Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

केन्द्र सरकार ने गिरीश चन्द्र मुर्मू को देश का नया कैग नियुक्त किया

webdunia
शुक्रवार, 7 अगस्त 2020 (02:03 IST)
नई दिल्ली। केन्द्र सरकार ने गिरीश चन्द्र मुर्मू (Girish Chandra Murmu) को भारत का नया नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (CAG) नियुक्त किया। उन्होंने बुधवार को ही जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल के पद से इस्तीफा दिया था। मुर्मू राजस्थान काडर के 1978 बैच के आईएएस अधिकारी राजीव महर्षि की जगह लेंगे, जिनका कार्यकाल सात अगस्त को पूरा हो रहा है।
 
आर्थिक मामलों के विभाग द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार, ‘...राष्ट्रपति को गिरीश चन्द्र मुर्मू को भारत का नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक नियुक्त करते हुए बहुत प्रसन्नता हो रही है, उनकी नियुक्ति पदभार संभालने की तिथि से प्रभावी होगी।’
 
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गुरुवार को केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल के पद से मुर्मू का इस्तीफा स्वीकार कर लिया था। पूर्व केन्द्रीय मंत्री और उत्तर प्रदेश से भाजपा के वरिष्ठ नेता मनोज सिन्हा को केन्द्र शासित प्रदेश का नया उपराज्यपाल बनाया गया है।
 
मुर्मू 1985 बैच के आईएएस अधिकारी हैं। उन्होंने अचानक बुधवार को जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल पद से इस्तीफा दे दिया। गौरतलब है कि बुधवार, 5 अगस्त को पूर्ववर्ती राज्य जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान समाप्त किए जाने का एक साल पूरा हुआ था।
 
गुजरात काडर के पूर्व आईएएस अधिकारी 60 वर्षीय मुर्मू को अक्टूबर, 2019 में उपराज्यपाल नियुक्त किया गया था। जम्मू-कश्मीर का उपराज्यपाल नियुक्त किए जाने से पहले मुर्मू वित्त मंत्रालय में व्यय सचिव थे। वह नरेंद्र मोदी के मुख्यमंत्री काल में उनके प्रधान सचिव भी रह चुके हैं। कैग की नियुक्ति 6 साल के लिए या फिर 65 वर्ष की आयु पूरी होने तक, इसमें से जो भी पहले हो, तक होती है।
 
हर्षवर्धन ने दी बधाई : केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने मुर्मू को देश का कैग नियुक्त किए जाने पर बधाई दी। डॉ. हर्षवर्धन ने गुरुवार देर रात ट्वीट करके कहा, मुर्मू को देश का नया कैग नियुक्त होने पर बधाई। मुर्मू एक अनुभवी प्रशासनिक अधिकारी हैं और इस अतिमहत्वपूर्ण पद के लिए अतियोग्य हैं। नई जिम्मेदारी मिलने पर तहेदिल से बधाई।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

श्रीलंका में आम चुनावों में महिंदा राजपक्षे बड़ी जीत की ओर अग्रसर