फिर भड़की आरक्षण की आग, दूसरे दिन भी गुर्जरों का रेलवे ट्रेक पर कब्जा, 14 ट्रेनेंं रद्द

शनिवार, 9 फ़रवरी 2019 (09:09 IST)
भरतपुर। राजस्थान में पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जरों का आंदोलन भरतपुर संभाग के सवाईमाधोपुर जिले में आज दूसरे दिन भी जारी रहा। आंदोलन की वजह से 14 ट्रेनें रद्द कर दी गई और कई ट्रेनों के मार्ग बदल दिए गए। 
 
गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के संयोजक कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला के नेतृत्व में सवाईमाधोपुर के मलारना एवं नीमोदा रेलवे स्टेशन के बीच कल शाम गुर्जरों ने दिल्ली-मुंबई रेलवे ट्रेक पर पड़ाव डाल दिया था, जहां प्रदर्शनकारियों ने रात में रेललाइन पर ही तम्बू लगाकर रात वहीं बिताई और दूसरे दिन भी अपनी मांगों के समर्थन में आंदोलन जारी रखा।
 
प्रदर्शनकारियों के लिए ट्रेक पर पानी की टैंकरों द्वारा व्यवस्था की गई है। सुबह प्रदर्शनकारियों के लिए दूध की व्यवस्था भी की गई। इस दौरान कर्नल बैंसला खुद मौजूद हैं और अपनी मांग पर अडिग हैं। हालांकि इस बार गुर्जर आंदोलन अब तक हिंसक नहीं हुआ हैं, लेकिन प्रदर्शनकारियों ने रेलवे ट्रेक अवरुद्ध कर रखा है।
 
क्या बोले कर्नर बैंसला : बैंसला ने प्रदर्शनकारियों से शांतिपूर्वक आंदोलन करने की अपील की थी। श्री बैंसला ने आंदोलन के लिए सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि उन्होंने अपनी मांग को लेकर सरकार को बीस दिन पहले ही चेतावनी दे दी थी कि इस दौरान उनका हक दे दे, लेकिन सरकार ने उनकी अनदेखी की। अब जो होगा उसके लिए हम जिम्मेदार नहीं हैं, इसके लिए केवल सरकार जिम्मेदार है।
 
उधर आंदोलन के समर्थन में करौली जिले के गुडला गांव में भी गुर्जरों ने सड़क पर जाम लगा दिया जिससे करौली-हिण्डौन मार्ग बाधित हो गया जिससे सड़क पर वाहनों की लम्बी कतारे लग गईं। आंदोलन तेज करने के लिए दौसा जिले के सिंकदरा एवं जयपुर जिले के कोटपुतली में गुर्जरों की महापंचायत बुलाई गई है। सिकंदरा महापंचायत में जयपुर-आगरा सड़क मार्ग तथा कोटपुतली में दिल्ली-जयपुर सड़क मार्ग पर जाम लगाने के लिए रणनीति बनाई जायेगी। 
 
गहलोत की अपील : राजस्थान के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत ने आंदोलनकारी गुर्जरों से अपील की है कि वे रेलवे ट्रैक पर नहीं बैठें। उन्होंने कहा कि गुर्जरों को 5 प्रतिशत आरक्षण की मांग केवल संविधान में संशोधन के जरिए ही पूरी की जा सकती है। इसके लिए उन्हें प्रधानमंत्री को ज्ञापन भेजना चाहिए।
 
14 रेलगाड़ियां रद्द : आंदोलन के कारण रेलवे की कई रेलगाड़ियां प्रभावित हुई जिनमें करीब बीस गाड़ियों को परिवर्तित मार्ग से चलाया जा रहा हैं वहीं 14 रेलगाड़ियों को फिलहाल रद्द कर दिया गया। आंदोलन के कारण 19062 रामनगर बांद्रा एक्सप्रेस, 12904 उदयपुर-हजरत निजामुद्दीन एक्सप्रेस, 13238 कोटा-पटना एक्सप्रेस, 19019 ब्रांद्रा- देहरादून एक्सप्रेस आदि गाडि़यों को मार्ग बदलकर चलाया जा रहा हैं।
 
सुरक्षा के कड़े इंतजाम : आंदोलन के चलते पुलिस एवं प्रशासन पूरी तरह सतर्क हैं और सुरक्षा एवं कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए पुख्ता इंतजाम किये गये हैं। आंदोलनस्थल पर वज्रवाहन एवं एसटीएफ की कम्पनी तैनात कर दी गई है। पुलिस गुर्जर बहुल क्षेत्रों में गश्त भी कर रही हैं। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख शिवराज सरकार के घोटाले को कांग्रेस लोकसभा चुनाव में बनाएगी मुद्दा, राहुल ने दिया इलेक्शन विनिंग फॉर्मूला