सीमा के समीप दिखे पाकिस्तानी एफ-16 लड़ाकू विमान को भारत के सुखोई-मिराज ने खदेड़ा

सोमवार, 1 अप्रैल 2019 (23:41 IST)
नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना के सुखोई-मिराज ने सोमवार को एक बार फिर पंजाब के खेमकरण सेक्टर में भारत-पाकिस्तान सीमा के समीप नापाक इरादे से तड़के 3 से 4 बजे के बीच नजर आए ड्रोन और 2 पाकिस्तानी एफ-16 लड़ाकू विमान को खदेड़ डाला।
 
भारतीय वायुसेना ने सोमवार को पंजाब के खेमकरण सेक्टर में भारत-पाकिस्तान सीमा के समीप एक पाकिस्तानी ड्रोन नजर आने के बाद वहां सुखोई-30 लड़ाकू जेट विमानों को लगा दिया। इस घटना के बाद सीमा के समीप 2 पाकिस्तानी एफ-16 लड़ाकू विमान भी देखे गए।
 
सूत्रों ने बताया कि सीमा पर मानवरहित यान के उड़ते हुए नजर आने के शीघ्र बाद सुखोई-30 एमकेआई जेट विमान तैनात कर दिए गए। जेट के हरकत में आने के बाद ड्रोन पाकिस्तानी क्षेत्र में लौट गया। यह घटना दिन में 3 बजकर 10 मिनट पर हुई।
 
बालाकोट हवाई हमले के बाद पिछले 4 हफ्ते में विभिन्न क्षेत्रों में पाकिस्तानी ड्रोनों के भारत-पाकिस्तान सीमा के बिल्कुल करीब आ जाने की कई घटनाएं सामने आई हैं।
 
पिछले महीने एक मानवरहित यान राजस्थान के गंगानगर में घुस आया था जिसे सेना ने मार गिराया। पिछले महीने ही भारत-पाक सीमा के बीकानेर सेक्टर में भारतीय वायुसेना के सुखोई-30 लड़ाकू जेट ने हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइल की मदद से पाकिस्तानी सैन्य ड्रोन को नष्ट कर दिया था।
 
पाकिस्तान के बालाकोट में 26 फरवरी को जैश-ए-मोहम्मद के प्रशिक्षण शिविर पर भारतीय वायुसेना के जंगी विमानों द्वारा बमबारी करने के बाद दोनों देशों में तनाव बहुत बढ़ गया था। पाकिस्तान ने अगले दिन भारतीय सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना बनाने की कोशिश की थी लेकिन भारतीय वायुसेना ने उसकी योजना नाकाम कर दी थी।
 
बालाकोट हवाई हमले से 12 दिन पहले कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे। जैश-ए-मोहम्मद ने पुलवामा हमले की जिम्मेदारी ली थी। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख उमर अब्दुल्ला का नया राग, कश्मीर के लिए अलग प्रधानमंत्री हो, मोदी का 'महागठबंधन' पर पलटवार