसेना के कांबेट एयर पेट्रोल में शामिल फाइटर लगातार हवा से देश की हवाई सीमाओं की सुरक्षा सुनिश्चित कर रहे हैं। सीमांत जिलों में पाकिस्तान के हवाई हमले व गोलाबारी से क्षेत्र में दशहत का माहौल बना हुआ है।
 
ऐसे हालात में वीरवार को कृष्णा घाटी सेक्टर में सुबह छहे बजे के करीब पाकिस्तान ने सैन्य चौकियों व रिहायशी इलाकों को निशाना बनाकर गोले दागना शुरू कर दिया। रुक-रुक कर गोले दागने का सिलसिला जारी है व इससे सीमांत क्षेत्रों में लोगों घरों में छिपे हुए हैं। बुधवार को सीमांत स्कूल भी बंद कर दिए गए हैं। जम्मू के पीआरओ डिफेंस लेफ्टिनेंट कर्नल देवेन्द्र आनंद ने पाकिस्तानी की गोलाबारी की पुष्टि करते हुए बताया कि भारतीय सेना इस गोलाबारी का कड़ा जवाब दे रही है।
 
सीमांत जिलों में पाकिस्तान की गोलाबारी पिछले करीब दस दिनों से जारी है। ऐसे में सीमा के पांच किलोमीटर के दायरे में आने वाले स्कूलों को बंद रखा गया है। बुधवार को भी पाकिस्तान ने बारामुला, राजौरी व पुंछ जिलों में गोले दागे थे। पाकिस्तानी सेना जिले के मनकोट, बालाकोट, कृष्णा घाटी, मेंढर कलाल, लाम, झंगड़, पुखर्नी, शेर मकड़ी, मिनका व दादल सेक्टरों को लगातार निशाना बना रही है। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख इमरान खान का बड़ा ऐलान, शुक्रवार को भारत में होगा 'अभिनंदन'